उप्र / एसटीएफ ने वाराणसी से पकड़ा सेना का फर्जी जवान; 40 बेरोजगारों से लाखों की ठगी का आरोप



आरोपी रवि यादव। आरोपी रवि यादव।
X
आरोपी रवि यादव।आरोपी रवि यादव।

  • करीब तीन माह से एसटीएफ के निशाने पर था आरोपी
  • आरोपी पर केस दर्ज, भेजा गया जेल

Dainik Bhaskar

Sep 27, 2019, 03:40 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने शुक्रवार को वाराणसी से एक जालसाज को पकड़ा है। वह अपने को सेना का अधिकारी बताकर बेरोजगारों से रूपए ठगता था। एसटीएफ ने आरोपी के पास से मोबाइल फोन, तीन रबर स्टैम्प, सेना की वर्दी और बैज बरामद किए। साल 2017 में आरोपी ऐसे ही मामले में असम में जेल में छह माह रहा था। 

 

सेना के इनपुट से हुई कार्रवाई
आरोपी की पहचान वाराणसी के राजघाट निवासी रवि यादव उर्फ रवि कुमार उर्फ ओम यादव के रुप में हुई। आरोपी के पिता बसंत इंटरमीडिएट कॉलेज में माली हैं। वह उन्हीं के साथ कॉलेज परिसर में बने आवास में रहता था। बीते जुलाई/अगस्त माह में सेना ने एसटीएफ से एक इनपुट साझा किया कि, एक संदिग्ध 39 जीटीसी में अपने को सेवारत होने का दावा कर सेना भर्ती में आने वाले युवाओं को ठगी का शिकार बना रहा है। 

 

इसके बाद एसटीएफ ने अपनी जांच शुरू की, जब मामला सही मिला तो उसे शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी रवि ने 40 से अधिक युवाओं को अपना शिकार बनाया है। वह ठगी की रकम नकद लेता था। कुछ अवसरों में ही उसने बैंक खाते का इस्तेमाल किया है। वह बार बार अपने मोबाइल नंबर बदलता था। साथ ही उसने युवाओं के साथ कभी अपने रिश्तेदार या परिजनों की जानकारी भी साझा नहीं की। 

 

असम में छह माह की काटी सजा
आरोपी पर कैंटोमेंट पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420, 406 और 506 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। आरोपी ने 40 से 50 युवाओं से सेना में भर्ती कराने के नाम पर पांच हजार से लेकर 60 हजार रुपए तक वसूल भी लिए थे। यह भी पता चला कि वह पहले असम में इसी तरह के अपराध के लिए पकड़ा गया था और 2017 में असम जेल में छह महीने की लंबी सजा काट चुका है। मामले में अन्य की संलिप्तता का पता लगाने के लिए आगे की जांच चल रही है।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना