--Advertisement--

UP में लॉन्च होगी 'वन डिस्ट्रिक-वन प्रोजेक्ट' योजना, उद्योग का विकास सरकार के एजेंडे में: सुरेश राणा

मेरठ: उन्होंने कहा, इस योजना के लागू होने से पीएम नरेंद्र मोदी का यूपी में स्वरोजगार विकसित करने का सपना साकार होगा।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 04:08 PM IST
चीनी मिल परिसर में निरीक्षण के दौरान मीडिया से बातचीत करते राज्य मंत्री सुरेश राणा। चीनी मिल परिसर में निरीक्षण के दौरान मीडिया से बातचीत करते राज्य मंत्री सुरेश राणा।

मेरठ. यूपी के गन्ना राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सुरेश राणा ने शन‍िवार को कहा, यूपी में जल्द ही 'वन डिस्ट्रिक-वन प्रोजेक्ट' योजना लॉन्च होगी। इस योजना के तहत हर जिले की पहचान माने जाने वाले उद्योग का विकास कराना राज्य सरकार के एजेंडे में है। इस योजना के लागू होने से पीएम नरेंद्र मोदी का यूपी में स्वरोजगार विकसित करने का सपना साकार होगा। ये बातें उन्होंने सर्क‍िट हाउस में मीड‍िया से बातचीत में कही। क्रांतिधरा में स्पोर्टस गुड्स उद्योग को लगेंगे पंख...


- राज्यमंत्री सुरेश राणा ने कहा, यूपी में हर जिले की पहचान उसमें होने वाले खास उत्पाद से होती है।
- क्रांतिधरा मेरठ स्पोर्टस गुड्स के लिए देश ही नहीं, बल्क‍ि विदेशों में भी अपनी पहचान बनाए हुए है। इस योजना के लागू होने से यहां के स्पोर्टस उद्योग में पंख लगेंगे।
- इसी तरह मुरादाबाद में पीतल उद्योग, शामली में रिमधुरा उद्योग, मुजफ्फरनगर में पेपर उद्योग, भदोही में कालीन उद्योग, वाराणसी में साड़ी उद्योग को भी नये आयाम हासिल होंगे।
- इन गुड्स उत्पादकों को बिजली, एक्सपोर्ट सहित अन्य सुविधाएं उपलब्द कराना राज्य सरकार के एजेंडे में है।

अपराधी हो रहे पुलिस की गोली का शिकार
- मंत्री सुरेश राणा ने कहा, पूर्व सरकारों के कार्यकाल में प्रदेश में खासकर वेस्ट यूपी में अपराधियों का आतंक रहा।
- रंगदारी वसूली की घटनाएं यहां आम थी। रंगदारी की वजह से लोग यहां से पलायन करने के लिए मजबूर हो रहे थे।
- बीजेपी को इस बार जनादेश मिला और आदित्यनाथ योगी सीएम बने। उन्होंने सत्ता संभालते ही सबसे पहले कानून व्यवस्था में सुधार पर फोकस किया।
- योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में राज्य सरकार के अब तक के 9 महीने के कार्यकाल में अपराधी पुलिस की गोलियों का शिकार हो रहे हैं।
- जनता को सुरक्षा का अहसास हो रहा है। कानून व्यवस्था को लेकर यूपी अब देश में अन्य राज्यों के लिए रोल मॉडल बन रहा है।

चीनी मिल का किया निरीक्षण
- इससे पूर्व राज्य गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने मोहिउददीनपुर चीनी मिल पहुंच कर चीनी मिल में चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया। इस दौरान डीएम समीर वर्मा, एसएसपी मंजिल सैनी भी मौजूद रही।
- इस चीनी मिल की पेराई क्षमता में वृद्धि की गई है। 6 जनवरी को सीएम आदित्यनाथ योगी चीनी मिल की क्षमता वृद्धि का लोकार्पण करने के लिए यहां पहुंच रहे हैं।
- एक सवाल के जवाब में सुरेश राणा ने दावा करते हुए कहा, राज्य में बीजेपी की सत्ता आने के बाद गन्ना किसानों को राहत मिली है।
- उन्होंने कहा, यहां 15 मेगावाट का बिजली उत्पादन प्लांट लगाया जाएगा, जिसमें तीन मेगावाट चीनी मिल में उपयोग होगी। शेष बिजली यहां के लोगों को मिलेगी, जिससे किसानों को लाभ होगा।
- पिछले पेराई सत्र का लगभग 25 हजार करोड़ रुपए बकाया भुगतान किसानों को हमारी सरकार ने कराया।
- मौजूदा पेराई सत्र में अभी तक साढ़े 6 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है। सभी चीनी मिलों को कहा गया है कि वह गन्ना खरीद के 14 दिन के अंदर किसान को पेमेंट करें।
- इस क्षेत्र में मोदीनगर और मलकपुर सहित अन्य कुछ चीनी मिलों पर पिछले पेराई सत्र का ज्यादा बकाया गन्ना भुगतान रहा।
- इन चीनी मिलों को जनवरी 2018 तक पिछला बकाया गन्ना भुगतान किसानों को कराने पर फोकस किया गया है।
- इस दौरान सर्किट हाउस में उनके साथ सांसद राजेन्द्र अग्रवाल, विधायक सत्यवीर त्यागी, भाजपा के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष अरूण वशिष्ठ, महानगर अध्यक्ष करूणेश नंदन गर्ग आदि मौजूद रहे।

चीनी मिल परिसर में निरीक्षण करते गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा, डीएम समीर वर्मा और एसएसपी मंजिल सैनी। चीनी मिल परिसर में निरीक्षण करते गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा, डीएम समीर वर्मा और एसएसपी मंजिल सैनी।
X
चीनी मिल परिसर में निरीक्षण के दौरान मीडिया से बातचीत करते राज्य मंत्री सुरेश राणा।चीनी मिल परिसर में निरीक्षण के दौरान मीडिया से बातचीत करते राज्य मंत्री सुरेश राणा।
चीनी मिल परिसर में निरीक्षण करते गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा, डीएम समीर वर्मा और एसएसपी मंजिल सैनी।चीनी मिल परिसर में निरीक्षण करते गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा, डीएम समीर वर्मा और एसएसपी मंजिल सैनी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..