सुल्तानपुर / परीक्षा पास कराने के नाम पर रंगरूटों से वसूले 1.40 लाख; आरटीसी मेजर समेत 13 अफसरों पर गिरी गाज



प्रतीकात्मक। प्रतीकात्मक।
X
प्रतीकात्मक।प्रतीकात्मक।

  • एसपी अनुराग वत्स ने एसपी सिटी मीनाक्षी को सौंपी जांच

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 06:25 PM IST

सुल्तानपुर. यूपी के सुल्तानपुर जिले में 14 रंगरूटों से अवैध वसूली का मामला सामने आया है। आरोप है कि परीक्षा पास कराने के नाम पर अफसरों ने दस-दस हजार रुपए वसूल लिए। मामला उजागर होने पर आरटीसी मेजर समेत तीन अधिकारियों एवं 10 ट्रेनर्स को एसपी ने सस्पेंड कर जांच के निर्देश दिए हैं। 

पुलिस लाइन में 160 रंगरूटों की 24 जनवरी तक ट्रेनिंग चली और 26 जनवरी को पासिंग आउट परेड हुई। आरोप है कि, 14 रंगरूटों से 10-10 हजार रुपए परीक्षा पास कराने और सुविधा शुल्क के नाम पर वसूले गए। नौकरी जाने के डर से  रंगरूटों ने शिकायत नहीं की, लेकिन ये बात एसपी अनुराग वत्स के कानों तक जा पहुंची। एसपी ने जब कुछ रंगरूटों से पूछताछ की तो मामले का खुलासा हो गया।

 

इस पर एसपी ने आरटीसी मेजर बृजमणि राय, आरटीसी सूबेदार कमलेश सिंह, आरटीसी मुन्शी अफरोज को सस्पेंड कर दिया। इसके अलावा ट्रेनिंग देने वाले ट्रेनर्स मनीष यादव, दिनेश राम 35 वाहिनी पीएसी लखनऊ, कासीम अली अंसारी 11 वाहिनी पीएसी सीतापुर, धर्मनारायण पाण्डेय, धनंजय पाण्डेय, पंकज यादव, फौज आलम अंसारी, प्रवीण यादव, जयनारायण यादव, कैलाश यादव, मुन्ना यादव के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई के लिए पत्र भेजा गया है।

 

एसपी सिटी मीनाक्षी कात्यान ने बताया कि, 14 रंगरूटों से इन्वेस्टिगेशन में दस-दस हजार रुपए प्रति कंडीडेट लेने का मामला प्रकाश में आया है। एसपी ने जांच सौंपी है। जांच जारी है। रिपोर्ट आने पर ही सारी बातें स्पष्ट हो जाएंगी। 

COMMENT