उप्र / बरेली में सुरमा बेचने वाले बुजुर्ग ने 32 साल पुरानी बाइक को हाइटेक बनाया, इशारे पर काम करती है



X

  • बाइक में एटीएम, पंखा, साउंड सिस्टम लगा हुआ है, वॉयस कमांड पर स्टैंड पर चढ-उतर जाती है
  • 80 साल के मो. सहीद ने बाइक में खुद यह बदलाव किए, बोले- कारोबार में भी मिलती है मदद

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 04:25 PM IST

बरेली. हुनर और शौक किसी उम्र या डिग्री का मोहताज नहीं होता। इस बात को बरेली के रहने वाले 80 साल के मोहम्मद सहीद ने सच कर दिखाया। सहीद गली-गली घूमकर सुरमा बेचते हैं। लेकिन इन दिनों सुरमा से ज्यादा सहीद की बाइक 'टॉर्जन' चर्चा में है। यह बाइक इशारों पर काम करती है।

 

साल 1987 मॉडल की है बाइक, अनपढ़ सहीद ने हुनर से बनाया खास

  1. सहीद की यह बाइक करीब 32 साल पुरानी हैं, जिसे असेंबल करके उन्होंने हाइटेक बनाया है। इस बाइक पर 'एटीएम', पंखा, साउंड सिस्टम जैसे उपकरण लगे हैं। सहीद की एक आवाज पर बाइक गाना सुनाने लगती है। इशारे से बाइक खुद स्टैंड पर चढ़-उतर जाती है। बाइक में सेल्फ स्टार्ट सिस्टम भी लगा है।

  2. सुरमा कारोबारी सहीद ने कोई शिक्षा हासिल नहीं की। सहीद बताते हैं, 'आधुनिक बन चुकी टार्जन बाइक 1987 मॉडल की सूरज मोटर साइकिल है। सहीद ने बाइक को इस तरह बैलेंस किया है कि ये न सिर्फ उसे हाथ छोड़ कर चला सकते हैं, बल्कि उस पर स्टंट भी कर लेते हैं।

  3. बाइक में एटीएम भी है, जो एक बार चेहरे को पहचान कर वॉयस कमांड यानी आवाज से रुपए दे देती है। यहां तक कि दोबारा मांगने पर भी बिल्कुल सही सही रुपए (सिक्के) के रुप में देती है। इसमें सेंसर सिस्टम लगाया गया है।

  4. सहीद ने यह बदलाव अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए किए थे, वो अलग अलग शहर के दूरदराज जगह जाकर सुरमा बेचते हैं। उनकी अनोखी बाइक देख कर लोगों की भीड़ लग जाती है। इससे सुरमा भी बिकता है और बाइक की भी चर्चा होती है। सहीद कहते हैं जो कि भी उनकी बाइक को देखता है वह उसकी तारीफ करता है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना