--Advertisement--

रायबरेली एम्स के ओपीडी की शुरुआत, पूरी तरीके से शुरू होने में अभी लगेगा 2 साल का समय

2011 में हुई थी एम्स बनाने की घोषणा

Danik Bhaskar | Aug 13, 2018, 06:01 PM IST

रायबरेली. रायबरेली में सोमवार सुबह से एम्स ओपीडी की शुरुआत कर दी गई है। ओपीडी की शुरुआत होते ही सुबह से ही आसपास के जिलों के लोग अपने इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। मरीजों की लंबी लंबी कतारें लगीं है। एम्स की ओपीडी में इलाज कराने आए मरीजों ने सांसद सोनिया गांधी समेत PM मोदी सीएम योगी के साथ साथ जमीन उपलब्ध कराने वाले पूर्व CM अखिलेश यादव को भी बधाई दी।

2011 में हुई थी घोषणा: यूपीए सरकार में 2011 में रायबरेली में एम्स की घोषणा के बाद जमीन तलाशने का काम शुरू हुआ जिसके बाद रायबरेली शहर से जुड़े हुए मुंशीगंज में शुगर मिल की जमीन को चुना गया। जमीन से संबंधित सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गई और 2014 के लोकसभा चुनाव के पहले ही सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी ने 2013 में भूमि पूजन शुरू कर दिया था। जिसके बाद सबसे पहले ओपीडी का निर्माण किया गया और 2014 के अगस्त तक ओपीडी शुरू करने का निर्णय लिया गया था। लेकिन 2014 में नहीं हो सका। चंडीगढ़ PGI से रायबरेली एम्स में अधीक्षक के पद पर आए डॉक्टर अशोक कुमार की माने तो अभी एम्स की ओपीडी को चालू कर दिया गया है फिलहाल अभी 7 डॉक्टरों समेत 35 लोगों का स्टाफ आ चुका है जरूरत पड़ने पर स्टाफ और भी बढ़ाया जाएगा साथ ही यह भी कहा कि अभी रायबरेली एम्स पूरी तरीके से शुरू होने में करीब 2 वर्ष का समय लगेगा।