--Advertisement--

RakhiWithKhaki: डीजीपी ने 'प्रेम निवास' में बंधवाई राखी, बहनों ने कहा- धन्यवाद अगले साल फिर इंतज़ार करेंगे भईया

रविवार को यूपी के हर थाने और पुलिस चौकी पर रक्षाबंधन राखीविथखाकी के स्लोगन के साथ मनाया गया।

Danik Bhaskar | Aug 27, 2018, 12:22 PM IST
डीजीपी खुद राजधानी के दो अलग-अ डीजीपी खुद राजधानी के दो अलग-अ

लखनऊ. डीजीपी ओपी सिंह के निर्देशन में रविवार को यूपी के हर थाने और पुलिस चौकी पर रक्षाबंधन का पर्व 'राखीविथखाकी' के स्लोगन के साथ मनाया गया। डीजीपी खुद राजधानी के 'आशा ज्योति केन्द्र‘ और मदर टेरेसा फाउंडेसन द्वारा संचालित 'प्रेम निवास' में रह रही महिलाओं से राखी बंधवाने पहुंचे। मदर टेरेसा जयंती के दिन पड़ने वाले रक्षाबंधन पर्व को खास बनाने के लिए डीजीपी सप्रू मार्ग स्थित 'प्रेम निवास' पहुंचे। निवास में आश्रय पाए 190 बेसहाराओं के बीच करीब एक घंटे रहे। महिला-बच्चों से राखी बंधवाई और उनको गिफ्ट में फल-मिठाई भेंट की। डीजीपी के जाते समय मदर टेरेसा की महिलाओं ने कहा- थैंक्यू भईया अगले साल फिर आपका इंतजार करेंगे।

डीजीपी ने सुरक्षा-सम्मान का दिया भरोसा: डीजीपी ओपी सिंह ने इस अवसर पर महिलाओं, बच्चों से बात की और उनसे कई सवाल भी पूछे। डीजीपी ने प्रदेश के समस्त महिलाओं की सुरक्षा एवं सम्मान का भरोसा दिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा, आज प्रदेश के समस्त जनपदों के पुलिसकर्मियों द्वारा महिलाओं एवं बच्चियों से राखी बंधवाई गई एवं महिलाओं की सुरक्षा में आगे रहने के लिए संकल्प लिया गया।


महिलाओं की सुरक्षा एवं काउंसलिंग के लिए कार्यशाला का होगा आयोजन: डीजीपी ने कहा- महिलाओं के अपराधों में कमी आई है और निकट भविष्य में महिलाओं की सुरक्षा एवं काउंसलिंग के लिए एक कार्ययोजना तैयार की जा रही है। हमने यह मुहिम इसलिए चलाई है कि हमारी यह प्राथमिकता है कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करें। वैसे तो प्रत्येक नागरिक का दायित्व है कि महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करे और महिलाओं के बारें में सोंचें लेकिन हम जब खाकी पहन लेते हैं तो हमारा दायित्व और भी बढ़ जाता है। हमने निश्चय किया कि राखी जिस प्रकार प्रकार सुरक्षा का प्रतीक है, उसी प्रकार खाकी बहुत बड़े सुरक्षा के माहौल का प्रतीक है। खाकी न केवल राखी के दिन बल्कि हमेशा सुरक्षा की भावना पैदा करे यही मुहिम का उद्देश्य है।