उप्र / उद्धव के अयोध्या दौरे से पहले राउत पहुंचे, कहा- कोर्ट नहीं तो जनता की ताकत से बनेगा मंदिर



पत्रकारों से बाचचीत करते सांसद संजय राउत। पत्रकारों से बाचचीत करते सांसद संजय राउत।
X
पत्रकारों से बाचचीत करते सांसद संजय राउत।पत्रकारों से बाचचीत करते सांसद संजय राउत।

  • महाराष्ट्र के चुनाव में राम मंदिर का मुद्दा नहीं रहेगा
  • उद्धव ठाकरे परिवार के साथ कल करेंगे रामलला के दर्शन

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2019, 01:28 PM IST

अयोध्या. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के अयोध्या दौरे की तैयारियाें को अंतिम रूप देने के लिए एक दिन पहले ही सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय राउत पहुंच गए हैं। शिवसेना प्रमुख यहां 18 सांसदों के साथ सपरिवार रविवार को रामलला के दर्शन करेंगे। हालांकि इस बार शिवसेना के सुर बदले हुए हैं। 

 

आमचुनाव के पहले जब शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या आए थे, तब उन्होंने केंद्र सरकार पर मंदिर मुद्दे को लेकर हमलावर रुख अपनाया था। शिवसेना प्रमुख ने अयोध्या में नारा दिया था 'पहले मंदिर फिर सरकार'। पर अबकी बार उनका रूख नरम है। 


महाराष्ट्र चुनाव में राम मंदिर मुद्दा नहीं

सांसद संजय रावत ने शनिवार को कहा कि आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अयोध्या का राम मंदिर मुद्दा नहीं रहेगा। भाजपा और शिवसेना का पैक्ट हिंदुत्व के मुद्दे पर है। यह मुद्दे राजनीतिक और चुनावी नहीं हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिवसेना की भारी जीत में मंदिर मुद्दे की कोई भूमिका नहीं रही। यह चुनाव मंदिर मुद्दे को अलग रख कर जीता गया है।

 

सुप्रीम कोर्ट मंदिर के पक्ष में देगा फैसला
मंदिर प्रकरण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर राउत ने कहा कि कोर्ट मंदिर के पक्ष मे फैसला देगा, इस पर हमें विश्वास है। नहीं तो जनता की अदालत उससे ताकतवर है। वह मंदिर पर फैसला देगी। जनता की ताकत से ही मोदी इतने ताकतवर पीएम बने हैं। उन्हें पूरा भरोसा है कि अगले लोकसभा चुनाव के पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। अगला चुनाव मंदिर पर आखिरी चुनाव होगा। मंदिर पर फैसले की घड़ी करीब है।

 

हिंदुत्व के मुद्दों को शाह निपटा देंगे
संजय ने कहा अमित शाह ताकतवर गृहमंत्री हैं। हिदुत्व के तीन मुद्दे- अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण, धारा 370 और धारा 35 ए की समाप्ति को लेकर लोकसभा का चुनाव लड़ा गया था। शाह तीनों का हल निकाल लेंगे।

 

अब कोई मतभेद नहीं
संजय ने कहा कि अब भाजपा और शिवसेना के बीच कोई मतांतर नहीं है। पिछले अयोध्या दौरे में राम मंदिर को लेकर माहौल गर्म था। पुलवामा आतंकी हमले के बाद नारा बदल गया। यह पहले राष्ट्र फिर मंदिर हो गया था। जिस पर प्रचंड बहुमत मिला। अब यही ताकत राम मंदिर का निर्माण भी करवाएगी। पिछली अयोध्या यात्रा में कहा था कि चुनाव के बाद विजयी सांसदों के साथ रामलला का दर्शन करने आएंगे। यह आस्था का दौरा है, राजनैतिक नहीं है।

 

ढाई घंटे का होगा दौरा
संजय ने बताया कि शिवसेना प्रमुख का रविवार का अयोध्या दौरा केवल ढाई घंटे का होगा। वे सुबह 9 बजे अयोध्या हवाई पट्टी पर प्लेन से उतरेंगे। परिवार और 18 शिवसेना सांसदों के साथ रामलला के दर्शन कर होटल पंचशील में 11 बजे प्रेसवार्ता करेंगे। इसके बाद वापस मुंबई लौट जाएंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना