पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गोमती नदी के प्रदूषण को लेकर एनजीटी का कड़ा रुख, कहा- योगी सरकार जमा कराए 100 करोड़ रुपए

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) की अनुश्रवण समिति ने अपनी रिपोर्ट में की सिफारिश
  • एनजीटी के आदेशों के अनुपाल की गारंटी के लिए यह फंड जमा कराए सरकार

लखनऊ. गोमती नदी में बढ़ते प्रदूषण से नाराज नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) की अनुश्रवण समिति ने गोमती नदी की सफाई को लेकर सूबे की योगी सरकार को कड़ी चेतावनी दी है। एनजीटी ने कहा है कि योगी सरकार गोमती नदी की सफाई और एनजीटी के आदेशों के अनुपालन की गारंटी के लिए 100 करोड़ रुपए का फंड जमा कराए। 

 

अनुश्रवण समिति के चेयरमैन जस्टिस डीपी सिंह ने एनजीटी को भेजी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि गोमती नदी के अभी तक स्वच्छ न हो पाने के पीछे राजनीतिक हस्तक्षेप और भ्रष्टाचार है। जिसकी वजह से मुख्य सचिव और अन्य जिम्मेदार अधिकारी संवैधानिक दायित्वों का निर्वहन करने में असफल रहे हैं।

 

नदियों एवं जलाशयों के प्रबंधन को बनी अनुश्रवण समिति ने यह सिफारिश पिछले दिनों सचिव व पूर्व जिला जज राजेंद्र सिंह, एडवोकेट कमिश्नर चेतनरायन सिंह और यूपीपीसीबी व सीपीसीबी के अधिकारियों के अलग-अलग निरीक्षण के बाद मिली आख्या के आकलन के बाद की है।

 

10 नगर निगम और नगर पालिकाओं पर जुर्माने की सिफारिश 
समिति की रिपोर्ट में बढ़ते प्रदूषण के लिए नगर निगम और पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड को भी जिम्मेदार बताया गया है। यूपी पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड पर 6.84 करोड़ और नगर निगम पर 5 करोड़, जल निगम पर 3 करोड़ जुर्माने की भी सिफारिश की गई है। गोमती नदी के बहाव वाले 10 जिलों में भी नगर निगम और नगर पालिकाओं पर 1-1 करोड़ रुपये जुर्माने की सिफारिश एनजीटी से की गई है।

 

लखनऊ में प्रदूषण को लेकर जतायी चिंता
अनुश्रवण समिति राजधानी लखनऊ के अलग-अलग जगहों पर नदी से पानी के नमूने लेकर जांच कराई, जिसमें ऑक्सीजन की मात्रा शून्य के करीब मिली, जो खतरनाक है. अनुश्रवण समिति के सचिव राजेंद्र सिंह का कहना है कि 100 करोड़ का फंड प्रमुख सचिव वित्त अनुपालन गारंटी के रूप में जमा कराना सुनिश्चित कराएंगे। अगर दो साल में सभी नाले बिना शोधन के नदी में गिरना बंद न हुए तो पर्यावरणीय हर्जाने के रूप में इस राशि को जब्त कर लिया जाएगा।

 

गोमती के प्रदूषण को लेकर लोगों को दी चेतावनी
अनुश्रवण समिति की रिपोर्ट में कहा गया है कि गोमती में प्रदूषण इतना बढ़ गया है कि इसमें नहाना तो दूर, इसके आसपास सैर करना भी खतरनाक है. खास तौर पर सुबह नदी किनारे सैर से दूरी बनाएं, यह सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है।

\"अनुश्रवण

 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

और पढ़ें