--Advertisement--

बारिश-बाढ़ से इस मानसून में 6 राज्यों में 537 मौतें, उत्तरप्रदेश में 3 दिन में 58 ने जान गंवाई

भारी बारिश की वजह से गाजियाबाद और मेरठ के स्कूलों में शनिवार को छुट्टी कर दी

Danik Bhaskar | Jul 28, 2018, 10:08 PM IST

- उत्तरप्रदेश के 10 जिलों में 48 घंटों में तेज बारिश का अलर्ट

नई दिल्ली/लखनऊ. इस साल मानसून सीजन में बाढ़, बारिश और बिजली गिरने से जुड़ी घटनाओं में अब तक छह राज्यों में 537 लोगों की मौत हुई। गृह मंत्रालय के एनईआरसी केंद्र से जारी आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 139 मौतें हुईं। उत्तरप्रदेश में अब तक 70 लोगों की जान गई, इनमें से 58 मौतें बीते तीन दिन में हुईं। यहां गुरुवार से भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने सोमवार तक राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से यमुना नदी में शनिवार को 5 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इसके चलते दिल्ली में यमुना नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। यमुना के किनारे बसी झुग्गी-झोपड़ियों के लिए खतरा बढ़ गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अफसरों और मंत्रियों के साथ बैठक की।

असम में बाढ़ से 10 लाख लोग प्रभावित हुए: महाराष्ट्र के 26, बंगाल के 22, असम के 21, केरल के 14 और गुजरात के 10 जिले में बाढ़ के हालात बन चुके हैं। असम में बाढ़ से लगभग 10 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। इनमें से 2 लाख से ज्यादा लोग अभी भी राहत शिविरों में रह रहे हैं। वहीं, बंगाल में 1 लाख 60 हजार, केरल में 1 लाख 40 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित हैं।

राज्य मौतें
महाराष्ट्र 139
केरल 126
बंगाल 116
उत्तरप्रदेश 70
गुजरात 52
असम 34

उप्र के 10 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट: मौसम विभाग ने 10 जिलों फैजाबाद, बस्ती, गोरखपुर, संतकबीरनगर, इलाहाबाद, आगरा, मथुरा, बुलंदशहर, रायबरेली और फर्रुखाबाद में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। राहत आयुक्त संजय कुमार ने गुरुवार को बताया कि पिछले दो दिन में भारी बारिश की वजह से 148 मकानों को नुकसान पहुंचा। इनमें से ज्यादातर गिर गए हैं।

सबसे ज्यादा मौतें सहारनपुर में

शहर मौतें (पिछले तीन दिनों में)
सहारनपुर 11
मेरठ 10
आगरा 6
मैनपुरी 4
कासगंज

3

मुजफ्फरनगर 3
बरेली 2
बुलंदशहर 2
अमरोहा 2
बागपत 2

कानपुर देहात, कानपुर शहर, मथुरा, गाजियाबाद, हापुड़, रायबरेली, जालौन, प्रतापगढ़,

बांदा, फिरोजाबाद, अमेठी, पीलीभीत और जौनपुर

13 (सभी जगह एक-एक मौतें)
कुल 58

हरियाणा के चार जिलों में हाई अलर्ट: प्रशासन के मुताबिक- पहाड़ों पर हो रही लगातार बारिश से हथनीकुंड बैराज का जलस्तर निरंतर बढ़ रहा है। इसके चलते यमुनानगर, करनाल, पानीपत और सोनीपत में हाई अलर्ट जारी किया गया है। हथनीकुंड बैराज के सभी 18 गेट खोल दिए गए हैं। यमुनानगर में हाई अलर्ट के चलते अम्बाला में आर्मी और एयर फोर्स से संपर्क किया गया है।

दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से ऊपर : हथनी कुंड बैराज से पानी छोड़े जाने से यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। एसडीएम (ईस्ट) अरुण गुप्ता ने बताया कि शनिवार को यमुना का जलस्तर 205.3 मीटर तक पहुंच गया। यह खतरे के निशान से 47 सेंटीमीटर ऊपर है। ओल्ड रेलवे ब्रिज के पास के इलाके में लोगों को सलाह दी गई है कि वे नदी के पास न जाएं। न ही अपने बच्चों और पालतू जानवरों को वहां भेजे। निचले क्षेत्रों में एनाउंसमेंट करके लोगों को अलर्ट कर दिया गया है।

सहारनपुर के गंगोह कस्बा में शनिवार सुबह एक घर गिर गया। इसमें 6 लोगों की मौत हो गई। सहारनपुर के गंगोह कस्बा में शनिवार सुबह एक घर गिर गया। इसमें 6 लोगों की मौत हो गई।
दिल्ली में शनिवार को यमुना जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया। दिल्ली में शनिवार को यमुना जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया।
बारिश के चलते शनिवार को मनाली के पास राष्ट्रीय राजमार्ग-3 पर एक बड़ी चट्टान गिर गई। बारिश के चलते शनिवार को मनाली के पास राष्ट्रीय राजमार्ग-3 पर एक बड़ी चट्टान गिर गई।