--Advertisement--

हां! मैं हर दुखियारी मां और गरीब की परेशानी का भागीदार: राहुल के आरोप पर मोदी ने लखनऊ में दिया जवाब

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर नरेंद्र मोदी हर महीने उत्तरप्रदेश में 2 से 4 रैली और कार्यक्रम करेंगे

Dainik Bhaskar

Jul 28, 2018, 08:14 PM IST
प्रधानमंत्री ने लखनऊ में कई शह प्रधानमंत्री ने लखनऊ में कई शह
  • मोदी का महीनेभर में यह पांचवां उत्तरप्रदेश दौरा, 4 यात्राओं से 45 सीटें कवर कर चुके

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को दो दिन के दौरे पर लखनऊ पहुंचे। देश के 100 शहरों से आए मेयर से कहा कि आप नए भारत के प्रतिनिधि हो। इस मौके पर अलग-अलग शहरों में करीब 64 हजार करोड़ रुपए की विकास योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने भ्रष्टाचार में भागीदार होने के राहुल गांधी के आरोप का जवाब भी दिया। मोदी ने कहा कि मैं देश की हर दुखियारी मां और गरीब-किसान की परेशानी का भागीदार हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ''मुझ पर एक आरोप लगाया गया कि मैं चौकीदार नहीं, भागीदार हूं। लेकिन मैं इस इल्जाम को इनाम मानता हूं। मैं मेहनतकश का भागीदार हूं, हर दुखियारी मां की पीड़ा का भागीदार हूं, मैं भागीदार हूं उस किसान के दर्द का जिसकी फसल सूखे से बर्बाद हो जाती है। मैं भागीदार हूं उस कोशिश का जिसके जरिए लोगों को घर मिले, बिजली-पानी मिले, युवाओं को रोजगार मिले, हवाई चप्पल वालों को हवाई यात्रा करने का मौका मिले। गरीबी ने मुझे ईमानदारी और हिम्मत दी है। मैंने गरीबी की मार झेली है। मैंने गरीबी की परेशानियों को करीब से देखा है। ये भी कहा गया कि मैं चायवाला हूं और प्रधानमंत्री बनने वाला हूं। लेकिन इसका फैसला उन्होंने नहीं, देश की जनता ने किया।''

स्मार्ट सिटी मिशन के काम में तेजी आई : मोदी ने कहा, ''स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 7 हजार करोड़ की योजनाओं का काम पूरा हो चुका है। 52 हजार करोड़ की योजनाओं पर काम तेजी से चल रहा है। मुझे बताया गया है कि स्मार्ट सिटी के इंटीग्रेटेड सेंटर शुरू होने पर राजकोट में क्राइम रेट में कमी आई। भोपाल में टैक्स कलेक्शन में बढ़ोतरी हुई। विशाखापट्टनम में सीसीटीवी से बसों को ऑनलाइन ट्रैक किया जा रहा है। पुणे में बसों में कॉलबेल लगाए गए, जिन्हें दबाने से नजदीकी पुलिस स्टेशन में अलर्ट पहुंच जाता है।''

2022 तक सबका अपना घर होगा : मोदी ने कहा, ''सरकार सभी बेघरों को मकान देने की योजना पर काम कर रही है। शहरों में 50 लाख मकान स्वीकृत किए जा चुके हैं। इतना ही नहीं गांवों में भी एक करोड़ मकान लोगों को सौंपे जा चुके हैं। इन घरों के लिए सरकार ब्याज में राहत दे ही रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत करीब 87 लाख मकानों की रजिस्ट्री महिलाओं के नामों पर या साझेदारी पर की जा रही हैं। अब लोग पूछेंगे कि इस घर की मालकिन कौन है?''

मेयर नई पीढ़ी की आशा हैं: मोदी ने कहा- ''आप (मेयर) देश के उन शहरों के प्रतिनिधि हैं, जो नए भारत की नई पीढ़ी की आशा हैं। आज कई लोगों को अपने घरों की चाभी दी गईं। लाभार्थियों के चेहरे पर जो चमक थी, वो देश के बेघर भाइयों और बहनों के जीवन को बदलने का संतुष्टि देने वाला अनुभव है। जो मेयर अवॉर्ड लेने के लिए यहां आए हैं, उनमें सिर्फ दो ही पुरुष थे, बाकी सभी महिला मेयर थीं।''

उत्तरप्रदेश में मोदी 30 दिन में मोदी के कार्यक्रम

1) मगहर (संत कबीर नगर), 28 जून- गोरखपीठ क्षेत्र: 8 सीटें हैं, दलित, पिछड़ों का दबदबा

- मोदी ने 28 जून को मगहर में 24 करोड़ रुपए से बनी कबीर एकेडमी का उद्घाटन किया। एक रैली भी की थी। उन्होंने कबीर के दोहों से विपक्ष पर निशाना साधा। मोदी ने कबीर के जरिए कबीरपंथी दलित और पिछड़ी जातियों को साधने की कोशिश की। गोरखपीठ क्षेत्र में 8 सीटें हैं। सभी पर भाजपा का कब्जा है। 55% आबादी दलित और पिछड़ी जातियों की है।

2) नोएडा (गाजियाबाद), 10 जुलाई- पश्चिम यूपी: 10 में 5 सीटों पर भाजपा से आगे गठजोड़

- नोएडा में मोदी ने द. कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन के साथ 5 हजार करोड़ रु की लागत से बने सैमसंग के सबसे बड़े मोबाइल प्लांट का उद्धाटन किया। हर साल 12 करोड़ मोबाइल फोन बनेंगे। कार्यक्रम में योगी भी थे। मोदी ने वेस्ट यूपी की 10 सीटों को साधने की कोशिश की। पश्चिम यूपी में 10 सीटें हैं। 2014 में सभी भाजपा ने जीतीं थीं। 5 सीटें ऐसी हैं, जिनमें एकजुट विपक्ष का वोट प्रतिशत ज्यादा है।

3) आजमगढ़, बनारस, 14 जुलाई- पूर्वांचल: एक्सप्रेस-वे के जरिए 15 सीटों पर फोकस

- मोदी ने 23 हजार करोड़ रु. से 340 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखी। बनारस में 22 हजार करोड़ रु. के विकास कार्यों का उद्धाटन किया। आजमगढ़ सपा, बसपा, कांग्रेस का गढ़ रहा है। यहां भाजपा 2014 में भी हार गई थी। आजमगढ़ में 83% हिंदू, 15% मुस्लिम हैं। इसीलिए मोदी ने हिंदुत्व का कार्ड खेला और 15 सीटों को कवर किया।

4) शाहजहांपुर, 21 जुलाई: 11 सीटें भाजपा के पास, किसान बड़ा वोट बैंक

- मोदी ने संसद में अविश्वास प्रस्ताव पेश होने के अगले दिन रुहेलखंड के शाहजहांपुर में किसान कल्याण रैली की। यहां उन्होंने किसानों की बात की। यहां की 12 में से 11 सीटों पर भाजपा के सांसद हैं। बदायूं से सपा के धर्मेंद्र यादव सांसद हैं। 2009 में यहां भाजपा के सिर्फ 2 सांसद थे। यह सपा, बसपा का गढ़ है। 2014 में 3 सीटों पर करीबी टक्कर हुई थी।

5) लखनऊ, 28 जुलाई- अवध क्षेत्र: विपक्षी दबदबे वाली 7 सीटों पर है ध्यान

- मोदी ने लखनऊ में 64 हजार करोड़ रु. की लागत वाले करीब 74 प्रोजेक्ट का उद्धाटन या आधारशिला रखी। इसमें अधिकतर केंद्रीय योजनाएं शामिल थीं। इनमें अटल मिशन, अमृत योजना, स्मार्ट सिटी आदि प्रमुख हैं। अवध में 12 लोकसभा सीटें अाती हैं। इनमें से 10 पर भाजपा के सांसद हैं। रायबरेली और अमेठी यहीं हैं।

2014 में सपा, बसपा, कांग्रेस को भाजपा से 7% वोट ज्यादा मिले: आम चुनाव में सपा, बसपा, कांग्रेस, रालोद साथ लड़ सकती हैं। इन्होंने उपचुनाव में एक-दूसरे को समर्थन दिया था। ऐसे में भाजपा के सामने चुनौती अपने वोट बैंक को बचाना और संयुक्त विपक्ष से ज्यादा वोट लाना है। 2014 में सपा, बसपा व कांग्रेस को मिले वोट को जोड़ दें, तो यह भाजपा से 7% ज्यादा है।

2014 आम चुनाव में यूपी की 80 सीटों की स्थिति

पार्टी सीट वोट शेयर
भाजपा 71 42.3%
सपा 05 22.2%
कांग्रेस 02 7.5%
अपना दल 02 1.0%
बसपा 00 19.6%

* उपचुनाव में भाजपा का वोट प्रतिशत 2014 से करीब 10% कम हुआ है।

X
प्रधानमंत्री ने लखनऊ में कई शहप्रधानमंत्री ने लखनऊ में कई शह
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..