--Advertisement--

ट्रिपल तलाक पीड़िता रजिया की मौत, पति ने एक महीने तक कमरे में बंद करके भूखा-प्यासा रखा था

रजिया का एक 6 साल का बेटा भी है।

Danik Bhaskar | Jul 11, 2018, 11:14 AM IST

बरेली. तीन तलाक पीड़िता रजिया की इलाज के दौरान मंगलवार को मौत हो गई। रजिया के पति और उसके ससुराल वालों पर उसे एक कमरे में बंद करके भूखे-प्यासे रखने का आरोप है। रजिया को उसके पति ने फोन पर तीन तलाक़ देने के बाद एक महीने तक घर मे कैद करके भूखा-प्यासा रखा था। जिसके बाद उसके मायके वालों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया था और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। रजिया का एक 6 साल का बेटा भी है।

- रजिया का जिला अस्पताल में कई दिनों तक इलाज चला। जब उसकी हालत ज्यादा खराब हो गई तो उसे लखनऊ रेफर किया गया लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। रजिया की बहन का कहना है कि वो इंसाफ चाहती है लेकिन पुलिस से कोई मदद नहीं मिल रही है।

2005 में हुआ था निकाह: स्वालेनगर में रहने वाली रजिया निकाह 13 साल पहले 2005 में पड़ोस के मोहल्ले कटघर के नईम से हुई थी। नईम शादी के कुछ दिनों बाद से ही उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगा था। रजिया को आये दिन मारना पीटना, भूखा रखना फिर भी रजिया सब कुछ सहकर भी अपनी ससुराल में ही रही और डेढ़ महीने पहले रजिया के पति ने दिल्ली से उसे फोन पर तीन तलाक दे दिया। दिल्ली से लौटने के बाद जब उसने रजिया को अपने ही घर पर देखा तो वो आग बबूला हो गया कहा तलाक़ देने के बाद भी तुम अपने मायके नहीं गई। जिसके बाद उसने उसे एक कमरे में कैद करके भूखा रखा और जब इसकी भनक रजिया के मायके वालों को लगी तो उन्होंने उसे तलाकशुदा पति की कैद से मुक्त करवाया। लेकिन रजिया तब तक हड्डियों का ढांचा बन चुकी थी। रजिया की मदद केंद्रीय मंत्री की तलाक़शुदा बहन फरहत नक़वी ने की।