अमेठी से रिश्तों की डोर को और मजबूत करेंगी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, गौरीगंज के नेता रोड पर होगा नया आशियाना

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्रीय मंत्री और अमेठी से सांसद स्मृति ईरानी - फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
केंद्रीय मंत्री और अमेठी से सांसद स्मृति ईरानी - फाइल फोटो
  • स्मृति के पति जुबिन ईरानी चिन्हित जमीन को देखने पत्नी के साथ गुरुवार को अमेठी पहुंचे थे
  • जुबिन को जिला मुख्यालय के पास गौरीगंज में जमीन पसंद आई, जल्द ही प्लॉट खरीदकर बनेगा घर

अमेठी. लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को पटखनी देने के बाद अब केंद्रीय मंत्री और यहां से सांसद स्मृति ईरानी ने अपना घर बनाने का ऐलान किया है। जिला मुख्यालय गौरीगंज के नजदीक नेता रोड पर जल्द ही उनका नया घर होगा। गुरुवार को स्मृति के पति जुबिन ईरानी चिन्हित जमीन देखने के लिए स्मृति के साथ अमेठी पहुंचे थे। उनके पति को जमीन पसंद भी आ गई है, जिसके बाद जल्द ही जमीन खरीदकर घर का निर्माण शुरू किया जाएगा।

ये भी पढ़े
बापू की पुण्यतिथि पर स्मृति ईरानी बोलीं- शाहीन बाग के मंच से गांधीजी तक को कोसा जा रहा है
दरअस्ल स्मृति ईरानी की इच्छा थी कि अमेठी में उनका आशियाना हो, इसको मूर्त रूप देने के लिए उनके कई करीबी लोग पिछले कई महीने से अमेठी में आवास के लिए जमीन की तलाश कर रहे थे। शहर के नेता रोड पर एक जमीन देखी गई थी। तय हुआ था कि स्मृति के पति जुबिन ईरानी के पसंद करने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

एक दिवसीय दौरे पर गुरुवार को आईं थी अमेठी
30 जनवरी को अपने संसदीय क्षेत्र के एक दिवसीय दौरे पर स्मृति ईरानी अमेठी पहुंची थीं। इस दौरान उनके साथ पति जुबिन ईरानी भी नेता रोड पहुंचे और चिन्हित जमीन का बारीकी से निरीक्षण किया। स्मृति के निजी सचिव विजय गुप्ता ने बताया कि चिन्हित जमीन जुबिन ईरानी को पसंद आई है। उन्होंने जल्द ही इसे खरीदकर कर आवास बनवाने की प्रक्रिया शुरू करने की इच्छा जताई है।

अमेठी सांसद स्मृति ईरानी ने पिछले लोकसभा चुनाव में जनता से वादा किया था कि यदि वे अमेठी से सांसद चुनी गईं तो वे लोगों की सुविधा के लिए जिला मुख्यालय पर अपना घर बनवाएंगी। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले स्मृति ईरानी ने जामो रोड स्थित एक मकान में किराए पर रहकर लोकसभा चुनाव सम्पन्न कराया था। स्मृति जब भी अमेठी आती हैं, यहीं रुकती हैं और सुबह-शाम लोगों की समस्या भी सुनती हैं।