सीएम योगी किया ऐलान; कहा- जब भी बनेगा राम मंदिर, हम ही बनवाएंगे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजधानी में आयोजित किया गया युवा कुंभ, कई नामचीन हस्तियों ने रखे विचार
  • रविवार को सीएम, राज्यपाल व संघ के सह सर कार्यवाह डॉक्टर कृष्ण गोपाल ने रखे विचार

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण जब भी होगा, हम ही बनाएंगे। जनता को किसी तरह का भ्रम नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि भगवान राम को मिथक मानने वाले लोग अब गोत्र और जनेऊ दिखा रहे हैं। वे रविवार को राजधानी के आशियाना स्थित स्मृति उपवन में आयोजित युवा कुंभ-2018 में संबोधित कर रहे थे।

 

विपक्ष पर निशाना साधते हुए योगी ने कहा कि वो कौन लोग हैं जो राष्ट्रमाता के प्रति षडयंत्र कर रहे हैं। हमें समझना होगा, जो विखंडन का प्रयास कर रहे हैं। ये षडयंत्र हर स्तर पर रचे जाएंगे। इसके प्रति सावधानी रखने की आवश्यकता है। नारों में उलझने की आवश्यकता नहीं है। कुछ लोग राम जन्म भूमि के बारे में बोल रहे थे। लेकिन मंदिर का निर्माण जो कोई भी करेगा, जब भी करेगा, हम ही करेंगे। 

 

योगी ने कहा कि इस बार कुंभ दुनिया का सबसे बड़ा सांस्कृतिक आयोजन है। कुंभ में जलमार्ग और वायुमार्ग से लोग आ सकेंगे। कुंभ में दुनिया के 192 देशों के प्रतिनिधि आएंगे। पूरी दुनिया कुंभ की साक्षी होगी। यूनेस्कों समेत पूरी दुनिया ने कुंभ को मान्यता दी है। कुंभ में भारत के 15 करोड़ लोगों का संगम होगा। सभी धर्मों व पंथों के प्रतिनिध कुंभ में पहुंचेंगे। कुंभ सभी को जोड़ने वाला आयोजन है। योगी ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे युवा देश है। देश में युवाओं में अपार ऊर्जा है। युवाओं की सकारात्मक सोच से ही देश का विकास होगा। भारत एक देश है और भारत की सेचा है।

 

युवा कुंभ में राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि इस बार का कुंभ इलाहाबाद में नहीं, बल्कि प्रयागराज में होने जा रहा है। मान्यता है कि मरते हुए व्यक्ति के मुंह में गंगा जल की दो बूंद डालने से मोक्ष मिलता है, लेकिन आज जिंदा इंसान भी गंगा की दो बूंद पीने को तैयार नहीं है। लेकिन आज इसमें बदलाव हो रहा है। उन्होंने बताया कि तीन नए विश्वविद्यालय हैं, चौथा विश्वविद्यालय पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के नाम पर बनाया जाएगा।

 

आरएसएस के सह सर कार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने कहा कि कालांतर में पिछले 800-900 वर्षों में कुंभ में चिंंतन की परंपरा लुप्त हो रही थी। लेकिन मुख्यमंत्री योगी ने ऐसी योजना बनाई है कि काशी, मथुरा, अयोध्या व लखनऊ में अब युवा कुंभ का आयोजन हो रहा है। उन्होंने कहा कि हम हिंदू हैं और इसी नाते हम आध्यात्मिक व धार्मिक हैं। ये हमारी विशेष पहचान है। हमारा विशेष व्यवहार होना चाहिए।