पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

केंद्रीय मंत्री मुख्तार नकवी की बहन को देश छोड़ने की धमकी देने वाला \'चोटी कटवा\' गिरफ्तार

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।
  • मेरा हक फाउंडेशन अध्यक्ष फरहत नकवी को काफिर बताकर देश छोड़ने के लिए जारी किया था फतवा
  • फरहत ने दर्ज कराया था केस, रविवार को थाने में महिलाओं ने किया था प्रदर्शन

बरेली. किला पुलिस ने सोमवार रात फैजाने मदीना कौंसिल के अध्यक्ष मोइन सिद्दीकी \'चोटीकटवा\' को गिरफ्तार कर लिया। मोइन ने शनिवार को प्रेस कॉफ्रेंस कर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन व मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी व निदा खान को तीन दिन के भीतर देश छोड़ देने की धमकी दी थी। इस बाबत उसने फतवा जारी किया था। उन्हें मुसलमान न होने की बात कही। 

ये भी पढ़ें
घर में अकेली किशोरी के साथ दुष्कर्म, पीड़िता की हालत नाजुक, आरोपी फरार
 

एक साल पहले चोटी काटने का किया था ऐलान
फरहत ने किला पुलिस को बताया था की उन्हें जान का खतरा है। उनके साथ कभी भी कोई अप्रिय घटना हो सकती है। एक साल पहले चोटी काटने पर 12 हजार रूपये का इनाम रखा था और जान से मारने की धमकी भी दी थी। तब से वह खुलेआम घूम रहा था। किला पुलिस ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर घर में दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया।

रविवार को महिलाओं ने किया था प्रदर्शन 

  • चोटीकटवा मोइन सिद्दीकी का एक वीडियो वायरल होने के बाद मेरा हक फाउंडेशन की अध्यक्ष फरहत नकवी रविवार को थाना किला पहुंची थीं। उनके साथ कई अन्य महिलाएं भी थीं। डेढ़ साल पहले दर्ज कराई गई एफआईआर पर अब तक कोई कार्रवाई न होने से नाराज महिलाओं ने प्रदर्शन किया था। फरहत नकवी की इंस्पेक्टर से तीखी नोकझोंक हुई। जिसके बाद वह महिलाओं के साथ थाना परिसर में ही धरने पर बैठ गईं।
  • फरहत ने कहा कि चोटीकटवा के खिलाफ उन्होंने डेढ़ साल पहले एफआईआर दर्ज कराई थी जिस पर अब तक पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया है। यही वजह है कि चोटी कटवा उन्हें अब फिर धमकियां देने लगा है। इंस्पेक्टर ने कहा कि पुलिस कोर्ट से चोटीकटवा का वारंट जारी कराने की कार्रवाई की जा रही है। फरहत नकवी ने देर रात किला थाने में मोइन सिद्दीकी उर्फ चोटी कटवा के खिलाफ एक और तहरीर दे दी।
  • फरहत का कहना था कि डेढ़ साल पहले उनकी चोटी काटने पर मोइन सिद्दीकी ने 11 हजार इनाम की घोषणा की थी। इस मामले में रिपोर्ट के बाद भी पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में वह तीन दिन के अंदर उन्हें देश से निकालने का एलान कर रहा है। कह रहा है कि वे मुसलमान ही नहीं हैं, उन्हें काफिर बता रहा है। आनन-फानन में पुलिस की एक टीम बनाकर उसे चोटी कटवा की गिरफ्तारी की जिम्मेदारी भी सौंप दी गई। रविवार को किला पुलिस ने दबिश देकर चोटीकटवा को गिरफ्तार कर लिया।

 

खबरें और भी हैं...