लोकसभा / प्रियंका ने चुनाव न लड़ने के संकेत दिए, कहा- चुनाव लड़ी तो बाकी सीटों पर ध्यान कैसे दूंगी



प्रियंका गांधी वाड्रा। प्रियंका गांधी वाड्रा।
X
प्रियंका गांधी वाड्रा।प्रियंका गांधी वाड्रा।

  • प्रियंका ने कहा- चुनाव लड़ने की बजाय संगठन की मजबूती पर ध्यान दूंगी
  • सोमवार को रोड शो कर प्रियंका ने यूपी की राजनीति में रखा कदम
  • चर्चा- शिवपाल की पार्टी से गठबंधन कर सकती है कांग्रेस

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 07:52 PM IST

लखनऊ. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का संकेत दिया है। उन्होंने कहा कि वे चुनाव लड़ने की बजाय संगठन की मजबूती के लिए पार्टी द्वारा दी गई जिम्मेदारी निभाना पसंद करेंगी। प्रियंका को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 23 जनवरी को पार्टी महासचिव बनाया था। साथ ही उन्हें पूर्वी उप्र की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

 

प्रियंका चार दिन के लखनऊ दौरे पर हैं। इस दौरान प्रियंका ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा कि वे उन्हें किसी पार्टी पर चुनाव लड़ने के लिए न कहें, क्योंकि वे चुनाव लड़ेंगी तो बाकी सीटों पर ध्यान नहीं दे पाएंगी। प्रियंका ने कहा, ''मुझे लगता है कि पार्टी को राज्य में अपने पैरों पर खुद खड़ा होना चाहिए।''

 

कार्यकर्ताओं ने राजनाथ सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ने का सुझाव दिया

न्यूज एजेंसी ने कांग्रेस नेता के हवाले से बताया कि कार्यकर्ताओं ने प्रियंका से मुलाकात के दौरान उन्हें गृह मंत्री राजनाथ सिंह के खिलाफ लखनऊ से चुनाव लड़ने का सुझाव दिया था। इस पर प्रियंका ने कहा, "सभी नेता मुझे अपने इलाके से चुनाव लड़ने के लिए बुला रहे हैं, लेकिन मेरे सामने एक बड़ा काम है और मुझे इसे पूरा करना है।''

 

कांग्रेस ने महान दल से गठबंधन किया

महासचिव पद संभालने के बाद पहली बार यूपी दौरे पर आईं प्रियंका सभी लोकसभा सीटों के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। मंगलवार को उनकी मौजूदगी में कांग्रेस ने महान दल से गठबंधन किया। चर्चा है कि कांग्रेस, सपा से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया बनाने वाले शिवपाल यादव से यूपी में गठबंधन कर सकती है। 

 

हालांकि, कांग्रेस और शिवपाल के बीच बातचीत अभी दूसरे दौर में है। सूत्रों के अनुसार पीएल पुनिया ने प्रियंका की शिवपाल से फोन पर बात कराई है, जो कि एक दूसरे के अभिवादन के साथ खत्म हो गई। शिवपाल कांग्रेस के साथ गठबंधन के पक्ष में हैं। अगर गठबंधन हुआ तो सीट बंटवारे में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में शिवपाल का दबदबा रहेगा और मध्य तथा पूर्वांचल में कांग्रेस ज्यादा सीटों पर लड़ेगी। राहुल गांधी पहले ही भाजपा के खिलाफ क्षेत्रीय दलों को साथ आने के लिए कह चुके हैं।

COMMENT