एसडीएम ने सरकारी अस्पताल में कराया पत्नी का प्रसव, डीएम व उनकी पत्नी ने सराहा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • एसडीएम ने उठाया मातृत्व योजना का लाभ
  • बुधवार रात ऑपरेशन के बाद एसडीएम पत्नी ने बेटे को जन्म दिया

शाहजहांपुर. डीएम कौशांबी के बाद जिले के पुवायां तहसील के एसडीएम सत्यप्रिय सिंह ने अपनी पत्नी अंजली का प्रसव सरकारी अस्पताल में कराया है। डीएम व उनकी पत्नी ने रात में ही अस्पताल पहुंचकर नवजात बच्चे व प्रसूता का हाल जाना और उनके निर्णय की सराहना की है। इस दौरान एसडीएम ने कहा, प्राइवेट अस्पतालों से अधिक योग्य डॉक्टर सरकारी अस्पतालों में हैं। जच्च व बच्चा, दोनों स्वस्थ्य हैं।

 

इससे पहले कौशांबी जिले के डीएम मनीष कुमार वर्मा ने अनोखी पहल करते हुए अपनी पत्नी अंकिता राज वर्मा का मंझनपुर स्थित संयुक्त जिला चिकित्सालय में प्रसव कराया। अंकिता राज ने अस्पताल में एक बेटी को जन्म दिया था। लोगों ने डीएम के कदम की सभी ने सराहना की थी। 

 

एसडीएम पुवायां सत्यप्रिय सिंह की पत्नी अंजली को बुधवार रात प्रसव पीड़ा हुई। एसडीएम अपनी पत्नी को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। यहां सामान्य प्रसव न होने की दशा में ऑपरेशन किया गया। अंजली ने बेटे को जन्म दिया है। यह खबर मिलते ही रात में ही जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी, पत्नी के साथ अस्पताल पहुंचे और हाल जाना। एसडीएम व उनकी पत्नी को पुत्र प्राप्ति की बधाई दी। एसडीएम सदर राम जी मिश्रा ने भी जिला अस्पताल पहुंचकर एसडीएम के कदम को सराहा है। 

 

एसडीएम सत्यप्रिय सिंह ने कहा कि, प्राइवेट अस्पतालों से अच्छी सुविधाएं सरकारी अस्पतालों में है। सरकारी अस्पताल में भारत के सबसे अच्छे डाक्टर होते हैं। यहां डिलीवरी कराने पर सरकारी योजनाओं का लाभ भी मिलता है।