--Advertisement--

शाहजहांपुर: चुनावी रंजिश के चलते दो गुटों में चली 25 राउंड गोलियां; तीन की मौत, एक घायल

दहशत ऐसी कि आधे घंटे तक डेड बॉडी के पास कोई नहीं गया

Danik Bhaskar | Sep 07, 2018, 11:25 AM IST

शाहजहांपुर. रात 8.30 बजे आवास विकास कालोनी में अचानक गोलियों की आवाज सुनाई दी। लोगों ने घरों से बाहर निकल कर देखा तो दो पक्षों में आमने-सामने से फायरिंग हो रही थी। इसमें मौके पर ही एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि दो लोगों को अस्पताल में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं, एक व्यक्ति को गंभीर हालत में बरेली रेफर किया गया है।

क्या है मामला: मुशीर(40) का इमरान से तीन दिन पहले पुरानी चुनावी रंजिश को लेकर विवाद हुआ था। गुरुवार को मुशीर अपने घर के बाहर मैदान में खड़ा था जहां इमरान अपने भाई इसरार के साथ आ गया। उसके साथ उसके कई साथी थे और उनके पास असलहे थे। बातचीत शुरू हुई तो वह बहस में बदल गयी और फायरिंग शुरू हो गयी। इससे मुशीर के सिर में गोली लगी उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। हल्ला सुनकर मुशीर के साथ के लोग भी आ गए। गोलाबारी में इमरान और इसरार को भी गोली लगी साथ ही उनके एक साथी सोनू को भी गोली लगी। अस्पताल पहुंचने पर इमरान और इसरार को मृत घोषित कर दिया गया। जबकि सोनू को बरेली रेफर किया गया। वहीं, आसपास रहने वालों का कहना है कि 15 मिनट में 25 राउंड गोलियां चली होंगी। हालात यह थे कि मुशीर मर गया था लेकिन आधे घंटे तक उसकी डेड बॉडी के पास कोई गया नहीं।

सपा जिलाध्यक्ष का ममेरा भाई है मृतक मुशीर: मुशीर के बारे में बताया जा रहा है कि वह सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खां का ममेरा भाई है। सूचना पाकर वह भी मौके पर पहुंचे। दरअसल, तनवीर खां तीन बार नगरपालिका के चेयरमैन रह चुके हैं। मुशीर उनके साथ ही रहता था। पिछली बार हुए नगरपालिका चुनाव में तनवीर खां ने अपनी मां को चुनाव लड़ाया था जबकि इमरान दूसरी पार्टी से था। इस बात को लेकर मुशीर से उसकी पटती नहीं थी। इमरान का प्रत्याशी भी हार गया था। वही रंजिश अभी तक चली आ रही थी।

क्या कहना है पुलिस का: एसपी एस चिनप्पा का कहना है कि फायरिंग में तीन लोगों की गोली लगने से मौत हो गई है। एक युवक घायल है। मामले मे परिजनों से पूछताछ की जा रही है। अभी तक कोई कारण स्पष्ट नही हो पाया है। जल्द ही दोषियों को गिरफ्तार किया जाएगा।