लखनऊ / योगी ने कहा- अयोध्या के दीपोत्सव की तरह ही मनाई जाएगी मथुरा की जन्माष्टमी



yogi takes a meeting with braj vikash board yesterday evening
X
yogi takes a meeting with braj vikash board yesterday evening

  • ब्रज तीर्थ विकास बोर्ड की बैठक के दौरान योगी ने दिया निर्देश
  • अब सरकार मथुरा में यूनिक इवेंट के रूप में मनाएगी जन्माष्टमी

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 11:21 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार अयोध्या, काशी और मथुरा के धर्म स्थलों के जरिए अपने एजेंडे को धार दे रही है। उन्होंने निर्देश दिया है कि अयोध्या के दीपोत्सव, काशी की देव दीपावली, विंध्याचल के नवरात्र और पुरी की जगन्नाथ यात्रा की तर्ज पर मथुरा में जन्माष्टमी का आयोजन 'यूनीक इवेंट' के रूप में किया जाए।

 

उन्होंने कहा कि यदि आप ऐसा करने में सक्षम रहे, तो हमारे सभी पर्व और त्यौहार स्थानीय न होकर वैश्विक हो जाएंगे। देश दुनिया के पर्यटक यहां खिंचे चले आएंगे, इससे पर्यटन की संभावनाओं में चार चांद लग जाएंगे। स्थानीय स्तर पर लोगों को बड़े पैमाने पर रोजी-रोजगार भी मिलेगा।

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार देर शाम ब्रज तीर्थ विकास बोर्ड की दूसरी बैठक के दौरान यह बातें कही। उन्होंने कहा कि निर्णय तेजी से लें काम की गुणवत्ता और मानक को बनाए रखते हुए हर हाल में इसे समय पर पूरा करें। गुणवत्ता सुनिश्चित कराने के लिए हर काम की थर्ड पार्टी मॉनीटरिंग भी कराएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जन्माष्टमी पर भगवान श्री कृष्ण से संबंधित मथुरा के सभी स्थानों पर रोशनी के लिए रंगीन एलईडी लाइट लगवाएं। मंदिरों, घरों और सड़कों पर भी इसी तरह व्यवस्था करें।

 

योगी ने कहा कि तीर्थ स्थानों से पूरी दुनिया को संदेश जाता है, इसलिए वहां कि साफ-सफाई, पर्यटकों की मूलभूत सुविधाओं और सुरक्षा को प्राथमिकता पर रखें। तीर्थ स्थानों पर पॉलीथिन के बैन को प्रभावी तरीके से लागू करें। जो भी उत्पाद प्लास्टिक या पॉलीथिन में बिकते हैं उन पर प्रतिबंध लगाएं, साथ ही लोगों को पॉलीथिन, प्लास्टिक और थर्माकोल के खतरे के प्रति जागरूक करें।

COMMENT