--Advertisement--

उप्र / तेजस्वी बोले- जो अंग्रेजों के गुलाम थे, वे अभी सत्ता में; देश में अघोषित इमरजेंसी

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 03:35 PM IST


तेजस्वी यादव-अखिलेश यादव। तेजस्वी यादव-अखिलेश यादव।
X
तेजस्वी यादव-अखिलेश यादव।तेजस्वी यादव-अखिलेश यादव।

  • बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से की मुलाकात
  • दो दिवसीय यूपी के दौरे पर हैं आरजेडी नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी

लखनऊ. बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बसपा सुप्रीमो से मुलाकात के बाद सोमवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिले। इस दौरान उन्होंने अखिलेश यादव के साथ संयुक्त प्रेसवार्ता की और सपा-बसपा के गठबंधन पर खुशी जाहिर की। कहा- यह देश में अभी की स्थिति के मद्देनजर आवश्यक था। जो लोग अंग्रेजों के गुलाम थे, वे अभी सत्ता में हैं। देश में अघोषित अपातकाल लगा है और केंद्र सरकार का रवैया भी तानाशाही भरा है। सीबीआई और ईडी अब एजेंसी नहीं हैं, वे अब भाजपा के सहयोगी बन गए हैं। लालूजी जेल में केवल इसलिए हैं क्योंकि मोदी जी ने उन्हें एक खतरे के रूप में देखा था।

आरएसएस का एजेंडा थोपना चाहती है भाजपा

  1. तेजस्वी ने केंद्र सरकार पर बिहार की अनदेखी का भी आरोप लगाया। कहा- 2015 में बिहार को 70,80,90,125 करोड़ के पैकेज देने की बोली लगाई गई थी। नीतीश से पूछता हूं कि धोखा देकर चले गए। एक पैसा नहीं दिया उस पैकेज से। विशेष राज्य का दर्जा भी नहीं दिया। आरक्षण दे सकते हो, लेकिन बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने में बहाने बनाते हो। कहा कि जनता में भाजपा के खिलाफ काफी गुस्सा है। आगामी लोकसभा चुनाव में बिहार से भाजपा का सफाया हो जाएगा। 

  2. तेजस्वी यादव ने कहा कि, देश पर खतरा मंडरा रहा है। ये लोग नागपुरिया कानून, आरएसएस का एजेंडा लागू करना चाहते हैं। मोहन भागवत पहले भी कह कर रहे थे कि आरक्षण को खत्म कर देना चाहिए या फिर इसे आर्थिक आधार पर दिया जाए। यह संविधान को खत्म करने जैसा काम है। अखिलेश जी और मायावती जी ने नागपुरिया कानून लागू होने से देश को बचाने की जो कोशिश की है, उसके लिए लोग उन्हें मानेंगे और बधाई देंगे। आने वाले समय में पता लग जाएगा कि कौन कितना बेइमान है। चौकीदार ने कितना बेइमानी का काम किया है।

  3. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि, पूरे देश की जनता नाराज है। नौकरी का कोई भरोसा नहीं। देश के व्यापारियों को संकट के डाल दिया गया। यूपी में गठबंधन की खुशी पूरे देश में है। दिल्ली से कलकत्ता तक भाजपा के खिलाफ लोग खड़े हैं। दिल्ली व कलकत्ता के लोगों को बुलेट ट्रेन दे देते तो वे खुश हो जाते, लेकिन अहमदाबाद से मुम्बई दे दी। हमने दिल्ली से पटना रांची के लिए मांगी थी। 

     

  4. अखिलेश ने सीएम योगी पर भी निशाना साधा। कहा कि, हमारे सीएम अच्छे हैं। कहते हैं ठोक दो, उनकी सांप छछुंदर की भाषा रही है। समाजवादियों की भाषा बदल जाए पर हम नहीं बदलेंगे। हमें उम्मीद है कि, जिस समय मतदान होगा, व्यापारी, गरीब भाजपा को उखाड़ फेकेंगे। अखिलेश ने कहा कि, कुंभ मेले के लिए नेताओं को निमंत्रण पत्र भेजे गए हैं। लोग कुंभ में मोक्ष के लिए आते हैं। मुख्यमंत्री योगी ने मोक्ष के लिए नेताओं को बुलाएं हैं। इससे पहले ऐसा कहीं सुना कि मोक्ष के लिए निमंत्रण दिया गया हो। 

Astrology
Click to listen..