--Advertisement--

राजनीति / सेक्युलर मोर्चा गठन के बाद पहली बार लखनऊ पहुंचे शिवपाल सिंह यादव कहा अब कदम पीछे नहीं हटेगा



shivpal yadav is set to open his plan for future in lucknow
X
shivpal yadav is set to open his plan for future in lucknow

  

 
  •  समाज में आज भी कंस पैदा हो जाते है, जब ताकत मिलती है तो मद में आ जाता है। 
  • नेता जी के साथ बहुत परिवर्तन और उतार चढ़ाव देखा है आज तक मैंने पद नही मांगा । 

  

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2018, 05:14 PM IST

लखनऊ. समाजवादी पार्टी से अलग राह पर चल रहे समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के गठन के बाद शिवपाल सिंह यादव आज लखनऊ में पहली बार किसी कार्यक्रम में पहुंचे। श्रीकृष्ण वाहिनी के राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन में शिरकत करने पहुंचे समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संस्थापक शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि अब हमारा कदम पीछे नहीं हटेगा। हमारे साथ काफी लोग आ गए हैं, पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ के साथ पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य भी हमारे साथ हैं। हम बड़ा कदम बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमको किसी भी काम में चोरी तो बर्दाश्त है लेकिन डकैती नहीं बर्दाश्त है। हम अब लोकसभा में अपने 80 प्रत्याशी उतारने की योजना में लगे हैं।   


इशारे इशारे में अखिलेश पर कसा तंज :  कार्यक्रम में शामिल होने से पहले शिवपाल यादव ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बड़े बयान दिए। शिवपाल ने कहा कि, जितने भी महान लोग हुए है सब पर संकट पड़े हैं। भगवान राम पर भी संकट पड़ा था। समाजवादियों की विशेष नीति थी कि पड़ोसी देशों से अच्छे संबंध हो। रावण को वरदान था कि उसे कोई हरा नही सकता था लेकिन भगवान राम सत्य पर चलते थे। जो लोग सत्य और धर्म पर चलने वाले होते है उनकी जीत होती है। कंस मथुरा का राजा था। आज भी बहुत से कंस पैदा हो जाते हैं। आज भी कंस है। जब धर्म का नाश करने की कोई कोशिश करता है और सत्य पर नही चलता है तो रावण और कंस जैसा हाल होता है। श्री कृष्ण वाहिनी ने समाजवादी सेकुलर मोर्चा का समर्थन किया है।

जो धर्म पर नहीं चलता उसका रावण जैसा होता है हाल : शिवपाल ने कहा कि, धर्म का नाश करने की जो कोशिश करता है सत्य पर जो नही चलता है उसका हाल रावण और कंस जैसा होता है। कही कही दिमाग कुछ गड़बड़ हो जाते है। जब ताकत मिलती है तो मद आ जाता है अभिमान आ जाता है। लोगों को नेता जी के साथ बहुत परिवर्तन और उतार चढ़ाव देखा है आज तक मैंने पद नही मांगा। नेता जी की चिट्ठियां बांटता था संघर्स का दौर था। उस जमाने के राजनैतिक लोगों  में चलूपन नही था। आज पद मिलते ही पैसे कमाना शुरू कर देते है। हम लोग सालों साईकिल चलाते थे।

जीवन में बहुत संघर्ष किया है : आज तो 2 घंटे साईकिल चला देते है तो बड़ा काम हो जाता है। नेता जी और अपने कपड़े कुँए से धुलता था। जीवन में बहुत संघर्ष किया है। बहुत से लोग बिना मेहनत के बहुत कुछ चाहते है मुझे तो अपनी सरकार में ही संघर्ष करना पड़ा। कुछ लोग गलत काम करवाना चाहते थे।  जो लोग धर्म पर नही चलते उनका क्या हश्र होता है  धर्म बचाने के लिए कृष्ण वाहनी का गठन हुआ। मंगलवार शाम को श्रीकृष्ण वाहिनी संस्था की ओर आयोजित राज्य सम्मेलन में पहुंचे शिवपाल सिंह यादव ने साफ लफ्जों में कह दिया है कि अब कदम पीछे नहीं हटेगा।  

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..