न्यूज़

--Advertisement--

उन्नाव रेप केस : इस मंदिर के पास लड़की को 5 दिन तक करके रखा था कैद, किया था गैंग रेप

उन्नाव के माखी गांव से... पीड़िता के पिता काे विधायक के भाई ने घर से 200 मीटर दूर चौराहे पर लाठियों से पीटा था

Dainik Bhaskar

Apr 14, 2018, 01:31 AM IST
विधायक के घर पर शनिवार को समर्थकों का जमावड़ा लगा था। हालांकि परिवार का कोई सदस्य घर पर नहीं था। सीबीआई टीम भी घर पहुंची थी। विधायक के घर पर शनिवार को समर्थकों का जमावड़ा लगा था। हालांकि परिवार का कोई सदस्य घर पर नहीं था। सीबीआई टीम भी घर पहुंची थी।

उन्नाव. उन्नाव का माखी गांव जिला मुख्यालय से करीब 10 किमी दूर है। 12 हजार गांव की आबादी है। उन्नाव दुष्कर्म कांड की पीड़िता और आरोपी भाजपा विधायक विधायक कुलदीप सेंगर इसी गांव के रहने वाले हैं। दोनों के घर महज 100 मीटर की दूरी पर हैं। पीड़िता के घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर गांव का ही चौराहा है। यहीं पर 3 अप्रैल की शाम को दुष्कर्म पीड़िता के पिता को विधायक के भाई अतुल सिंह से घर से घसीटते हुए लाकर पिटाई की थी। जिनकी बाद में 9 अप्रैल को मौत हो गई थी। विधायक को चरित्रहीन नहीं कहेगा...

- भास्कर ने माखी गांव में लोगों से बात की तो लोगों ने विधायक को दबंग तो बताया, पर दुष्कर्म करने की घटना को सही नहीं माना। लोग कहते हैं, विधायक जी किसी को मरवा तो सकते हैं, पर दुष्कर्म नहीं कर सकते हैं।
- विधायक के घर से 100 मीटर दूर एक घर के बाहर बुजुर्ग चारपाई पर बैठे हुए हैं।

- कहते हैं कि पीड़िता के पिता को मारते हुए सभी ने देखा। उन्हें पहले गांव में पीटते हुए घुमाया। फिर चौराहे लाठियों से पीटा। वो असहाय होकर बस गाली दे रहा थे।
- माखी चौराहे पर एक युवक ने कहा कि पूरे गांव में किसी से भी पूछ लीजिए कोई विधायक को चरित्रहीन नहीं कहेगा।

- कुछ युवकों ने बताया कि कुलदीप के भाई अतुल सिंह और मनोज सिंह हैं। दोनों विधायक के बलबूते गुंडई करते हैं।

- 2012 में कुलदीप ने विधायकी जीतने के बाद एक जर्नलिस्ट जो उनके खिलाफ लिखता था, उसे सरे बाजार पीटा था।

क्या है पूरा मामला

- मामला पिछले साल 4 जून का है। 17 साल की किशोरी की मां ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर समेत कुछ लोगों के खिलाफ रेप की शिकायत की थी।
- 3 अप्रैल को विधायक के भाई अतुल ने मुकदमा वापस लेने का दबाव बनाया।
- 8 अप्रैल रविवार को पीड़िता ने परिवार समेत मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया था।।
- 9 अप्रैल को पीड़िता के पिता की उन्नाव जेल में मौत हो गई। महिला ने उन्नाव में परिवार के खिलाफ कई झूठे मुकदमे दर्ज कराए जाने का भी आरोप लगाया था।
- मामले में माखी थाने के एसओ समेत 6 कॉन्स्टेबल पहले ही सस्पेंड किए जा चुके हैं।

विधायक कुलदीप सेंगर को हिरासत में लेने के बाद सीबीआई के लखनऊ स्थित आॅफिस ले जाया गया। विधायक कुलदीप सेंगर को हिरासत में लेने के बाद सीबीआई के लखनऊ स्थित आॅफिस ले जाया गया।
मामले में पीड़िता ने की थी विधायक कुलदीप की गिरफ्तारी की मांग। -फाइल मामले में पीड़िता ने की थी विधायक कुलदीप की गिरफ्तारी की मांग। -फाइल
पीड़िता के पिता के साथ मारपीट के आरोप में विधायक का भाई अतुल पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। -फाइल पीड़िता के पिता के साथ मारपीट के आरोप में विधायक का भाई अतुल पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। -फाइल
X
विधायक के घर पर शनिवार को समर्थकों का जमावड़ा लगा था। हालांकि परिवार का कोई सदस्य घर पर नहीं था। सीबीआई टीम भी घर पहुंची थी।विधायक के घर पर शनिवार को समर्थकों का जमावड़ा लगा था। हालांकि परिवार का कोई सदस्य घर पर नहीं था। सीबीआई टीम भी घर पहुंची थी।
विधायक कुलदीप सेंगर को हिरासत में लेने के बाद सीबीआई के लखनऊ स्थित आॅफिस ले जाया गया।विधायक कुलदीप सेंगर को हिरासत में लेने के बाद सीबीआई के लखनऊ स्थित आॅफिस ले जाया गया।
मामले में पीड़िता ने की थी विधायक कुलदीप की गिरफ्तारी की मांग। -फाइलमामले में पीड़िता ने की थी विधायक कुलदीप की गिरफ्तारी की मांग। -फाइल
पीड़िता के पिता के साथ मारपीट के आरोप में विधायक का भाई अतुल पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। -फाइलपीड़िता के पिता के साथ मारपीट के आरोप में विधायक का भाई अतुल पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। -फाइल
Click to listen..