--Advertisement--

यूपी एससी/एसटी आयोग ने AMU को भेजा नोटिस, पूछा- एएमयू में क्यों नहीं मिल रहा रिजर्वेशन

यूनिवर्सिटी को 8 अगस्त तक जवाब देने का समय दिया गया है।

Danik Bhaskar | Jul 04, 2018, 01:01 PM IST

लखनऊ. यूपी में आरक्षण को लेकर एक बार फिर से सियासत तेज हो गई है। यूपी एससी/एसटी आयोग ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) को नोटिस भेजते हुए पूछा है, 'आखिर एएमयू में एससी/एसटी को आरक्षण क्यों नहीं दिया जा रहा है। यूनिवर्सिटी को 8 अगस्त तक जवाब देने का समय दिया गया है।' वहीं, एएमयू के पीआरओ पीर जादा ने कहा कि अभी हमें नोटिस नहीं मिला है। इसलिए कुछ भी कमेंट करना सही नहीं होगा। नोटिस मिलेगा तो जवाब दिया जायेगा।

- आयोग के अध्यक्ष बृजलाल ने कहा, 'अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय अल्पसंख्यक विश्वविद्यालय नहीं है। लिहाजा सेंट्रल विश्वविद्यालयों की तरह इसमें भी आरक्षण मिलना चाहिए। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी अपने संवैधानिक दायित्वों का निर्वहन नहीं कर रहा है।'

क्यों उठा विश्वविद्यालय में आरक्षण का मुद्दा: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने कन्नौज दौरे पर विपक्षियों पर हमला करते हुए कहा था, 'जो लोग दलितों की बराबरी की बात करते हैं, वे लोग अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी में उनके आरक्षण की वकालत क्यों नही करते? जब बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) दलितों को आरक्षण दे सकती तो एएमयू ऐसा क्‍यों नहीं कर सकती।'

-जिन्ना की तस्वीर को लेकर भी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी चर्चा में थी। अलीगढ़ के बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने यूनिवर्सिटी के यूनियन हाल से जिन्ना की तस्वीर हटाने की मांग की थी। जिसको लेकर स्टूडेंट्स ने अपना विरोध प्रदर्शन भी किया था। हालांकि अभी तक जिन्ना की तस्वीर हटाई नहीं गयी है।