यस बैंक संकट / अखिलेश ने कहा- नोटबंदी कर पैसा बैंक में डलवाया, मांगने पर ठेंगा दिखाया; प्रिंयका बोलीं- अर्थव्यवस्था की बर्बादी का 'यस'

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व सीएम अखिलेश यादव कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व सीएम अखिलेश यादव
X
कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व सीएम अखिलेश यादवकांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी और पूर्व सीएम अखिलेश यादव

  • अखिलेश ने कहा- क्रोनोलॉजी को समझने की जरुरत है, पहले गरीबों का खाता खुलवाया गया फिर उनका पैसा जमा करवाया गया
  • प्रिंयका गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था को भाजपा सरकार की नीतियों ने बर्बाद किया 

दैनिक भास्कर

Mar 06, 2020, 06:56 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने यस बैंक संकट को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। अखिलेश ने आरोप लगाया है कि नोटबंदी कर लोगों का पैसा पहले बैंक पहुंचाया गया और फिर उन्हें दोस्तों के साथ मिल बांटकर खाया गया। आम आदमी जब अपना पैसा निकालने पहुंचा तो एस की जगह नो कहकर ठेंगा दिखाया दिया गया है। वहीं प्रियंका गांधी ने कहा है कि यस बैंक संकट देश की अर्थव्यवस्था की बर्बादी का 'यस' और प्रगति का 'नो' है।

अखिलेश यादव ने टि्वट किया, ''क्रोनोलॉजी को समझिए: पहले गरीबों का खाता खुलवाया गया फिर उनका पैसा जमा करवाया गया, नोटबंदी में सबका पैसा बैंक पहुँचाया गया फिर वहां से निकालकर अमीर दोस्तों के साथ बाँटकर खाया गया फिर उन्हें फुर्र करवाया गया और जब लोग अपना पैसा निकालने बैंक गये तो YES की जगह NO का ठेंगा दिखाया गया।''

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्र सरकार को घेरा 

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी यस बैंक संकट को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था को भाजपा सरकार की नीतियों ने बर्बाद किया है। उन्होंने सवाल किया गया है कि क्या अर्थव्यवस्था की इस लचर हालत में भारतीय अर्थव्यवस्था पांच ट्रिलियन के लक्ष्य को छू पाएगी। उन्होंने कहा है कि भाजपा सरकारी की देन अर्थव्यवस्था की बर्बादी का यस और प्रगति को नो। 

 वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने लोगों को दिलाया भरोसा

वित्तमंत्री ने कहा है कि यस बैंक को बचाने के लिए सरकार और आरबीआई साथ काम कर रहे हैं। वित्त मंत्री ने हर खाताधारक को भरोसा दिलाया कि उनका पैसा सुरक्षित है और वे लगातार आरबीआई के संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बैंक के लिए जल्द ही रिजोल्यूशन प्लान लेकर आएगी। सीतारमण ने कहा कि पिछले दो महीनों से वह व्यक्तिगत रूप से स्थिति को देख रही हैं। अभी लिए गए निर्णय सभी के हित में हैं। उन्होंने कहा कि वह आरबीआई से बात करेंगी कि यस बैंक के जमाकर्ताओं को नकदी की समस्या का सामना न करना पड़े। 

यस बैंक से खाताधारक अधिकतम 50 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे
आरबीआई ने यस बैंक से पैसा निकालने की ऊपरी सीमा निर्धारित कर दी है। अब बैंक के खाताधारक अधिकतम 50 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे। यस बैंक की आर्थिक स्थिति में गंभीर गिरावट आने के बाद रिजर्व बैंक ने 30 दिन के लिए उसके बोर्ड का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया है। एसबीआई के पूर्व डीएमडी और सीएफओ प्रशांत कुमार को बैंक का प्रशासक बनाया गया है। 
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना