शाहजहांपुर / पुलिस ने 13 साल के किशोर को बनाया 'गुंडा', एसडीएम ने मुकदमा निरस्त करने के दिए निर्देश

प्रतीकात्मक। प्रतीकात्मक।
X
प्रतीकात्मक।प्रतीकात्मक।

  • शाहजहांपुर जिले के खुटार पुलिस की अजब करतूत
  • परिवार ने एसडीएम से मिल मांगा इंसाफ

दैनिक भास्कर

Jul 21, 2019, 02:58 PM IST

शाहजहांपुर. खुटार थाना पुलिस ने एक 13 साल के बालक को गुंडा एक्ट में पाबंद कर दिया है। जब कोर्ट से सम्मन घर पहुंचा तो परिजनों को इस बात की जानकारी हुई। उसके बाद परिवार ने बच्चे को एसडीएम के सामने पेश कर आईडी प्रूफ दिखाया। तब एसडीएम ने पुलिस को जल्द मुकदमा निरस्त करने के निर्देश दिए।

 

यह मामला खुटार का है। यहां कक्षा आठ में पढ़ने वाले 13 वर्षीय किशोर पर पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 110 जी के तहत गुंडा एक्ट की धारा में मुकदमा दर्ज किया है। मामला कोर्ट में पहुंचा तो किशोर की पेशी के लिए उसके घर सम्मन भेजा गया। सम्मन देखकर बच्चे का परिवार दहशत में आ गया। परिवार ने बच्चे को एसडीएम सौरभ भट्ट के सामने पेश किया। एसडीएम भी बच्चे पर गुंडा एक्ट की कार्रवाई देखकर चौंक गए। उन्होंने परिवार बच्चे का आधार कार्ड मांगा और बच्चे की मार्कशीट मांगी। जिससे पता चल गया कि बच्चे की उम्र 13 साल ही है। उसके बाद एसडीएम ने तत्काल खुटार पुलिस को मुकदमा निरस्त करने के निर्देश दिए।

 

बच्चे के पिता का कहना है कि जब से बच्चे को पता चला कि है उसके उपर एफआईआर हुई है। तबसे वह काफी सदमे में है। बच्चा बार बार बोल रहा है कि अब जेल जाना पड़ेगा बचा लो। उनका कहना है कि पुलिस की इस कारस्तानी से हम लोगों को बहुत दिक्कत उठानी पड़ी है। थाने के चक्कर लगा रहे है। लेकिन कुछ सुनवाई नहीं हुई है। लेकिन अब एसडीएम ने मुकदमा निरस्त करने के निर्देश दिए। एसडीएम सौरभ भट्ट का कहना है कि बच्चे पर खुटार थाने की पुलिस ने गलत कार्रवाई की है। इसलिए बच्चे पर दर्ज मुकदमा निरस्त करने के निर्देश दिए हैं। मामले की जांच भी होगी।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना