--Advertisement--

ये NRI पापा की याद में बनवा रहा है मंदिर, भूकंप आया तो 1000Yr बढ़ेगी Life

दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले एनआरआई अजय गुप्ता के पिता का नाम शिव कुमार गुप्ता था।

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 01:02 PM IST
दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले सहारनपुर के एनआरआई अजय गुप्ता पिता की याद में अक्षरधाम की तर्ज पर शि‍वधाम मंदिर बनवा रहा हैं। दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले सहारनपुर के एनआरआई अजय गुप्ता पिता की याद में अक्षरधाम की तर्ज पर शि‍वधाम मंदिर बनवा रहा हैं।

सहारनपुर. यूपी के सहारनपुर में पैदा हुए एनआरआई अजय गुप्ता ऐसे मंदिर का निर्माण करा रहे हैं, जिसका भूकंप भी कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा। अक्षरधाम की तर्ज पर सहारनपुर में यहां शिवधाम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। दावा है कि तकनीक के मामले में ये मंदिर दूसरों से अलग है। इसमें जो पिलर बनाए जा रहे हैं, वो भूकंप आने पर हिलेंगे नहीं बल्कि और अधिक मजबूत होंगे।

पिता की स्मृति में बनवाया जा रहा है शिव धाम
- दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले एनआरआई अजय गुप्ता के पिता का नाम शिव कुमार गुप्ता था। शिवकुमार गुप्ता सहारनपुर में बाबा लालदास के आश्रम में पूजा अर्चना के लिए आया करते थे।
- बताते हैं, उनकी इच्छा थी कि यहां एक ऐसे धार्मिक स्थल का निर्माण किया जाए जो लोगों की आस्था का केंद्र बन जाए।
- पिता की इसी इच्छा को पूरी करने के लिए एनआरआई अजय गुप्ता ने अपनी मां अंगूरी देवी के मार्गदर्शन में शिवधाम मंदिर का निर्माण कराना शुरू किया। निर्माण का कार्य ट्रस्ट के माध्मय से कराया जा रहा है।
- देशभर के संत बुलाकर 14 जुलाई 2014 में विधिवत पूर्जा अर्चना के बाद शिवधाम मंदिर की नींव रखी गई थी।

उत्तर भारत का खास मंदिर बनाने की तैयारी
- बताया गया, शिवधाम का मुख्य आकर्षण यहां बनने वाला शिव परिवार का मंदिर होगा। हनुमान मंदिर और नवग्रह मंदिर भी लोगों के आकर्षण का केंद्र होंगे।
- निर्माण कार्य की देखरेख में जुटे सचिव राजकुमार राजू के अनुसार शिवधाम में बच्चों को आकर्षित करने के लिए भी यहां संसाधन रहेंगे। संतों का समागम हो इसके लिए यहां एक बड़ा और भव्य हॉल का निर्माण कराया जा रहा है।
- राजकुमार राजू के मुताबिक, ये मंदिर उत्तर भारत के खास मंदिरों में शुमार हो इसीलिए इसके निर्माण पर खास ध्यान दिया जा रहा है। पंजाब और हरियाणा से हरिद्वार जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए ये शिवधाम सेंटर प्वाइंट का काम करेगा।

निर्माण में खास सामग्री का इस्तेमाल
- शिवधाम मंदिर के निर्माण में लोहे के स्थान पर कॉपर का प्रयोग किया जा रहा है। मंदिर का अधिकतर निर्माण कार्य पत्थरों से किया जा रहा है। जो राजस्थान से मंगाए जा रहे हैं।
- ट्रस्ट के सचिव राजकुमार राजू के अनुसार मंदिर का निर्माण कार्य करा रहे इंजीनियरों ने निर्माण कार्य की 1 हजार साल की गारंटी दी है। दावा किया गया है कि यदि इस दौरान यहां भूकंप आता है, तो मंदिर की मजबूती और दोगुना हो जाएगी।
- मंदिर का निर्माण कार्य 2020 तक पूरा होने की संभावना जताई गई है।