विवेक तिवारी हत्याकांड / सिपाही संदीप कुमार के खिलाफ भी चलेगा हत्या का मुकदमा, 22 मार्च को करना होगा सरेंडर



मृतक विवेक तिवारी  फाइल फोटो मृतक विवेक तिवारी फाइल फोटो
X
मृतक विवेक तिवारी  फाइल फोटोमृतक विवेक तिवारी फाइल फोटो

  • पुलिस ने केवल मारपीट की धाराओं में दायर किया था आरोपपत्र
  • ऐप्पल के एरिया मैनेजर को गोली मारकर की गई थी हत्या

Dainik Bhaskar

Mar 08, 2019, 10:53 AM IST

लखनऊ. ऐप्पल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड के मामले में अपर सत्र न्यायाधीश एसएस पांडेय ने जमानत पर रिहा अभियुक्त पुलिसकर्मी संदीप कुमार के खिलाफ हत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का आरोप तय किया है। कोर्ट ने आदेश दिया है कि सिपाही को 22 मार्च तक सरेंडर करना होगा। फिलहाल संदीप जमानत पर बाहर है। 

 

अदालत ने गुरुवार को दिए अपने आदेश में कहा है कि इस मामले की विवेचना के दौरान संकलित साक्ष्य व पत्रावली पर उपलब्ध सामग्री की आधार पर अभियुक्त संदीप के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 सपठित धारा 114 के अधीन आरोप तय करने का प्रर्याप्त आधार है। लिहाजा उसे इस धारा के तहत 22 मार्च को अदालत में आत्मसमर्पण करने का आदेश दिया जाता है। उसी रोज अभियुक्त संदीप के साथ ही अभियुक्त प्रशांत पर भी आरोप तय करने के मामले में सुनवाई होगी। 

 

उन्होंने यह आदेश आरोप तय करने के बिन्दू पर विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी के विशेष वकील प्रांशु अग्रवाल व साथ ही फौजदारी के जिला शासकीय अधिवक्ता मनोज त्रिपाठी की बहस सुनने के बाद दिया। अपनी दलीलों के जरिए इनका कहना था कि इस मामले में अभियुक्त पुलिसकर्मी संदीप पर समान आशय से हत्या कारित करने के मामले में आरोप तय किया जाए। 

 

सुनवाई के दौरान अभियुक्त पुलिसकर्मी संदीप व प्रशांत के वकीलों ने भी अपना पक्ष रखा था। सत्र अदालत ने सभी पक्षों की बहस के बाद अपना फैसला सुरक्षित कर लिया था। 

 

इस मामले की विवेचना के बाद अभियुक्त प्रंशात कुमार चौधरी के खिलाफ हत्या (आईपीसी की धारा 302) जबकि संदीप कुमार के खिलाफ मारपीट (आईपीसी की धारा 323)  में आरोप पत्र दाखिल किया गया था। निचली अदालत में भी कल्पना तिवारी की तरफ से अभियुक्त संदीप पर समान आशय से हत्या (आईपीसी की धारा 302/34) के आरोप में संज्ञान लेने की मांग की गई थी। लेकिन निचली अदालत ने आरोप पत्र में दर्ज धाराओं में ही संज्ञान लेते हुए उनकी अर्जी को निस्तारित कर दिया था। साथ ही इस मामले की पत्रावली विचारण के लिए सत्र अदालत को संदर्भित कर दिया था। 

 

लखनऊ के गोमतीनगर इलाके में 29 सितंबर की रात एप्पल के एरिया सेल्स मेनेजर विवेक तिवारी की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने सीजीएम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल किया था, जिसमें सिपाही प्रशांत चौधरी के खिलाफ हत्या की धारा लगाते हुए पूरी वारदात का मुख्य आरोपी बताया गया। जबकि मामले में आरोपी एक अन्य सिपाही संदीप को क्लीन चिट दी गई थी। दोनों ही आरोपी फिलहाल जेल में बंद हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना