योगी का प्रियंका गांधी पर तंज; अंगूर खट्टे हैं, इसलिए सुखिर्यों में रहने के लिए कुछ न कुछ बोलना जरूरी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम योगी आदित्यनाथ। - Dainik Bhaskar
सीएम योगी आदित्यनाथ।
  • प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर प्रियंका ने योगी सरकार पर साधा था निशाना
  • शनिवार को डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने भी प्रियंका को अपनी पार्टी की चिंता करने की सलाह दी थी

लखनऊ. उत्तरप्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के ट्वीट का जवाब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अंगूर खट्टे हैं कहकर दिया। योगी ने कहा कहा, उनकी (प्रियंका) पार्टी के अध्यक्ष यूपी से हार गए। इसलिए दिल्ली, इटली या इंग्लैंड में बैठकर उन्हें सुर्खियों में बने रहने के लिए कुछ न कुछ टिप्पणी करनी होगी। इससे पहले शनिवार की रात योगी ने कानून व्यवस्था और विकास की समीक्षा की। उन्होंने स्पष्ट किया कि यदि नाबालिग बच्चियों और महिलाओं के प्रति अपराध नहीं थमे तो कार्रवाई तय है।

 

यह कहा था कांग्रेस महासचिव ने
यूपी में कानून व्यवस्था को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को ट्वीट करके योगी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने लिखा था कि पूरे उत्तर प्रदेश में अपराधी खुलेआम मनमानी करते घूम रहे हैं। एक के बाद एक अपराधिक घटनाएं हो रही हैं। मगर उप्र भाजपा सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रहीं। क्या उत्तरप्रदेश सरकार ने अपराधियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया? वहीं प्रियंका के इस हमले का जवाब देते हुए उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रियंका अपनी पार्टी की चिंता करें, यूपी की चिंता योगी जी कर रहे हैं।  

 

इससे पहले भी सरकार पर बोला था हमला
इससे पहले भी प्रियंका गांधी ने महिलाओं व बच्चियों के साथ हो रहे जघन्य अपराधों को लेकर योगी सरकार पर हमला किया था। प्रियंका ने लिखा था कि, मासूमों के साथ दरिंदगी हो रही है। आदमी को जिंदा जलाया जा रहा है। महिलाएं खौफ में जी रही हैं। लेकिन सत्ता में बैठे लोग यह नहीं देख पा रहे हैं। सरकार महिलाओं व बच्चियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी कब लेगी? प्रियंका ने इस ट्वीट के साथ एक तस्वीर भी साझा की थी। इसमें जून में हुई प्रमुख घटनाओं की हेडलाइन की प्लेट लगाई गई है। प्रियंका ने लिखा की सत्ता की राग दरबारी आंखें कुछ नहीं देख रही हैं। उत्तर प्रदेश सरकार औरतों और बच्चियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी कब लेना शुरू करेगी?

 

उत्तरप्रदेश को लेकर लगातार सक्रिय प्रियंका 

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को पूर्वी यूपी का प्रभारी बनाया था। चुनाव के दौरान प्रियंका ने रैलियां और जनसभाएं कीं। लेकिन, नतीजों में कांग्रेस को कोई फायदा नहीं हुआ। बल्कि अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तक चुनाव हार गए थे।