--Advertisement--

उत्तर प्रदेश: अब सुल्तानपुर जिले का नाम बदलने की शुरू हुई कवायद, विधानसभा सत्र में चर्चा के लिए प्रस्ताव हुआ पास

सुल्तानपुर के लंभुआ से बीजेपी विधायक देवमणि ने नियम 311 के तहत सदन में इस विषय पर चर्चा का प्रस्ताव रखा।

Danik Bhaskar | Aug 31, 2018, 04:48 PM IST

लखनऊ. यूपी में मुगलसराय के बाद अब सुल्तानपुर जिले का नाम बदलने की कवायद शुरू हो गयी है। सुल्तानपुर के लंभुआ से बीजेपी विधायक देवमणि ने नियम 311 के तहत सदन में इस विषय पर चर्चा का प्रस्ताव रखा। जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया गया। चूंकि सदन का शुक्रवार को अंतिम दिन था इसलिए अब इस पर अगले सत्र में चर्चा होगी।

क्यों बदलना चाहते हैं सुल्तानपुर का नाम: बीजेपी विधायक देवमणि का कहना है कि अयोध्या से सटे सुल्तानपुर जिले को भगवान श्रीराम के पुत्र कुश ने बसाया था और इसे कुशभवनपुर नाम से जाना जाता था। यहीं सीताजी ठहरी थीं, उनकी याद में आज भी सीताकुंड घाट है। सुल्तानपुर के गजेटियर में भी इस बात का उल्लेख है कि इसका नाम कुशभवनपुर ही था। उस समय मुगलों ने इसका नाम बदल दिया था। ऐसे में इसका पुराना नाम होने से जहां गर्व की अनुभूति होगी वहीँ सांस्कृतिक महत्व भी बढ़ेगा।

जनवरी में सुल्तानपुर नगर पालिका में पास किया गया था एजेंडा: बीते जनवरी में नवनिर्वाचित नगर पालिका अध्यक्ष बबिता जायसवाल ने सुल्तानपुर जिले का नाम बदलकर कुशभवनपुर करने का एजेंडा नपा बोर्ड की प्रथम बैठक में पास कराया था। दरअसल, नगरपालिका अध्यक्ष बबिता जायसवाल ने इलेक्शन के दौरान शहर की जनता से कहा था कि कुशभवनपुर हमारे लिए सिर्फ चुनावी जुमला या चुनावी वादा नहीं बल्कि हमारे लिए शान-सम्मान व स्वाभिमान का प्रतीक है।