--Advertisement--

उन्नाव रेपकांड : गवाह का हुआ पोस्टमार्टम, परिजनों ने विरोध में किया CM आवास पर आत्मदाह का प्रयास

यूनुस का पोस्टमार्टम करने वाले डाॅक्टर आशुतोष ने बताया कि पोस्टमार्टम में अभी कुछ स्पष्ट नहीं हो सका है.

Danik Bhaskar | Aug 26, 2018, 12:34 PM IST

लखनऊ. उन्‍नाव रेप कांड में सीबीआई के मुख्‍य गवाह यूनुस की संदिग्ध मौत के बाद शनिवार देर रात जिला प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा के बाद यूनुस के शव को कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा, जहां तीन डॉक्टरों के पैनल ने यूनुस का पोस्टमार्टम किया है। वहीं यूनुस के परिजन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के लिए लखनऊ पहुंचे, जहां सीएम योगी से मुलाकात नहीं होने पर नाराज परिजनों ने आत्मदाह का प्रयास किया। सीएम आवास पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने यूनुस के परिजनों को हिरासत में लेकर हजरतगंज कोतवाली ले गई।


शव निकालने का काम मुस्लिम धर्मगुरु काज़ी साहब सामने हुआ : उन्नाव में कब्र से शव निकालने का काम मुस्लिम धर्मगुरु काज़ी साहब की देख-रेख में किया गया। इससे पहले दिन में जिला प्रशासन के अधिकारियों ने यूनुस के परिजनों से मुलाकात की थी और उनसे पोस्टमार्टम के लिए शव निकालने की अनुमति मांगी थी, जहां परिजन इसका विरोध कर रहे थे। यूनुस के भाई जान मोहम्मद ने कहा था, 'प्रशासन हम पर दबाव बना रहा है। हम नहीं चाहते कि कब्र से शव निकालकर पोस्टमार्टम कराया जाए, क्योंकि यह शरीयत के खिलाफ हैं।

डॉक्टर आशुतोष कहना है कि, जहर देकर मारनेकी संभावना : सीबीआई के मुख्‍य गवाह रहे यूनुस का पोस्टमार्टम करने वाले डाॅक्टर आशुतोष का कहना कि पोस्टमार्टम में अभी कुछ स्पष्ट नहीं हो सका है, बिसरा सुरक्षित किया गया है। आशुतोष ने दावा किया 'जहर की संभावनाओं को देखते हुए बिसरा को केमिकल एनालिसिस के लिए भेजा जायेगा। उन्नाव में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की कथित संलिप्तता वाले रेप और हत्या के मामले के एक गवाह की 23 अगस्त को कथित तौर पर बीमारी से मौत हो गई थी। यूनुस रेप पीड़िता के पिता को भाजपा विधायक के भाई और अन्य लोगों द्वारा पीटे जाने का गवाह था।