सुल्तानपुर / हत्या के मामले में क्लर्क समेत दो आरोपियों को उम्र कैद, 24 साल बाद परिवार को मिला इंसाफ



प्रतीकात्मक। प्रतीकात्मक।
X
प्रतीकात्मक।प्रतीकात्मक।

  • पुरानी रंजिश में 1995 में हुई थी युवक की हत्या
  • अपर जिला जज चतुर्थ ने सुनाया फैसला, गोसाईगंज थाना क्षेत्र के इटकौली गांव का मामला 

Dainik Bhaskar

Mar 20, 2019, 05:06 PM IST

सुल्तानपुर. 24 साल पहले गोसाईगंज थाना इलाके इटकौली गांव निवासी युवक की हत्या के मामले में अपर जिला जज चतुर्थ ने एक क्लर्क समेत दो आरोपियों के खिलाफ फैसला सुनाया है। जज ने तीनों को दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई है। पांच-पांच हजार रुपए जुर्माना लगाया है। वहीं, कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में एक आरोपी को बरी किया है।

 

गोसाईगंज थाना क्षेत्र के इटकौली गांव निवासी राजेन्द्र कुमार शर्मा का चचेरा भाई अर्जुन शर्मा अपने परिवार वालों के साथ पांच अगस्त 1995 की रात सो रहा था। इसी दौरान कुछ लोग उसके दरवाजे पर आए और टार्च जलाया। अर्जुन शर्मा ने मना किया तो उन लोगो ने अर्जुन को गोली मार दी। जिससे उसकी मौत हो गई। राजेंद्र ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।


पुलिस ने जांच आगे बढ़ाई तो पुरानी रंजिश को लेकर हत्या की वजह सामने आयी। जिसमें गांव के सगीर अहमद, एक शिक्षण संस्थान के क्लर्क मुस्तफा कमाल के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हुई। मृतक के पिता सीताराम व भाभी आशा देवी के बयान के आधार पर कोर्ट ने एक अन्स शख्स जियाउल कमर को भी तलब किया गया। तीनों आरोपियो के खिलाफ एडीजे चतुर्थ की कोर्ट में सुनवाई हुई। 

 

अभियोजन पक्ष की ओर से 9 गवाह पेश हुए, साक्ष्य के दौरान वादी मुकदमा राजेंद्र कुमार शर्मा पक्षद्रोही घोषित हो गया। उसके विषय में यह भी पता चला कि अर्जुन शर्मा के परिवार से वह अंदरूनी रंजिश रखता था, इसलिए सब कुछ जानते हुए भी आरोपियो को जानबूझकर नामजद ही नहीं किया। फिलहाल शेष गवाहों ने घटना का समर्थन किया। वहीं बचाव पक्ष ने अपने साक्ष्यों एवं तर्को को प्रस्तुत कर उन्हें बेकसूर बताया। सबको सुनने के पश्चात सत्र न्यायाधीश मनोज कुमार शुक्ला की अदालत ने साक्ष्य के अभाव में आरोपी जियाउल कमर को बरी कर दिया। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना