सुल्तानपुर / कांग्रेस विधायक का फोन रिसीव न करना डीएम को पड़ा महंगा, विशेषाधिकार समिति ने किया तलब

कांग्रेस के एमएलसी दीपक सिंह (फाइल फोटो) कांग्रेस के एमएलसी दीपक सिंह (फाइल फोटो)
X
कांग्रेस के एमएलसी दीपक सिंह (फाइल फोटो)कांग्रेस के एमएलसी दीपक सिंह (फाइल फोटो)

  • कांग्रेस के एमएलसी दीपक सिंह की शिकायत पर समिति ने तलब किया
  • दीपक सिंह ने पीड़ित की मदद के लिए तहसीलदार और डीएम को लगाया था फोन

दैनिक भास्कर

Dec 17, 2019, 06:14 PM IST

सुल्तानपुर. शासन द्वारा अधिकारियों को मिले सीयुजी नंबर (सरकारी फोन) पर आ रही काल को आम आदमी का नंबर समझ कर न उठाना जिले के तीन अधिकारियों को महंगा पड़ गया है। कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य (एमएलसी) की शिकायत पर जिले के अधिकारी विशेषाधिकार समित में तलब कर लिए गए हैं। जिसमें जिलाधिकारी सी.इंदुमति भी शामिल हैं।

एमएलसी दीपक सिंह ने मंगलवार को सदन के शून्य काल में मौखिक तौर पर अपनी बात रखी। जिस पर सभापति ने सुल्तानपुर की जिलाधिकारी, एसडीएम सदर और तहसीलदार सदर को कांग्रेस विधानपरिषद सदस्य दीपक सिंह के फ़ोन नहीं रिसीव करने के अपराध में उप्र की विशेषाधिकार समित में तलब किया है। 

दरअसल, एमएलसी दीपक सिंह ने एक पीड़ित की मदद के लिए तहसीलदार सदर को फोन किया था। सरकारी नंबर पर कई बार फोन करने के बाद भी जब काल नहीं उठी तो एमएलसी ने एसडीएम सदर को फोन किया ताकि पीड़ित को न्याय मिल सके। लेकिन एसडीएम का हाल भी तहसीलदार वाला ही रहा फोन पर घंटी बजती रही किंतु साहब ने उठाने का कष्ट नहीं किया। 

इस बात से खासा नाराज एमएलसी दीपक सिंह ने जिलाधिकारी सी. इंदुमति के सीयूजी नंबर पर काल लगाया परंतु वो भी अपने मातहत अधिकारियों की तरह ही फोन काल को अनसुना कर गईं थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना