--Advertisement--

योगी कैबिनेट की बैठक में नौ प्रस्तावों को मिली मंजूरी, अटलजी की याद में बटेश्वर में की जाएगी स्मारक की स्थापना

वित्त वर्ष 2018-19 के अनुपूरक बजट को भी मंजूरी दी गई

Danik Bhaskar | Aug 21, 2018, 03:22 PM IST

लखनऊ. सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को कैबिनेट बैठक सम्पन्न हुई। सबसे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत सभी मंत्रियों ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक प्रस्ताव पढ़ा फिर सभी ने दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उसके बाद बैठक में नौ प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है। इस दौरान वित्त वर्ष 2018-19 के अनुपूरक बजट को भी मंजूरी दी गई। वहीं, अग्रिम जमानत के लिए शर्तों के साथ मंजूरी दी गई है।

अटलजी के योगदान पर शोक प्रस्ताव पास: कैबिनेट बैठक में अटलजी के देश-दुनिया व विशेष तौर पर यूपी के प्रति किए गए विशेष योगदानों का उल्लेख करते हुए शोक प्रस्ताव पारित किया गया। इसके बाद अनुपूरक बजट, निवेशकों से जुड़ी परियोजनाओं के प्रोत्साहन सहित नौ प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। ये भी तय हुआ कि अग्रिम जमानत विधेयक मॉनसून सत्र में पेश किया जाएगा।

अटलजी पर केंद्रित अनुपूरक बजट: प्रदेश कैबिनेट ने वित्त वर्ष 2018-19 के पहले अनुपूरक बजट पर मुहर लगाई है। करीब 40 हजार करोड़ रुपये के अनुपूरक बजट में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृतियों को जीवंत बनाए रखने से जुड़ी कई परियोजनाएं शामिल हैं। इनमें लखनऊ में नया चिकित्सा विश्वविद्यालय, बलरामपुर में केजीएमयू का सेटेलाइट सेंटर, कानपुर के डीएवी डिग्री कॉलेज को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित करने के साथ आगरा के बटेश्वर में स्मारक की स्थापना शामिल हैं। ये चारों ही स्थान अटलजी से जुड़े हैं।

अग्रिम जमानत व्यवस्था को मंजूरी: दंड प्रक्रिया संहिता में में अग्रिम जमानत की व्यवस्था को लागू किया है इसमे दंडवत कतिपय शर्तों के अधीन विधेयक प्रस्ताव पास हुआ है। इसके साथ ही पाँच वर्ष कर लिए उत्तर प्रदेश प्रसंस्करण तिल निर्यात नीति 2018- 2023 को मंजूरी दी गई है।और निर्यातको को निर्यात कर में छूट दिए जाने की मंजूरी दी गई है।