शाहजहांपुर केस / कड़ी सुरक्षा के बीच पीड़िता कोर्ट पहुंची, बयान के बाद चिन्मयानंद गिरफ्तार हो सकते हैं



आरोपी चिन्मयानंद। आरोपी चिन्मयानंद।
X
आरोपी चिन्मयानंद।आरोपी चिन्मयानंद।

  • पीड़ित छात्रा ने एसआईटी को साक्ष्य के तौर पर एक पेन ड्राइव सौंपी थी, इसमें 40 से ज्यादा वीडियो होने का दावा किया था
  • पीड़िता के पिता ने एसआईटी पर लगाया पेन ड्राइव से वीडियो फुटेज लीक करने का आरोप

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 03:51 PM IST

शाहजहांपुर. चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली 23 वर्षीय छात्रा को कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार को अदालत ले जाया गया। कोर्ट में छात्रा के बयान दर्ज होंगे। इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर एसआईटी कर रही है। एसआईटी के सूत्रों ने एजेंसी आईएएनएस को बताया कि छात्रा के बयान के बाद अदालत एसआईटी को इस मामले में दुष्कर्म की धारा जोड़ने का निर्देश दे सकती है। दुष्कर्म की धारा जोड़ने के तुरंत बाद चिन्मयानंद की गिरफ्तारी हो सकती है। छात्रा ने चिन्मयानंद पर एक साल तक यौन शोषण करने का आरोप लगाया है।


शुक्रवार को छात्रा ने एसआईटी को साक्ष्य के तौर पर एक पेन ड्राइव सौंपी थी। छात्रा ने दावा किया था कि, पेन ड्राइव में 40 से ज्यादा वीडियो हैं। चिन्मयानंद ने सिर्फ उसका ही नहीं बल्कि अन्य छात्राओं का भी यौन शोषण किया है। 

 

पीड़ित के पिता ने एसआईटी पर लगाया फुटेज लीक करने का आरोप

अदालत में बयान दर्ज कराने के लिए पहुँची पीड़िता के पिता ने एसआईटी पर चिन्मयानंद के खिलाफ सबूत लीक करने का आरोप लगाया है। पीड़िता के पिता का कहना है कि एसआईटी को सौंपी गई पेन ड्राइव से वीडियो फुटेज लीक किए गए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया में संबंधित फुटेज के स्क्रीनशॉट वायरल होने का हवाला भी दिया। पीड़ित के पिता ने इसकी शिकायत सुप्रीम कोर्ट से करने की बात कही है।

 

तलाशी के बाद सीज किया गया था चिन्मयानंद का आश्रम
इससे पहले चिन्मयानंद से करीब 7 घंटे पूछताछ के बाद एसआईटी ने शुक्रवार को उनका दिव्य आश्रम सीज कर दिया था। इसके अलावा एसआईटी टीम जांच के लिए पीड़ित छात्रा को लेकर चिन्मयानंद के आवास पर भी पहुंची थी। इससे पहले एसआईटी ने बुधवार को पीड़िता की मेडिकल जांच कराई थी।

 

पीड़ित छात्रा ने लगाए थे आरोप
स्वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम करने वाली छात्रा ने 24 अगस्त को एक वीडियो पोस्ट किया था। इसमें उसने कहा था कि एक संन्यासी ने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है और उसे और उसके परिवार को इस संन्यासी से जान का खतरा है। उसके बाद लड़की के पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ दुष्कर्म और शारीरिक शोषण की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर दी थी, लेकिन पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया।

 

चिन्मयानंद से आरोपों को बताया साजिश
इससे पहले चिन्मयानंद ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गठित एसआईटी पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर रही है और उन्हें उस पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ साजिश हो रही है और एसआईटी की जांच के बाद सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना