--Advertisement--

विवेक हत्‍याकांड / आरोपी सिपाहियों के साथ किए रीक्रिएशन में उलझ गई गुत्थी, प्रशांत से पूछा- ‘क्यों किया था फायर’



vivek tiwari murder case scene recreation again with accused cops
vivek tiwari murder case scene recreation again with accused cops
X
vivek tiwari murder case scene recreation again with accused cops
vivek tiwari murder case scene recreation again with accused cops
  • पहले और दूसरे रीक्रिएशन के दौरान घटनाक्रम में बड़ा अंतर सामने आया, हत्यारोपियों को बयानों में भी विरोधाभास
  • पूर्व में पुलिस ने विवेक की सहकर्मी सना को मौके पर ले जाकर रिक्रिएट किया था क्राइम सीन

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 12:52 PM IST

लखनऊ. राजधानी के गोमतीनगर इलाके में एपल कंपनी के सेल्‍‍‍स मैनेजर विवेक तिवारी की हत्‍या के मामले में एसआईटी ने शनिवार देर रात आरोपी पुलिसकर्मियों को साथ लेकर क्राइम सीन रिक्रिएट किया। दोबारा हुए क्राइम सीन रीक्रिएशन में हत्याकांड की गुत्थी और उलझ गई। पहले और दूसरे रीक्रिएशन के दौरान घटनाक्रम में बड़ा अंतर सामने आया। वहीं, हत्यारोपियों के बयानों में भी विरोधाभास मिला।

 

 

दोबारा रीक्रिएशन में उठे ये सवाल: विवेक तिवारी हत्याकांड के आरोपी प्रशांत चौधरी और संदीप को लेकर क्राइम सीन रीक्रिएशन के लिए शनिवार रात समय करीब 01:48 बजे एसआइटी प्रभारी आईजी रेंज सुजीत पांडेय टीम के साथ गोमतीनगर क्षेत्र स्थित घटनास्थल मकदूमपुर चौकी के पास पहुंचे। इसके बाद एसएसपी कलानिधि नैथानी और फोरेंसिक टीम पहुंची। आईजी ने आरोपियों को कार में ही रहने के निर्देश दिए।

 

घटनास्थल पर खड़े आईजी ने कार में बैठे आरोपी प्रशांत से फोन पर बात की और घटना के दिन विवेक तिवारी की कार की लोकेशन के बारे में पूछा। प्रशांत द्वारा लोकेशन बताने पर एक्सयूवी ठीक उसी स्थान पर खड़ी की गई। बाइक से दो सिपाही सामने से आए। इसके बाद आरोपी संदीप को मौके पर लाया गया। रीक्रिएशन के दौरान उसने बताया कि विवेक की कार खड़ी थी और उसकी लाइट बंद थी।

 

सामने से वह बाइक से पहुंचे तो कार की लाइट जली। संदीप ने बताया कि वह बाइक से उतरकर कार की खिड़की के पास पहुंचा जिस ओर सहकर्मी सना बैठी थी। जबकि प्रशांत बाइक पर बैठा रहा। इसके बाद प्रशांत को मौके पर लाया गया। इससे पहले हुए रीक्रिएशन में सना ने पुलिस को बताया था कि विवेक की गाड़ी चल रही थी और उसकी लाइट जल रही थी। दूसरे रीक्रिएशन में संदीप ने बताया कि विवेक की गाड़ी खड़ी थी और उसकी लाइट भी बंद थी। जब वह सामने से पहुंचे तो कार में बैठे विवेक ने लाइट जलाई थी।

 

आरोपी सिपाही प्रशांत और संदीप 15 अक्‍टूबर तक पुलिस रिमांड पर रहेंगे। पुलिस घटना में इस्‍तेमाल डंडे की बरामदगी का प्रयास कर रही है। 

ये था मामला: एपल में कार्यरत विवेक तिवारी 28-29 सितंबर की दरमियानी रात अपनी सहकर्मी के साथ कार से जा रहे थे। तभी सामने से दो सफेद अपाचे सवार पुलिसकर्मी आए और कार को रोकने के लिए इशारा किया था। इसी दौरान एक सिपाही प्रशांत ने अपनी सरकारी पिस्टल से विवेक को गोली मारकर हत्या कर दी। 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..