--Advertisement--

उत्तरप्रदेश के गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या, 10 दिन पहले पत्नी ने कहा था- फर्जी एनकाउंटर हो सकता है

मुन्ना बजरंगी के खिलाफ भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या समेत मर्डर के 50 केस दर्ज हैं।

Dainik Bhaskar

Jul 09, 2018, 05:50 PM IST

- भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या में भी आरोपी था बजरंगी

- रंगदारी आरोप में सोमवार को बागपत कोर्ट में पेशी होनी थी, रविवार को उसे झांसी से लाया गया

- यूपी के एक और डॉन सुनील राठी पर हत्या करने का आरोप

लखनऊ. उत्तरप्रदेश के गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी (51) की सोमवार को बागपत जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई। पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में बागपत कोर्ट में आज बजरंगी की पेशी होनी थी। इसी कारण उसे रविवार देर रात झांसी जेल से बागपत लाया गया था। हत्या का आरोप यूपी के एक और डॉन सुनील राठी पर है। पुलिस का कहना है कि सुनील को भी रविवार को रुड़की से बागपत जेल शिफ्ट किया गया था।

एडीजी जेल चंद्रप्रकाश ने बताया कि सुबह 6 बजे जेल में सुनील राठी और मुन्ना बजरंगी के बीच झगड़ा हुआ था। इस दौरान मुन्ना को गोली मार दी गई और सुनील ने हथियार गटर में फेंक दिया। यह जेल की सुरक्षा में गंभीर चूक है। बागपत के जेलर, डिप्टी जेलर समेत 4 जेलकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। न्यायिक जांच के भी आदेश दिए गए हैं।

पत्नी ने कहा था- बजरंगी की जान को खतरा : 29 जून को मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने कहा था, "मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक ये बात पहुंचाना चाहती हूं कि मेरे पति की जान को खतरा है। उन्हें उचित सुरक्षा दी जाए। उनके फर्जी एनकाउंटर की साजिश रची जा रही है। यूपी एसटीएफ, पुलिस के अधिकारी और कुछ सफेदपोश षड्यंत्र कर रहे हैं कि उन्हें फर्जी एनकाउंटर में मार दिया जाए।"

9 साल पहले गिरफ्तारी हुई थी : मुन्ना बजरंगी का असली नाम प्रेम प्रकाश सिंह था। बजरंगी ने 1984 में लूट के बाद एक व्यापारी की हत्या कर दी। वह भाजपा नेता रामचंद्र सिंह और भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या में भी आरोपी था। उस पर सात लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया गया था। 29 अक्टूबर 2009 को दिल्ली पुलिस ने मुन्ना को मुंबई के मलाड इलाके से गिरफ्तार किया था। उसे अलग-अलग जेलों में रखा गया था। पिछले एक साल से वह झांसी की जेल में बंद था। 2012 में उसने जौनपुर की मड़ियाहुं सीट से अपना दल के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा, लेकिन हार गया। 2017 में बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने भी अपना दल के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ा। सीमा भी हार गई।

एडीजी जेल का कहना है कि सोमवार सुबह 6 बजे सुनील राठी और मुन्ना बजरंगी में झगड़ा हुआ था। एडीजी जेल का कहना है कि सोमवार सुबह 6 बजे सुनील राठी और मुन्ना बजरंगी में झगड़ा हुआ था।
सुनील राठी पर मुन्ना बजरंगी की हत्या करने का आरोप है। सुनील राठी पर मुन्ना बजरंगी की हत्या करने का आरोप है।
X
एडीजी जेल का कहना है कि सोमवार सुबह 6 बजे सुनील राठी और मुन्ना बजरंगी में झगड़ा हुआ था।एडीजी जेल का कहना है कि सोमवार सुबह 6 बजे सुनील राठी और मुन्ना बजरंगी में झगड़ा हुआ था।
सुनील राठी पर मुन्ना बजरंगी की हत्या करने का आरोप है।सुनील राठी पर मुन्ना बजरंगी की हत्या करने का आरोप है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended