--Advertisement--

आरएसएस के निमंत्रण के बावजूद उनके कार्यक्रम में नहीं जायेंगे राहुल गांधी: बाराबंकी में बोले कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पीएल पुनिया

2019 की तैयारियों के मद्देनजर अब कांग्रेस के सीनियर नेता प्रदेश में एक्टिव होने लगे हैं।

Danik Bhaskar | Sep 04, 2018, 08:57 PM IST

बाराबंकी. 2019 की तैयारियों के मद्देनजर अब कांग्रेस के सीनियर नेता प्रदेश में एक्टिव होने लगे हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता पीएल पुनिया ने बाराबंकी में एक प्रेस कांफ्रेंस की। जब आरएसएस के कार्यक्रम में राहुल के जाने पर सवाल हुआ तो उन्होंने बहुत ही विश्वास से जवाब दिया कि "मैं एक जिम्मेदार कार्यकर्ता और प्रवक्ता होने के नाते यह कह रहा हूं कि अगर आरएसएस का निमंत्रण राहुल जी के पास आता है तो वह आरएसएस के कार्यक्रम में नही जाएंगे।" उनकी बात का समर्थन सिद्दीकी ने करते हुए कहा कि "पुनिया जी जिम्मेदार नेता है और महत्वपूर्व पद पर है। यह जो कह रहे है सही कह रहे है।"


अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: पुनिया ने कहा कि डीजल-पेट्रोल के दामों की बढ़ोत्तरी सिर्फ रिलायंस को फायदा पहुंचाने के इरादे से की जा रही है वर्ना क्या कारण है कि देश भर में बन्द चल रहे रिलायन्स के सभी पेट्रोल पम्प क्यों चालू कर दिए गए । राहुल जी चिल्ला-चिल्ला कर कह रहे है कि यह सरकार सिर्फ चार-पांच लोगों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है । देश भर में आज ठेके अडानी को दिए जा रहे है अम्बानी को फायदा पहुँचाया जा रहा है । यह एक खेल खेला जा रहा है जो अब जनता समझ रही है ।

शिवपाल का नाम लिए बिना बोले, कहा-भाजपा की करतूत:पुनिया ने कहा कि राहुल जी ने हमेशा यह कहा है कि आरएसएस और भाजपा के मंसूबों को नाकामयाब करने के लिए वह किसी भी हद तक जाएंगे। राज्यों में क्षेत्रीय दलों से गठबन्धन भी करेंगे और महागठबंधन भी बनेगा मगर भाजपा अक्सर कुछ न कुछ करके यह सन्देश देना चाहती है कि महागठबंधन नही बन रहा है। यह बात सही है कि महागठबंधन बनेगा और भाजपा जाएगी। राहुल जी ने भी प्रधानमंत्री के मुद्दे पर भी स्पष्ट किया है कि चुनाव बाद सब बैठकर यह मसला तय कर लेंगे इस पर सभी दलों ने अपनी सहमति दे दी है। शिवपाल सिंह यादव क्या असर डालेंगे? इस पर पुनिया ने कहा कि मुझे नही पता कि वह क्या करेंगे।

एससी/एसटी एक्ट पर बोले पुनिया: एससी/एसटी एक्ट पर पुनिया ने कहा कि इसका श्रेय भाजपा को नही जाता है बल्कि इसका सारा श्रेय देश भर में हुए दलित आन्दोलन को जाता है। भाजपा को इस दलित आंदोलन के आगे मजबूर होकर इसे पास कराना पड़ा।