--Advertisement--

शिक्षक दिवस पर वित्तविहीन महिला शिक्षकों ने कराया मुंडन, गर्भवती महिला शिक्षक के पेट पर पुलिस ने भांजी लाठियां; सीएम बोले- वो चाहते हैं कि उन्हें बिना परीक्षा पास किए ही शिक्षक बना दिया जाए

आरोप है कि पुलिस ने एक गर्भवती महिला पर भी जम कर लाठियां भांजी।

Danik Bhaskar | Sep 05, 2018, 08:17 PM IST
लखनऊ. शिक्षक दिवस के मौके पर एक तरफ सीएम योगी आदित्यनाथ लोक भवन में शिक्षकों को सम्मानित कर रहे थे तो दूसरी तरफ जीपीओ पर माध्यमिक वित्त विहीन शिक्षक धरना देकर भिक्षक दिवस मना रहे थे। इनमे से एक महिला शिक्षक ने विरोध में अपने बाल मुंडवाए और भीख मांगी जबकि शाम को इको गार्डन पर बीएड टीईटी 2011 शिक्षकों पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया। आरोप है कि पुलिस ने एक गर्भवती महिला पर भी जम कर लाठियां भांजी। जिससे वह सड़क पर कराहती रही। इन सबके दौरान शिक्षक दिवस के मौके पर सीएम योगी का एक बयान आया जिसमे उन्होंने कहा कि जो लोग धरना प्रदर्शन कर रहे हैं वो चाहते हैं कि उन्हें बिना परीक्षा पास किए ही शिक्षक बना दिया जाए। यह उनके पिछले जन्म का कर्म है। जिसमे उन्हें इस जीवन में भी धरना प्रदर्शन करने को लिख दिया गया है। भगवान् ने उनको बनाया ही इस बात के लिए ही है। भगवान् ने उनसे कहा ही कि जीवन भर धरना प्रदर्शन करते रहो और सिर मुंडवाते रहो। इसके अलावा और कोई कार्य न करना।
क्या है मामला: माध्यमिक वित्त विहीन शिक्षक कई दिनों से इको गार्डन में अपना धरना प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इसलिए उन्होंने शिक्षक दिवस के दिन भिक्षक दिवस मनाने की ठानी और सुबह ही जीपीओ पहुंच गए। यहां पुरुषों के साथ महिलाओं ने भी मुंडन कराया और भिक्षा मांगी। मुंडन कराने वाली महिला रेनू ने बताया कि सर से निकाले गए बालों को बेच कर और भीख मांग कर जो धन इकठ्ठा होगा वह यूपी सरकार को भेजेंगी, जो उन्हें मानदेय तक नहीं दे सकती है।
गर्भवती पर चली लाठियां: वहीं इको गार्डेन पर बीएड टीईटी 2011 शिक्षक अपनी मांगों को लेकर इकठ्ठा हुए। जहां पर पुलिस ने उन पर लाठी चार्ज कर दिया। आरोप है कि पुलिस ने एक गर्भवती महिला पर भी लाठियां चलायी जिससे उसके पेट में चोट लग गयी और वह बीच सड़क छटपटाती रही। इनकी भर्तियां भी अधर में अटकी हुई है।
सोशल मीडिया में वायरल हुआ सीएम का बयान: वहीं सीएम का शिक्षकों पर दिया गया बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। आपको बता दे कि इससे पहले भी सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश के युवाओं की क्षमता पर सवाल उठा चुके हैं। उन्होंने आज भी शिक्षकों को सख्त सन्देश देते हुए कहा कि कुछ लोग सिर मुंडवाकर प्रदर्शन कर रहे हैं। वो चाहते हैं कि उन्हें बिना परीक्षा पास किए ही शिक्षक बना दिया जाए।