विधानसभा सत्र / महिलाओं के खिलाफ अपराध को लेकर हंगामा, विपक्ष ने कहा- ये रामराज्य की बात करते हैं, लेकिन चर्चा कराने से भाग जाते हैं

विपक्ष ने सदन में हंगामा किया।
X

  • उप्र में 13 फरवरी से शुरू हुआ सत्र, 7 मार्च तक चलेगी विधानसभा की कार्यवाही
  • राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान गुरुवार को विपक्ष ने हंगामा किया था, 18 फरवरी को बजट पेश होगा

दैनिक भास्कर

Feb 14, 2020, 01:28 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में विधानसभा के बजट सत्र का गुरुवार को दूसरा दिन है। आज सदन की कार्यवाही शुरू होते ही समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी के सदस्यों ने वेल में आकर हंगामा शुरू कर दिया। सदस्यों ने उप्र में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अफराध और कचहरी परिसर में हुए बम कांड को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश की। हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही 20 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई। 

विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने जैसे ही सदन में पहुंचे तो सपा और कांग्रेस के सदस्य प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर चर्चा कराने की मांग करने लगे। उनकी मांग नकारते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि प्रश्नोत्तर काल का समय बाधित करना वरिष्ठ सदस्यों को शोभा नहीं देता है। विधानसभा अध्यक्ष के आगृह को अस्वीकार करते हुए सदस्य वेल में आ गए और नारेबाजी करने लगे। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को 20 मिनट के लिए स्थगित कर दी। 

शुक्रवार को विधानसभा की कार्यवाही सुबह 11 बजे शुरू हुई तो कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा 'मोना' ने प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाए और लखनऊ कचहरी में वकील पर देशी बम से हमला होने के मामले में चर्चा की मांग की। उनके समर्थन में कई और सदस्य खड़े हो गए। हालांकि, विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने इन मांगों को स्वीकार करने से इनकार करते हुए कहा कि प्रश्नोत्तर काल का समय बाधित करना वरिष्ठ सदस्यों को शोभा नहीं देता है।

नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि पूरे प्रदेश में सरकार महिलाओं को प्रताड़ित कर रही है। इसलिए इस मामले पर चर्चा होनी चाहिए, जिसे भी विधानसभा अध्यक्ष सुनने से मना कर दिया। इस पर राम गोविंद चौधरी ने कहा कि महिलाओं पर अत्याचार की बात हमारी नहीं सुनी जा रही है, इसलिए इसके विरोध में समाजवादी पार्टी सदन का बहिष्कार कर रही है। 

कांग्रेस विधान मंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ने कहा कि कचहरी में बम कांड होता है। बिजनौर की घटना से भी सीख नहीं ली। इसी मुद्दे को लेकर कांग्रेस विधानसभा में चर्चा हो। ये राम राज्य की बात करते हैं लेकिन कानून व्यवस्था पर चर्चा की मांग की जाती है तो सरकार भाग जाती है। 

18 फरवरी को पेश होगा बजट

यूपी का विधानसभा सत्र 13 फरवरी से शुरू होकर 7 मार्च तक चलेगा। 18 फरवरी को 12.20 बजे बजट पेश किया जाएगा। राज्यपाल का 13 फरवरी को राज्य विधान मंडल में एक साथ दोनों सदनों के समक्ष राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण हुआ। इसके साथ ही औपचारिक कार्य के साथ अध्यादेश, अधिसूचनाओं, नियमों आदि को सदन के पटल पर रखा जाएगा। इसके अगले दिन 14 फरवरी को राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा होगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना