--Advertisement--

इस मुस्ल‍िम छात्रा ने कृष्ण बन गाया था श्लोक, उलेमा ने किया ये कमेंट

भगवान कृष्ण का वेश धारण कर श्लोक पढ़ने वाली मुस्ल‍िम छात्रा से देवबंद उलेमा नाराज हैं।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 05:24 PM IST
deoband ulema reaction on muslim girl sing shlok

मेरठ. लखनऊ में आयोजित स्वराज के 101वीं जयन्ती कार्यक्रम में भगवान कृष्ण का वेश धारण कर श्लोक पढ़ने वाली मुस्ल‍िम छात्रा से देवबंद उलेमा नाराज हैं। कड़ा ऐतराज जताते हुए देवबंद उलेमा ने कहा है, इस्लाम इसकी इजाजत नहीं देता। बता दें, कार्यक्रम के दौरान इस छात्रा को सीएम योगी ने सम्मानित करते हुए इसके कामों की तारीफ की थी।

उलेमा ने जताया कड़ा ऐतराज...

- ऑनलाइन फतवा विभाग के चेयरमैन मुफ्ती अरशद फारुकी ने आलिया खान के इस तरह कार्यक्रम में भाग लेने पर कड़ी नाराजगी जताई है।

- उन्होंने कहा, ''किसी भी मुसलमान बच्ची या बच्चे के लिए किसी मजहब की ऐसी बातों या ऐसा रूप इख्तियार करना इस्लाम मुखालिफ है। ये शिर्क कहलाता है।
- इस्लाम में इसकी इजाजत नहीं है। अगर किसी तालिब इल्म (छात्रा) ने गीता के कुछ शब्द और श्लोक पढ़े, कृष्ण का रूप इख्तियार किया है और इसमें कहीं शिर्क जैसी बात है, तो इस्लाम इसकी इजाजत नहीं देता।
- किसी स्कूल के लिए भी यह ठीक नहीं है कि ऐसे ड्रामों या प्रोग्राम में मुसलमान बच्चों को शामिल किया जाए, जो उनके मजहब के खिलाफ हो।

कौन है श्लोक पढ़ने वाली छात्रा
- भगवत गीता के संस्कृत में श्लोक गाने वाली मुस्लिम छात्रा का नाम आलिया खान है। आलिया मेरठ के सेठ बीके माहेश्वरी इंटर कॉलेज में 9वीं क्लास की छात्रा है।
- इससे पहले आलिया संस्कृत श्लोक गायन प्रतियोगिता में ​जिले और मंडल में पहला स्थान प्राप्त कर चुकी है। उसके बाद उसका सिलेक्शन प्रदेश स्तरीय गायन प्रतियोगिता के लिए हुआ था।
- 29 दिसंबर को लखनऊ में यह प्रतियोगिता हुई, उसमें उसे दूसरा स्थान मिला। 30 दिसंबर को एक कार्यक्रम के दौरान सीएम आदित्यनाथ योगी ने आलिया को सम्मानित किया था। 25 हजार रुपए का नकद इनाम भी दिया था।

कलाकार के बारे में चुप क्यों रहते हैं उलेमा
- वहीं, देवबंद उलेमा के इस बयान को लेकर हिंदू धर्म के लोगों ने आपत्ति जताई है। अखिल भारत हिंदू महासभा के जिलाअध्यक्ष अभिषेक अग्रवाल का कहना है, एक मुस्लिम बच्ची अगर धार्मिक ग्रंथों का ज्ञान प्राप्त कर रही है, तो उस पर उलेमाओं को आपत्ति है।

- हमारे देश में कई बड़े मुस्लिम कलाकार हैं, वह हिंदू धर्म के भगवान का रोल अपने सीरियल और फिल्मों में करते हैं, उनके लिए तो ऐसे फतवे जारी नहीं होते।
- विहिप के प्रांत प्रवक्ता शीलेंद्र कुमार का कहना है, बच्चों को अच्छी ​शिक्षा प्राप्त करने से किसी को नहीं रोकना चाहिए। गीता के श्लोक पढ़ने से या कुरान पढ़ने से किसी का धर्म नहीं बदलता।
- ऐसे कई मुस्लिम शायर और लेखक हैं जिन्होंने गीता को पढ़ा और समझा। मुस्लिम लेखक ने ही गीता का संस्कृत में अनुवाद किया, तो क्या उनका धर्म बदल गया?

deoband ulema reaction on muslim girl sing shlok
deoband ulema reaction on muslim girl sing shlok
X
deoband ulema reaction on muslim girl sing shlok
deoband ulema reaction on muslim girl sing shlok
deoband ulema reaction on muslim girl sing shlok
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..