--Advertisement--

सपा ने की राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग, कहा- UP में कानून व्यवस्था खराब; उन्नाव मामले के लिए बीजेपी जिम्मेदार

उन्नाव मामले में पुलिस की भूमिका संदिग्ध पाई गई है, पुलिस की मिलीभगत से हालात बद से बदतर हुए है।

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 11:22 AM IST
नंदा ने कहा कि योगी सरकार के कार्यकाल में अभी तक यूपी को कोई अवार्ड नहीं मिला। फाइल नंदा ने कहा कि योगी सरकार के कार्यकाल में अभी तक यूपी को कोई अवार्ड नहीं मिला। फाइल

लखनऊ. सपा ने मांग की है यूपी में धारा 356 लागू कर सरकार को भंग कर देना चाहिए और प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। सपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने शुक्रवार को कहा कि यूपी में कानून व्यवस्था की हालात बदतर है। उन्नाव मामले में कानून को ताक पर रखकर घटनाओं को अंजाम दिया गया है। उसके बावजूद भी राजभवन की ओर से कोई प्रतिक्रिया अभी तक इस मामले में सामने आई है। प्रदेश में सर्वोच्च पद पर बैठे व्यक्ति मौन हैं।


इस्तीफा दें सीएम
- किरणमय नंदा ने कहा कि उन्नाव मामले में आरोपी विधायक के खिलाफ जब गैरजमानती धाराओं में मामला दर्ज किया गया तो उसके बावजूद जानबूझकर आरोपी विधायक की गिरफ्तारी नहीं की गई। उन्नाव मामले में पुलिस की भूमिका संदिग्ध पाई गई है, पुलिस की मिलीभगत से हालात बद से बदतर हुए है।
- इस पूरे मामले के लिए बीजेपी की सरकार जिम्मेदार है, राजभवन भी पूरे मामले में अभी तक मौन है। सीएम को इस्तीफा दे देना चाहिए। सपा की मांग है कि पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपए मुआवजा दिया जाए और परिवार के सदस्यों को नौकरी, आवास और सुरक्षा भी दी जानी चाहिए।

योगी राज में यूपी को नहीं मिला कोई अवार्ड
-किरणमय नंदा ने कहा कि यूपी में जब अखिलेश यादव की सरकार थी तो अलग-अलग क्षेत्र में किए गए विकास कार्यों के लिए यूपी को कई अवार्ड मिले थे। सरकार के कार्यों की सराहना भी की गई थी। लेकिन योगी सरकार के एक साल के कार्यकाल में यूपी को अभी तक एक भी अवार्ड नहीं मिला है। क्राइम के मामले में पूरे देश में यूपी ने जरूर रिकॉर्ड बनाया है।


क्या कहा राजेन्द्र चौधरी ने

- प्रवक्ता सपा राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि 11 अप्रैल को सपा की 5 सदस्यीय जांच टीम महिला सभा की प्रदेश अध्यक्ष गीता सिंह के नेतृत्व में उन्नाव गई थी। जांच रिपोर्ट राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को आज सौंपी गई है।
- प्रदेश अध्यक्ष महिला सभा सपा की गीता सिंह ने कहा कि हमारी जांच टीम जब माखी गांव गई तो वहां पूरा अराजकता का माहौल था। तमाम ऐसे लोग वहां मौजूद थे जो हमारे साथ भी कुछ कर सकते थे। हम 50 महिलाओं को लेकर वहां पहुंचे थे पीड़ित को एक होटल में नजरबंद कर रखा था। हमने वहां जाकर उससे मुलाकात की तो पीड़ित युवती ने रो-रो कर अपनी दुख भरी कहानी बयां की। पूरा परिवार दहशत में है, इसीलिए सबसे पहले परिवार को सुरक्षा देने की जरूरत है।

सपा ने पीड़ित परिवार के लिए 50 लाख रुपए के मुआवजे की मांग की। फाइल सपा ने पीड़ित परिवार के लिए 50 लाख रुपए के मुआवजे की मांग की। फाइल
X
नंदा ने कहा कि योगी सरकार के कार्यकाल में अभी तक यूपी को कोई अवार्ड नहीं मिला। फाइलनंदा ने कहा कि योगी सरकार के कार्यकाल में अभी तक यूपी को कोई अवार्ड नहीं मिला। फाइल
सपा ने पीड़ित परिवार के लिए 50 लाख रुपए के मुआवजे की मांग की। फाइलसपा ने पीड़ित परिवार के लिए 50 लाख रुपए के मुआवजे की मांग की। फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..