--Advertisement--

सीतापुर / तीन माह से जमीन पर कटा पड़ा पीपल का पेड़ खड़ा हो गया, लोगों ने शुरू की पूजा-पाठ



वैज्ञानिकों का मत है कि, भार के कम या ज्यादा होने पर ऐसी घटनाएं हाेती हैं, लेकिन लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं। वैज्ञानिकों का मत है कि, भार के कम या ज्यादा होने पर ऐसी घटनाएं हाेती हैं, लेकिन लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं।
X
वैज्ञानिकों का मत है कि, भार के कम या ज्यादा होने पर ऐसी घटनाएं हाेती हैं, लेकिन लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं।वैज्ञानिकों का मत है कि, भार के कम या ज्यादा होने पर ऐसी घटनाएं हाेती हैं, लेकिन लोग इसे चमत्कार मान रहे हैं।

  • सीतापुर जिले के रेउसा ब्लॉक का मामला
  • हजारों लोगों ने पेड़ की परिक्रमा की, माना चमत्कार

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 04:41 PM IST

सीतापुर. थानगांव इलाके के सुरेठा गांव में गुरुवार की देर शाम महीनों से जमीन पर कटा पड़ा एक पीपल का पेड़ अचानक खड़ा हो गया। लोग इसे चमत्कार मानकर पेड़ की पूजा अर्चना कर रहे हैं। मेले जैसा माहौल है। मंदिर निर्माण की कवायद चल रही है। पुजारी ने भी डेरा जमा लिया है। वहीं वैज्ञानिकों का मत है कि पेड़ का एक तरफ का वजन कम हो गया हो, इसलिए वह सीधा खड़ा हो गया। 

दैवीय शक्ति मानकर लोग पेड़ परिक्रमा कर रहे हैं।

तेज आंधी में गिर गया था पेड़: रेउसा विकास खंड के सुरेठा गांव में हाईवे के किनारे लगा पीपल का पेड़ तीन माह पहले तेज आंधी में गिर गया था। आसपास के ग्रामीण टहनियों को काट ले गए थे। जबकि ठूंठ पड़ा था। बताया जाता है कि गुरुवार शाम करीब सात बजे पीपल का ठूंठ अचानक सीधा खड़ा हो गया। करीब 100 फिट की चौड़ाई, 500 किलो वजनी और 30 फिट लंबाई वाले पीपल पेड़ का सीधा खड़ा होना, इलाके में कौतूहल का विषय बन गया है।      


अब इस कथित चमत्कार को देखने के लिए गांजर इलाके के हजारो लोग पीपल के विशालकाय पेड़ के आसपास मौजूद हैं। लोगों ने परिक्रमा लगाना शुरू कर दिया है। कुछ लोग तो इसे देवी शक्ति के रूप में देख रहे हैं। वहीं, डीएफओ अनिरुद्ध पांडेय का कहना है कि कई बार भार कम होने या ज्यादा होने से ऐसा होता है। इसे चमत्कार मानना गलत है।

 

पेड़ के आसपास मेले जैसा माहौल है।

संतों का लगा जमावड़ा, भजन कीर्तन शुरू: इलाके के त्यागी बाबा अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे हैं। पेड़ की घेराबंदी करके उसकी पूजा पाठ शुरू करा दी। लोगों की माने तो अब यहां मंदिर बनेगा और भजन कीर्तन कर भगवान का भजन किया जाएगा।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..