--Advertisement--

10 शॉकिंग रेप केस: कभी कुत्ते का पट्टा डाल तो कभी गन-पॉइंट पर हुई दरिंदगी

उन्नाव में बीजेपी विधायक पर लगा रेप का आरोप। पीड़िता के पिता की मौत के बाद मामला और संगीन हुआ।

Dainik Bhaskar

Apr 11, 2018, 04:30 PM IST
Violence against women cases in india like unnao horror

लखनऊ. यूपी महिलाओं के खिलाफ वॉयलेंस के केस लगातार आ रहे हैं। एक तरह जहां उन्नाव में रेप पीड़िता के पिता की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई, वहीं दूसरी तरफ जम्मू एंड कश्मीर में 8 साल की बच्ची के साथ बर्बरता सामने आई।

DainikBhaskar.com अपने रीडर्स को महिलाओं पर हुई बर्बरता के चर्चित 10 केस बता रहा है।

कठुआ रेप कांड

पुलिस की चार्जशीट के मुताबिक कठुआ में जनवरी में आठ साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उसकी हत्या की वारदात बकरवाल समुदाय को इलाके से हटाने की साजिश थी। जम्मू-कश्मीर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के समक्ष आठ आरोपियों के खिलाफ दायर दो चार्जशीट में यह दावा किया।

मंदिर का सेवादार मुख्य साजिशकर्ता

फॉरेंसिक जांच में साबित हो चुका है कि हत्या से पहले बच्ची को एक हफ्ते तक देवीस्थान में प्रताड़ित किया गया। पुलिस ने कठुआ स्थित रासना गांव में देवीस्थान के सेवादार सांझी राम को अपहरण, दुष्कर्म और हत्या का मुख्य साजिशकर्ता बताया है। उसके साथ कुल आठ लोग गिरफ्तार किए गए हैं, जिनमें से कुछ हिंदू एकता मंच से भी जुड़े हैं।

नशीली दवा देकर किया दुष्कर्म

जम्मू-कश्मीर पुलिस की क्राइम ब्रांच ने सीजेएम कोर्ट में आठ आरोपियों के खिलाफ दो अलग-अलग चार्जशीट दायर की हैं। इसमें कहा गया कि बच्ची को मंदिर में भूखा-प्यासा रखा गया। मंदिर का संचालन सेवादार साझीराम करता है। बच्ची को खाली पेट नशीली दवाएं दी गईं और यहीं पर उसके साथ 6 लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया।

जांच अधिकारी ने सबूत मिटाए

चार्जशीट में हेड कॉन्स्टेबल तिलक राज और एसआई आनंद दत्त भी नामजद हैं। इन पर सांझीराम से 4 लाख रुपए लेकर सबूत मिटाने का आरोप है। किशोर की भूमिका को लेकर अलग चार्जशीट दाखिल की गई है। इसमें कहा गया है कि बच्ची का शव मिलने से पहले 11 जनवरी को किशोर ने अपने चचेरे भाई जंगोत्रा को मेरठ से लौटने को कहा था।

घोड़ा चराने जंगल गई थी बच्ची

बच्ची घोड़े चराने के लिए जंगल गई थी। आरोपियों ने घोड़े ढूंढने में मदद के बहाने उसे अगवा कर लिया। अगले दिन माता-पिता सांझीराम से पूछताछ करने मंदिर भी गए। उसने कहा कि बच्ची किसी रिश्तेदार के घर गई होगी।

हत्या से पहले पुलिसकर्मी ने किया रेप

एक पुलिसकर्मी खजूरिया ने किशोर को बच्ची के अपहरण के लिए लालच दिया था। उसे बोर्ड परीक्षा में नकल में मदद का भरोसा भी दिलाया था। किशोर ने परवेश से इस योजना में मदद मांगी। सांझीराम के निर्देश पर बच्ची को मंदिर से हटाया गया। मन्नू, जंगोत्रा और किशोर बच्ची को जंगल ले गए। हत्या से पहले पुलिसकर्मी खजूरिया ने बच्ची से रेप किया और फिर इसके बाद किशोर ने बच्ची की हत्या कर दी।

आगे की स्लाइड्स में जानें क्या है देश के 11 बड़े रेप केस और उनका करंट स्टेटस...

Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror

हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान

 

आरोपी एमएलए कुलदीप सेंगर के भाई अतुल की गिरफ्तारी हुई। इसके बाद मामले में SIT की टीम पीड़िता के घर पहुंची। वहीं, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले में संज्ञान लिया है और 12 अप्रैल को मामले की जांच करेगी। यह पहला मौका नहीं जब किसी रेप केस ने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींचा है।

 

 

क्या है उन्नाव रेप केस

 

- रविवार 8 अप्रैल को एक महिला ने को मुख्यमंत्री निवास के सामने परिवार समेत आत्मदाह की कोशिश की। मौके पर मौजूद पुलिस ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया।
- महिला का आरोप है कि विधायक कुलदीप सिंह के इशारे पर उन्नाव थाने में उसके खिलाफ कई मामले दर्ज कराए गए, लेकिन ये सब झूठे हैं।

- एडीजी लखनऊ राजीव कृष्णा ने बताया कि मामला पिछले साल जून का है। पीड़ित परिवार ने थाने-कोर्ट समेत सभी जगह शिकायत की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब यह मामला उन्नाव से लखनऊ ट्रांसफर करने के निर्देश दिए गए हैं। इसकी जांच वरिष्ठ अधिकारी करेंगे।

 

पिता की गिरफ्तारी

 

- महिला का आरोप है कि पुलिस ने रेप मामले में शिकायती आवेदन तो ले लिया था, लेकिन विधायक के दबाव में एक साल से एफआईआर दर्ज नहीं की। विधायक ने शिकायत वापस लेने के लिए दबाव डाला। नहीं मानी तो 3 अप्रैल को विधायक के भाई ने उसके पिता को पीटा और उलटा पीड़ित पर ही केस दर्ज करा दिया था। जिसके बाद पुलिस ने उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया था।

- उन्नाव जिला हॉस्पिटल के डॉक्टर अतुल ने बताया कि पीड़ित महिला के पिता को दर्द और उल्टी की शिकायत के बाद पुलिस ने रविवार रात भर्ती कराया गया था। सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई।

 

जेल भेजा गया विधायक का भाई

 

- पीड़िता के पिता के साथ मारपीट के मामले में मंगलवार को विधायक के भाई अतुल सेंगर समेत 4 लोगों को लखनऊ क्राइम ब्रांच की टीम ने उन्नाव से गिरफ्तार किया। विधायक के भाई पर पीड़िता के पिता पर झूठा केस करने का भी आरोप है। पुलिस ने गिरफ्तार लोगों को उन्नाव जेल भेजा।

- सोमवार को जेल से हॉस्पिटल लाए गए पीड़िता के पिता की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। बाद में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था उसकी मौत बड़ी आंत फटने से हुई थी। उसकी बॉडी पर 14 जगह गंभीर चोट के निशान थे।

Violence against women cases in india like unnao horror

चलती बस में हुआ था रेप, हुई थी बर्बरता

 

- 16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में 23 साल की फिजियोथैरेपी स्टूडेंट ज्योति सिंह पांडे का चलती बस में गैंगरेप हुआ। वो अपने दोस्त अविंद्र पांडे के साथ फिल्म देखकर घर लौट रही थी। रात 9 बजे मुनीरका से दोनों ने चार्टर्ड बस ली थी। बस में उनके अलावा 6 लोग और मौजूद थे।
- घटना के एकमात्र चश्मदीद गवाह अविंद्र ने बताया था कि बस में बैठे लोग ज्योति पर भद्दे कमेंट्स कर रहे थे। इस बात पर उनकी बस कंडक्टर और क्लीनर से बहसबाजी हुई और बात मारपीट तक आ गई। झगड़े के दौरान उनके सिर पर पीछे से किसी ने रॉड से हमला किया था। जब ज्योति ने उनकी हेल्प करने की कोशिश की तो सभी उस पर टूट पड़े थे।
- छीना-झपटी में ज्योति ने एक आरोपी को धक्का दे दिया था, जिसके बाद गुस्साए आरोपी ने उन्हें लहुलुहान कर दिया। फिर सभी 6 आदमियों ने रेप किया।
- बर्बरता की हद पार करते हुए आरोपियों ने रेप के बाद जख्मी लड़की पर लोहे की रॉड से वार किया, जिससे उसकी दोनों आंतें फट गईं।
- बस में सवार राम सिंह, मुकेश सिंह, विनय शर्मा, पवन गुप्ता, अक्षय ठाकुर और एक नाबालिग दोषी ने निर्भया और उसके दोस्त के कपड़े उतारकर दोनों को रोड पर फेंका था।
- इलाज के दौरान 29 दिसंबर 2012 को ज्योति का निधन हो गया था।


प्रेजेंट स्टेटस - 6 आरोपी अरेस्ट, एकमात्र नाबालिग आरोपी को 3 साल की सजा मिली थी, मुख्य आरोपी रामसिंह ने पुलिस कस्टडी में सुसाइड कर लिया था, बाकी चार आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई। 

Violence against women cases in india like unnao horror

बुलंदशहर रेप केस

 

कब - 29 जुलाई 2016

 

क्या था मामला

 

नोएडा निवासी महिला अपनी बेटी के साथ NH-91 पर शाहजहांपुर किसी रिश्तेदार की तेरहवीं अटैंड करने कार से जा रही थी। बुलंदशहर के दोस्तपुर गांव के पास कुछ लुटेरों ने उनकी कार की तरफ लोहे की रॉड फेंकी। ड्राइवर चेक करने जैसे कार रोककर बाहर निकला, वैसे ही झाड़ियों में छुपे लुटेरे बाहर आ गए और पूरी फैमिली को गन-प्वाइंट पर बंधक बना लिया। लगभग 12 लुटेरों ने 35 साल की महिला और उसकी 14 साल की बेटी को कार से घसीटते हुए बाहर निकाला और लगभग 3 घंटे तक दोनों का गैंगरेप किया। रेप के बाद वे 11 हजार रुपए और कुछ ज्वैलरी लूटकर वहां से फरार हो गए।

 

प्रेजेंट स्टेटस - 2016 में ही यूपी पुलिस ने बावरिया गैंग के तीन लोगों को गिरफ्तार किया। यूपी सरकार ने 5 अप्रैल 2018 को इलाहाबाद हाई कोर्ट में इनवेस्टिगेशन की स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की। 

Violence against women cases in india like unnao horror

आशियाना रेप केस

 

कब - 2 मई 2005

 

क्या था मामला

 

- 2 मई 2005 को लखनऊ की आशियाना कॉलोनी में नौकरानी का काम करने वाली 13 साल की लड़की के साथ 6 लोगों ने गैंगरेप किया था।
- पीड़िता के मुताबिक घटना के समय वो अपना काम खत्म कर घर लौट रही थी, तभी रास्ते में 6 लोगों ने उसे खींचकर एक कार में बैठा लिया।
- उसका चलती कार में रेप किया गया, साथ ही सिगरेट से जलाया भी गया। टॉर्चर से बेहोश हुई पीड़िता को मरा हुआ समझकर आरोपियों ने उसे रोड पर फेंक दिया।

 

प्रेजेंट स्टेटस - कोर्ट ने इस केस में 5 आरोपियों को कन्विक्ट किया था, जिसमें से दो की रोड एक्सिडेंट में मौत हो चुकी है। 2016 में लखनऊ हाई कोर्ट ने मुख्य आरोपी गौरव शुक्ला को 10 साल कैद की सजा सुनाई। 

Violence against women cases in india like unnao horror

इमराना रेप कांड

 

कब - 6 जून 2005

 

क्या था मामला

 

- 14 साल की इमराना की शादी उसके भाइयों ने मुजफ्फरनगर जिले के चार्टवाल गांव निवासी नूर इलाही से करवाई थी।

- नूर रिक्शा चलाकर अपने परिवार का पेट पालता था।
- छोटी उम्र में इमराना पर घर चलाने की जिम्मेदारी थी। 10 साल में उसने 5 बच्चों को जन्म दिया।

 

कनपटी पर बंदूक रखकर ससुर ने किया रेप

 

- इमराना की जिंदगी किसी आम मुस्लिम महिला की तरह कट रही थी, लेकिन 3 जून 2005 की रात उसके लिए कहर बन गई।
- इमराना का पति नूर किसी काम से गांव से बाहर गया था।
- रात में जब वो अपने बच्चों के साथ सो रही थी, तभी उसका ससुर अंधेरे का फायदा उठाकर उसके बिस्तर में घुस आया।
- इमराना से उम्र में 41 साल बड़े अली मोहम्मद ने तमंचा निकालकर अपनी बहू की कनपटी पर रख दिया।
- अली ने इमराना को धमकी दी कि यदि उसने आवाज की तो वह उसके साथ पांचों बच्चों को भी मार देगा। इमराना की बेबसी का फायदा उठाकर अली ने उसके साथ रेप किया।

- ससुर की हवस का शिकार बनने के बाद रोती-बिलखती इमराना मदद मांगने अपनी सास और ननद के पास गई।

- जब इमराना ने अली मोहम्मद की करतूत बताई तो उसकी सास और ननद उसी के पैरों में गिरकर गिड़गिड़ाने लगीं। वे कह रही थीं कि इस बात को यहीं दबा दो, परिवार को बदनाम मत करो।

 

पंचायत के फरमान ने बढ़ाया दर्द

 

- सास द्वारा मदद से इनकार सुनने के बाद इमराना चुपचाप नहाने चली गई और खून से सने अपने कपड़े धो लिए।
- अगले दिन सुबह जब इमराना की भाभी उससे मिलने पहुंची तो उसने अपना दर्द कह सुनाया।
- बहन के बलात्कार की बात सुनकर इमराना के भाई गुस्से में आ गए और अली मोहम्मद के पास गुनाह कुबूल करवाने पहुंच गए।
- बात आग की तरह गांव में फैली और आनन-फानन में अंसारी कम्यूनिटी की पंचायत बुलाई गई।
- पंचायत ने इमराना को कहा कि उसने ससुर के साथ संबंध बनाए हैं। भले ही संबंध उसकी मर्जी से नहीं बने, लेकिन इस वजह से अब वो अपने पति के साथ नहीं रह सकती। उसे अब अपने ससुर को पति और नूर को अपना बेटा मानना होगा।

 

नहीं मानी इमराना, लड़ी अपनी लड़ाई

 

- इमराना ने पंचायत का फरमान नहीं माना। इसमें उसके पति नूर ने भी उसका साथ दिया।
- दोनों ने मिलकर अली मोहम्मद के खिलाफ पुलिस रिपोर्ट दर्ज करवाई।
- 30 जून को पुलिस ने इमराना के मेडिकल टेस्ट के बाद अली मोहम्मद के खिलाफ केस दर्ज किया।
- 19 महीने की कानूनी लड़ाई के बाद कोर्ट ने अली मोहम्मद को 10 साल जेल की सजा सुनाई।
- 17 जुलाई 2013 को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने 70 साल के अली मोहम्मद को बेल पर छोड़ दिया गया। कोर्ट का मानना था कि वो 13 जून 2005 को हुई गिरफ्तारी के बाद से 8 साल की सजा काट चुका है।

 

प्रेजेंट स्टेटस- इमराना के ससुर मोहम्मद अली को 19 अक्टूबर 2006 में 10 साल कैद की सजा हुई।

Violence against women cases in india like unnao horror

सौम्या मर्डर केस

 

कब - 1 फरवरी 2011


प्रेजेंट स्टेटस- नवंबर 2011 में आरोपी गोविंद को फांसी की सजा सुनाई गई।

 

ऐसा था पूरा केस

 

- 1 फरवरी 2011 को सौम्या एर्नाकुलम पैसेंजर ट्रेन के लेडीज कंपार्टमेंट में चढ़ी थी। कंपार्टमेंट में अन्य कोई सवारी नहीं थी। ट्रेन चलने के आधा घंटे बाद 33 साल का गोविंद लूट के इरादे से अंदर घुसा और उसने सौम्या पर हमला बोल दिया। 
- सौम्या के बचाव करने पर गोविंद को गुस्सा आ गया और उसने उसका सिर दीवार पर दे मारा। उसके बाद उसने सौम्या को धक्का दे दिया और फिर खुद भी ट्रेन से कूद गया। ट्रेन से कूदने के बाद गोविंद ने सौम्या को 200 मीटर पैदल चलकर ढूंढा।
- सौम्या के सिर से खून बह रहा था। लहुलुहान हालत में आरोपी उसे उठाकर जंगल की तरफ ले गया, जहां उसने उसका बेरहमी से रेप किया। रेप के बाद वह उसे वहीं छोड़कर भाग गया।
- 6 फरवरी 2011 को सौम्या की इलाज के दौरान मौत हो गई।

 

शादी के लिए घर जा रही थी सौम्या

 

- 23 साल की सौम्या अपने परिवार की रीढ़ थी। उसके पिता घटना से 5 साल पहले ही परिवार को छोड़कर चले गए थे। 
मां बर्तन मांजने का काम करती है और भाई ड्राइवर है।
- सौम्या का सपना था कि वो होटल मैनेजमेंट का कोर्स करे। उसका एडमिशन भी हो गया था, लेकिन घर की हालत देखते हुए उसने इरादा बदल लिया।
- सौम्या को दिसंबर 2010 में कोच्चि के शॉपिंग मॉल में सेल्स गर्ल की नौकरी मिली थी, जिसके लिए वह अपना घर छोड़कर कोच्चि आ गई।
- सौम्या वीकेंड पर अपने घर थ्रिसुर ट्रेन से जाती थी। घटना की रात भी वह घर जाने के लिए ही ट्रेन में चढ़ी थी। उसकी मां ने उसकी शादी के लिए रिश्ता देखा था। उसी लड़के से मिलने वह घर लौट रही थी, लेकिन उसका वह सफर जिंदगी का अंतिम सफर बन गया।

Violence against women cases in india like unnao horror

अरुणा शानबाग केस

 

कब - 27 नवंबर 1973


प्रेजेंट स्टेटस- आरोपी सोहनलाल को 7 साल कैद की सजा हुई।

 

क्या था पूरा केस

 

- अरुणा मुंबई के किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल में नर्स का काम करती थीं। उसी हॉस्पिटल के एक डॉक्टर से उनकी शादी होने वाली थी। 27 नवंबर 1973 को हॉस्पिटल के सोहनलाल वाल्मिकी नाम के स्वीपर ने बेसमेंट में तब अटैक किया जब वो शिफ्ट खत्म होने के बाद ड्रेस चेंज के लिए गईं थीं।
- सोहनलाल ने अरुणा को कुत्ते की चेन से बांधकर अप्राकृतिक सेक्स करने की कोशिश की थी।
चेन बंधने के कारण उनके ब्रेन को ऑक्सीजन की सप्लाई कट गई थी, जिससे वे कोमा में चली गईं। 42 साल तक कोमा में रहने के बाद 18 मई 2015 को उसी हॉस्पिटल में उनका निधन हुआ।

Violence against women cases in india like unnao horror

शक्ति मिल गैंग रेप

 

कब - 22 अगस्त 2013

 

प्रेजेंट स्टेटस - 4 अप्रैल 2014 को 3 अपराधियों को फांसी और 2 को उम्र कैद सजा सुनाई गई।

 

क्या था पूरा केस

 

- 22 साल की फोटोजर्नलिस्ट का शक्ति मिल कंपाउड में 5 लोगों ने गैंगरेप किया था। रेप पीड़िता की गर्दन पर टूटी बियर की बोतल रखकर किया गया। पीड़िता अपने कलीग के साथ शक्ति मिल कुछ तस्वीरें खींचने गई थी।
- रेप के बाद दोषियों ने पीड़िता और उसके दोस्त से क्राइम सीन की सफाई करवाई। साथ ही पीड़िता की 2 न्यूड फोटो भी क्लिक कीं। रेप के बाद दोषियों ने पीड़िता और उसके दोस्त को रेलवे ट्रैक पर छोड़ा था।

Violence against women cases in india like unnao horror

शोपियन रेप एंड मर्डर केस

 

कब - 29 जून 2009

 

प्रेजेंट स्टेटस- केस पेंडिंग।

 

क्या था पूरा केस

 

- जम्मू एंड कश्मीर के शोपियन जिले की 2 लड़कियों को अगवा कर कथित तौर पर रेप किया गया और फिर मर्डर किया
गया।
- नीलोफर (22 साल) और उसकी ननद आशिया (17 साल) लापता हुईं थीं। 
- शुरुआती रिपोर्ट्स में पुलिस ने बताया कि दोनों की मौत नाले में डूबने की वजह से हुई है।
- नीलोफर ने शकील अहमद से 2007 में प्रेम विवाह किया था।
- नीलोफर का भाई शादी के खिलाफ था।
- गांववालों का आरोप है कि सिक्यूरिटी फोर्स के लोगों ने ही दोनों का रेप करने के बाद हत्या की है।
- अब तक मामला कोर्ट में पेंडिंग है।

Violence against women cases in india like unnao horror

स्कारलेट कीलिंग रेप एंड मर्डर

 

कब- 18 फरवरी 2008

 

प्रेजेंट स्टेटस- 2 आरोपी अरेस्ट, केस पेंडिंग।

 

क्या था पूरा केस

 

- ब्रिटिश मूल की स्कैरलेट कीलिंग का गोवा में गैंगरेप के बाद मर्डर किया गया। 15 साल की स्कारलेट गोवा के टूरिस्ट गाइड जूलियो लोबो को डेट कर रहीं थीं। रेप से पहले उसको ड्रग्स से लैस कॉकटेल पिलाया गया था। उसके बाद बीच पर उससे रेप किया गया।
- रेप के बाद आरोपियों ने समंदर में डुबाकर उसकी हत्या कर दी और लाश अंजुना बीच पर फेंक दी। डेली मेल में छपी रिपोर्ट्स के मुताबिक स्कारलेट की बॉडी पर लगभग 50 जख्म के निशान थे, लेकिन पोस्टमॉर्टम में कुल 5 ही दिखाए गए।
- गोवा अथॉरिटीज की ढिलाई की वजह से स्कारलेट की लाश 4 साल तक मॉर्चुरी में पड़ी रही। हत्या के 4 साल बाद 2012 में उसे दफनाया जा सका।
- प्रॉड्यूसर सिकंदर खान ने 2011 में स्कारलेट की हत्या पर आधारित फिल्म रिलीज की थी।

Violence against women cases in india like unnao horror

कंधमाल नन गैंगरेप केस

 

कब - 25 अगस्त 2008

 

प्रेजेंट स्टेटस-केस पेंडिंग

 

क्या था पूरा केस

 

- 2008 में हुई ओडिशा एंटी-कैथोलिक हिंसा के बीच 28 वर्षीय नन मीना ललिता बारवा के साथ गैंगरेप किया गया। पुलिस द्वारा केस को दरकिनार किए जाने के बाद मीना ने खुद मीडिया के सामने आकर अपनी आपबीती सुनाई थी।
- नन के मुताबिक 24 अगस्त 2008 को वह चर्च में प्रार्थना कर रही थी। प्रार्थना के बीच में लगभग 50 आदमी हाथों में लाठी, कुल्हाड़ी और लोहे की रॉड लिए चर्च के अंदर घुस आए।
- चर्च में घुसी दंगाई भीड़ से डर कर नन मीना और उसके पादरी पिता वहां से भाग गए।  मीना अपने पिता फादर थॉमस के साथ एक दिन तक छुपी रही।
- अगले दिन 25 अगस्त 2008 को दंगाइयों ने नन को ढूंढ निकाला और उसे घसीटते हुए खंडहर बन चुके जन विकास एनजीओ की बिल्डिंग में ले गई। वहां दंगाइयों ने मिलकर उसके साथ रेप किया और फिर उसे घसीटते हुए बाहर ले गए और पादरी के साथ पब्लिक के बीच घुमाया।
- नन मीना ने बताया कि उस वक्त वहां पुलिस बल भी मौजूद था। वह मदद की भीख मांगती रही, लेकिन किसी ने भी उसकी मदद नहीं की। ओडिशा में हुई उस हिंसा में 60 क्रिश्चियन मारे गए थे, वहीं 50 हजार से अधिक बेघर हो गए थे।
- नन ने इस घटना की एफआईआर लिखवाई, जिसके बाद उसे मेडिकल एग्जामिनेशन के लिए भेजा गया। एग्जामिनेशन की रिपोर्ट पुलिस ने 38 दिन बाद जारी की। रिपोर्ट में रेप साबित होने के बाद उसकी तहरीर के आधार पर चार आदमियों को गिरफ्तार भी किया गया, लेकिन अब तक किसी को सजा नहीं हो पाई है।
- केस सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग है।

 

रेप से पहले की थी जलाने की कोशिश

 

- 24 अगस्त 2008 को दंगाइयों से बचते हुए नन मीना और उसके पिता स्थानीय हिंदू फैमिली प्रहलाद प्रधान के घर में छुपे थे।
- एक प्रतिष्ठित अखबार को दिए इंटरव्यू में प्रधान ने बताया था कि किस तरह दंगाई उनके घर के अंदर घुसे और वहां छुपी नन और उसके पिता को घसीटते हुए बाहर ले आए।
- प्रधान के मुताबिक दंगाइयों ने नन और उसके पिता पर केरोसीन डालकर जलाने का प्रयास भी किया। फिर अचानक उनका मन बदल गया और वे दोनों को जन विकास ले गए।
- नन मीना ने एक बयान में यह तक कहा था कि उसके साथ लगभग 40 आदमियों ने रेप किया।

Violence against women cases in india like unnao horror

अंजना मिश्रा रेप केस

 

कब - 9 जनवरी 1999
 

प्रेजेंट स्टेटस- 3 आरोपियों में से 2 प्रदीप साहू और धीरेंद्र मोहंती को उम्रकैद और तीसरे आरोपी बीवान बिस्वाल पर आरोप साबित नहीं।

 

क्या था पूरा केस

 

- अंजना मिश्रा कटक के आईएफएस अफसर की पत्नी थीं। 9 जनवरी 1999 को अंजना अपने पत्रकार दोस्त के साथ कार से भुवनेश्वर जा रही थीं। बारंग के पास उनकी कार को 3 लोगों ने रोका और उनके साथ रेप किया।
- अंजना ने रेप होने के दो साल पहले ओडीशा के तत्कालीन सीएम जेबी पटनाइक और पूर्व एडवोकेट जनरल इंद्रजीत रेय पर रेप अटेंप्ट का आरोप लगाया था। रेप के बाद उन्होंने ने दोनों पर साजिश रचने का आरोप लगाया।

X
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Violence against women cases in india like unnao horror
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..