लोकसभा चुनाव / कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम ने थामा सपा का दामन; राजनाथ सिंह को देंगी टक्कर



डिंपल यादव-पूनम सिन्हा। डिंपल यादव-पूनम सिन्हा।
X
डिंपल यादव-पूनम सिन्हा।डिंपल यादव-पूनम सिन्हा।

  • 18 अप्रैल को नामांकन करेंगी पूनम सिन्हा
  • सपा की उम्मीदवार होंगी पूनम सिन्हा

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 03:56 PM IST

लखनऊ. सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के बाद उनकी पत्नी पूनम सिन्हा ने भी भाजपा छोड़ दी। मंगलवार को पूनम सिन्हा लखनऊ पहुंची और समाजवादी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता हासल की है। उन्होंने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव की मौजूदगी में सपा ज्वॉइन की है। कयास लगाए जा रहे हैं कि भाजपा सांसद व गृहमंत्री राजनाथ सिंह के सामने गठबंधन पूनम सिन्हा को चुनाव लड़ा सकती है। पूनम सिन्हा के नाम का नामांकन पत्र ले लिया गया है और वे 18 अप्रैल की सुबह नामांकन करेंगी। 

भाजपा का मजबूत गढ़ है लखनऊ लोकसभा सीट 

लखनऊ में पांचवें चरण के दौरान 6 मई को मतदान होना है। नामांकन की आखिरी तारीख 18 अप्रैल है। लखनऊ लोकसभा सीट बीते दो दशक से भाजपा का गढ़ कही जाती है। 2007 में अटल के राजनीति से संन्यास लेने के बाद इस सीट से 2009 में लालजी टंडन सांसद बने। उसके बाद 2014 में राजनाथ सिंह यहां से भारी मतों से जीते। मंगलवार को राजनाथ सिंह ने नामांकन दाखिल किया है। नामांकन से पहले राजनाथ ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद व दिनेश शर्मा के साथ जुलूस निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया। अभी तक राजनाथ के सामने कांग्रेस व बसपा-सपा गठबंधन ने अपने-अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं। 

 

शत्रुघ्न सिन्हा ने अखिलेश से की थी मुलाकात

इसके पीछे वजह यह है कि, समाजवादी पार्टी लखनऊ सीट से किसी ऐसे चेहरे को मैदान में उतारने की तैयारी में थी, जो राजनाथ सिंह को टक्कर देता दिखे। पिछले दिनों शत्रुघ्न सिन्हा की सपा मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात भी हुई थी। इस मुलाकात के दौरान पूनम सिन्हा को लखनऊ से टिकट देने की बात तय हुई थी। लेकिन उनके नाम की घोषणा से पहले समाजवादी पार्टी चाहती थी कि पहले शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस में शामिल हो जाएं, ताकि लखनऊ सीट से विपक्ष का एक साझा उम्मीदवार मैदान में हो। 

 

कांग्रेस ने जितिन प्रसाद को दिया था ऑफर

कांग्रेस की तरफ से जितिन प्रसाद को ऑफर भी दिया गया। लेकिन कहा जाता है कि जितिन इसके लिए तैयार नहीं हुए। इसके बाद कांग्रेस ने प्रमोद कृष्णम और हिन्दू महासभा के स्वामी चक्रपाणि महाराज को यहां से लड़ने का ऑफर दिया। लेकिन उन्होंने ने भी मना कर दिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना