बरेली / 10 साल से बंद कच्चे मकान को गिराते समय विस्फोट; तीन सगे भाई घायल



मलबे के बीच विस्फोटक की जांच करते पुलिसकर्मी। मलबे के बीच विस्फोटक की जांच करते पुलिसकर्मी।
X
मलबे के बीच विस्फोटक की जांच करते पुलिसकर्मी।मलबे के बीच विस्फोटक की जांच करते पुलिसकर्मी।

  • फरीदपुर थाना इलाके नगरिया विक्रम गांव का मामला
  • जांच में बारूद व सुतली के साक्ष्य मिले

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 01:34 PM IST

बरेली. नगरिया विक्रम गांव में कच्चा मकान गिराते समय हुए विस्फोट में तीन भाई गंभीर रुप से घायल हो गए। एक की हालत गंभीर है। धमाके की गूंज एक किलोमीटर दूर तक लोगों को सुनाई दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल भिजवाया। जांच के दौरान पुलिस को मौके से बारूद व सुतली मिली है। पुलिस इस बात की जांच में जुटी है कि बंद मकान में विस्फोट कहां से आया?

दस सालों से बंद था मकान
फरीदपुर थाना क्षेत्र के नगरिया विक्रम निवासी 20 वर्षीय दिवाली के माता-पिता की करीब 10 वर्ष पूर्व मौत हो चुकी है। दिवाली अपने छोटे भाई सहित अपनी ननिहाल में पचौमी गांव में रहने लगा था। बच्चे बड़े हुए तो दरबारी गांव वापस लौटने के लिए कच्चा मकान गिराकर उसे नए सिरे से बनवाना चाहते थे। मंगलवार को दरबारी लाल और उनके भाई शिवा व नन्हे गांव पहुंचे और कच्चा मकान गिराना शुरू कर दिया। दोपहर में अंदर कमरे की दीवार गिरते ही अचानक तेज धमाके के साथ विस्फोट हो गया। इससे दरबारी लाल, उनके भाई शिवा और नन्हे गंभीर रूप से झुलस गए। धमाके की आवाज सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे और तीनों भाइयों को बाहर निकाला।

 

मामले की जांच जारी

सूचना पर कोतवाल सतीश कुमार सिंह, सीओ रामाशंकर राय, फील्ड टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने तीनों घायलों को इलाज के लिए निजी अस्पताल भिजवाया। सीओ ने फील्ड यूनिट टीम के साथ मौके पर साक्ष्य एकत्र किए। घटनास्थल से सुतली के कई टुकड़े बरामद किए गए। वहीं बारूद के निशान भी पाए गए हैं। मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना