--Advertisement--

राजभर समाज सम्मेलन में योगी ने कहा- देश को मोदी की जरूरत, आप किसके साथ; सुहेलदेव को याद करने वालों के या गजनवी का साथ देने वालों के

योगी ने कहा सुहेलदेव का नाम इतिहास से हटा दिया गया

Danik Bhaskar | Aug 08, 2018, 05:52 PM IST

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लोक निर्माण विभाग के विश्वेश्वरैया सभागार में राजभर समाज के सम्मलेन में शिरकत की। सीएम ने राष्ट्रवाद के पथ पर बढ़ते रहने के लिए राजभर समाज को शुभकामनाएं भी दीं। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज की पीढ़ी के लिए महाराजा सुहेलदेव अनुकरणीय हैं। महाराजा सुहेलदेव ने महमूद गजनवी के भांजे सैयद सालार मसूद गाजी को मारकर हिंदू धर्म की रक्षा की, लेकिन सुहेलदेव का नाम इतिहास से हटा दिया गया। उनकी गाथा चित्तौड़ की माटी में आज भी गाई जाती है।

देश को मोदी जैसे शख्सियत की जरुरत: सीएम योगी ने कहा, आज देश को मोदी जैसे शख्सियत की जरुरत है। यह आप लोग तय करिए कि सुहेलदेव को याद करने वाले के साथ रहेंगे या गजनवी का साथ देने वाले के साथ। उन्होंने कहा कि चित्तौड़ में सुहेलदेव की भव्य प्रतिमा बननी चाहिए। पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिलाकर प्रधानमंत्री ने उन्हें न्याय दिलाने का काम किया है। पिछड़े वर्ग के 35 लाख छात्रों को छात्रवृत्ति एकमुश्त दी है और छुटे छात्रों के लिए व्यवस्था की है। 2 अक्टूबर को पहली किस्त और 26 जनवरी को दूसरी किस्त सबको मिल जाएगी।

अलग-अलग जातियों का सम्मेलन कर रही है बीजेपी: विपक्ष पर हमला बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जिसके पास काम नहीं है वो अफवाह फैला रहे हैं। हमने बच्चों को जूता-मोजा, किताबें और स्कूल ड्रेस दिया। हमने गरीबों के घर बिजली, पानी, गैस और शौचालय पहुंचाया। पिछली सरकारों ने गरीबों को बुनियादी सुविधाओं से वंचित किया। हमने सुविधाएं घर-घर पहुंचाईं। बीजेपी मंगलवार से पिछड़े वर्ग समाज के अलग-अलग जातियों के साथ सामाजिक सम्मलेन कर रही है। इसी तरह गुरुवार को नाई, सविता, ठाकुर और सेन जातियों के प्रतिनिधियों का इसी स्थान पर सम्मेलन होगा। पिछड़े वर्ग को प्रभावी सन्देश देने के लिए डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को इन सम्मेलनों का प्रभारी बनाया गया है।