पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बहन को सरकारी नौकरी और परिवार को शस्त्र लाइसेंस का भरोसा, परिजन ने पीड़ित को खेत में दफनाया

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परिवार मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़ा था, कमिश्नर के आश्वासन पर अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए
  • 90% झुलसी पीड़ित ने शुक्रवार रात 11.40 बजे कार्डियक अरेस्ट के बाद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया था
  • 3 दिसंबर को जमानत पर छूटे गैंगरेप के आरोपियों ने गुरुवार तड़के उसे जला दिया था, लखनऊ से एयरलिफ्ट करके उसे दिल्ली ले जाया गया था
Advertisement
Advertisement

उन्नाव. दुष्कर्म पीड़ित का शव शनिवार देर शाम पुलिस सुरक्षा में दिल्ली से उसके घर पहुंचा। रविवार सुबह कमिश्नर मुकेश मेश्राम और आईजी एसके भगत ने सरकार की ओर से परिवार को शस्त्र लाइसेंस और पीड़ित की बहन को सरकारी नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया, इसके बाद परिजन शव के अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुए। कड़ी सुरक्षा के बीच पीड़ित का शव अंतिम संस्कार स्थल तक ले जाया गया। कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और मंत्री कमला रानी वरुण उन्नाव दुष्कर्म पीड़ित के अंतिम संस्कार में शामिल हुए।


इससे पहले पीड़ित की बड़ी बहन ने कहा था कि मेरी बहन पहले ही जल चुकी है। अब उसे फिर नहीं जलाया जाएगा। उसके शव को कुसहा गांव में खेत में दफनाया जाएगा। इससे पहले पीड़ित का शव पहुंचने के बाद आसपास के गांवों के लोग भी श्रद्धांजलि देने उसके घर पहुंचे थे। पीड़ित के घर करीब 200 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था।

आरोपियों के घर में सन्नाटा है, केवल महिलाएं मौजूद
90% झुलसी पीड़ित ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुक्रवार रात 11.40 बजे कार्डियक अरेस्ट के बाद दम तोड़ दिया था। मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पीड़ित के शरीर में जहर या दम घुटने के संकेत नहीं मिले। गंभीर रूप से जलने से उसकी मौत हुई। वहीं, आरोपियों के घरों में सन्नाटा है। यहां केवल महिलाएं ही नजर आईं। उनकी मांग है कि इस मामले की सीबीआई जांच कराई जाए।

पिता ने कहा- क्या 25 लाख में मेरी बेटी वापस आ जाएगी?
उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने पीड़ित परिवार को 25 लाख का चेक सौंपा। पीड़ित के पिता ने कहा- क्या 25 लाख में मेरी बेटी वापस आ जाएगी। हालांकि लोगों के समझाने पर परिवार ने चेक ले लिया। सपा नेताओं ने 50 लाख रुपए देने की मांग की, तो स्वामी ने जवाब दिया कि सपा ने बदायूं गैंगरेप में पीड़िताओं को कोई मदद नहीं दी थी। उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही बोल चुके हैं कि केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा।

जमानत पर छूटे आरोपियों ने गुरुवार को जला दिया था
जमानत पर छूटे दुष्कर्म के आरोपियों ने पीड़ित को गुरुवार तड़के जला दिया था। जलते शरीर के साथ ही एक किमी तक भागकर उसने लोगों की मदद से पुलिस को आपबीती बताई थी। गुरुवार देर शाम उसे एयरलिफ्ट कर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया था। डॉ. गुप्ता ने बताया था, ‘‘अस्पताल पहुंचने के बाद पीड़ित पूछ रही थी कि वह बच तो पाएगी? वह जीना चाहती थी। उसने अपने भाई से कहा था कि उसके गुनहगार बचने नहीं चाहिए।’’ पांचों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए थे। इनमें से दो वही हैं, जिन्होंने उसके साथ दुष्कर्म किया था। 

भाई से वादा लिया था- गुनहगारों को मत छोड़ना
जब पीड़ित सफदरजंग अस्पताल में शिफ्ट की गई थी, तो वह होश में थी। दर्द से कराहते हुए उसने अपने भाई से कहा- मैं मरना नहीं चाहती। पीड़ित ने अपने भाई से वादा भी लिया कि उसके गुनहगारों को मत छोड़ना। हालांकि, उसके बाद वह कुछ बोल नहीं पाई।

प्रत्यक्षदर्शी ने कहा था कि पीड़ित को देखकर डर गया था
पीड़ित को जलाने के बाद आरोपी मौके से भाग गए। इस घटना के प्रत्यक्षदर्शी रविन्द्र ने बताया था कि वह दूर से दौड़ती आ रही थी। वह चीख रही थी- बचाओ-बचाओ। मैंने पूछा भी कि तुम कौन हो? उसके पूरे शरीर में आग लगी हुई थी। यह देखकर मैं डर गया। मुझे लगा कि कोई भूत है। मैं घर से डंडा और कुल्हाड़ी लेकर उसके सामने गया। फिर उसने अपने पिता का नाम बताया। फिर पुलिस हेल्पलाइन डायल कर पीड़ित के बारे में बताया। पीड़ित ने पुलिस को पूरी बात बताई, फिर पुलिस उसे लेकर गई।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement