Hindi News »Uttar Pradesh »Meerut» Women Reactions On Triple Talaq Billl Paased From Loksabha

ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy

इंडिया में तीन तलाक को क्रिमिनल ऑफेंस के दायरे में लाने के लिए बिल गुरुवार को लोकसभा में पास हो गया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 29, 2017, 01:21 PM IST

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    मुरादाबाद.भारत में तीन तलाक को क्रिमिनल ऑफेंस के दायरे में लाने के लिए बिल गुरुवार को लोकसभा में पास हो गया। सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त में इसे गैरकानूनी करार दिया था और इस पर सरकार को 6 महीने के अंदर कानून बनाने को कहा था। इस पर रोक के लिए भारत में मुस्लिम महिलाओं को काफी लंबा इंतजार करना पड़ा। DainikBhaskar.com आपको इस कानून के लोकसभा में पास होने पर ट्रिपल तलाक पीड़िताओं के रिएक्शन बता रहा है।

    कितना सख्त है ट्रिपल तलाक कानून?

    -बिल के मुताबिक, एक बार में तीन तलाक या तलाक-ए-बिद्दत किसी भी तौर पर गैरकानूनी ही होगा। जिसमें बोलकर या इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस (यानी वॉट्सऐप, ईमेल, एसएमएस) के जरिये भी एक बार में तीन तलाक देना शामिल है।
    -ऑफिशियल्स के मुताबिक, हर्जाना और बच्चों की कस्टडी महिला को देने का प्रॉविजन इसलिए रखा गया है, ताकि महिला को घर छोड़ने के साथ ही कानूनी तौर पर सिक्युरिटी हासिल हो सके। इस मामले में आरोपी को जमानत भी नहीं मिल सकेगी।’
    -देश में पिछले एक साल से तीन तलाक के मुद्दे पर छिड़ी बहस और सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद सरकार ने इस बिल का मसौदा तैयार किया। सुप्रीम कोर्ट पहले ही तीन तलाक को बुनियादी हक के खिलाफ और गैरकानूनी बता चुका है।


    ट्रिपल तलाक देने पर सजा
    - बिल के मुताबिक, "जुबानी, लिखित या किसी इलेक्ट्रॉनिक तरीके से एकसाथ तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) देना गैरकानूनी और गैर जमानती होगा। तीन तलाक देने वाले पति को तीन साल की सजा के अलावा जुर्माना भी होगा। साथ ही इसमें महिला अपने नाबालिग बच्चों की कस्टडी और गुजारा भत्ते का दावा भी कर सकेगी।"

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    सोफिया अहमद ने बताया- ''12 जून 2015 को मेरी शादी सपा विधायक गजाला लारी (बहन) के भाई शारिक अराफात से हुई। शादी के बाद हम दोनों यूपी के कानपुर में रहने लगे। शारिक लेदर का बिजनेस करता है। शादी के 10वें दिन से पति का जुल्म शुरू हो गया। उसे शराब और लड़कियों की लत लग चुकी थी। रोजाना नई-नई लड़कियों से रिलेशन बनाना उसकी आदत बन चुकी थी। घरवालों के सामने वो मुझे मारता-पीटता था, लेकिन मेरे फेवर में कोई नहीं बोला। प्रेग्नेंसी के 6 महीने के दौरान भी पति बुरी तरह से उसे पीटता था। 13 अगस्त 2016 को 'मुझे रात तीन बजे एक महीने के बच्चे के साथ घर से बाहर फेंक दिया गया। वो दिन मैं कभी नहीं भूल सकती।''

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    मामला गाजियाबाद का है, जहां लोनी निवासी सलीम ने अपनी पत्नी उम्मेदा को सिर्फ इसलिए तलाक दे दिया क्योंकि उसने अपने मायके एक नमकीन का पैकेट भेज दिया था। पीड़िता के पिता के मुताबिक उनका दामाद बेटी को दहेज की मांग को लेकर प्रताड़ित करता था। वो आए दिन इस बात पर उसके साथ मारपीट करता था। घटना के दिन सलीम मार्केट से दो नमकीन के पैकेट लेकर आया था। उसमें से एक उम्मेदा अपनी मां के घर दे आई थी। इस पर वो आग बबूला हो गया और उसने पत्नी के साथ मारपीट शुरू कर दी। उसका कहना था कि वह उसकी मर्जी के खिलाफ नमकीन का पैकेट अपने मायके में क्यों देने पहुंची। उम्मेदा ने बताया कि बस इसी मामूली बात को लेकर सलीम ने उसे तीन बार तलाक कह कर घर से निकाल दिया।

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    आगरा के शहीद नगर की रहने वाली फैजा खान ने बताया, ''मेरी शादी 1997 में धूमधाम से लोहामंडी क्षेत्र के साजिद से हुई थी। मैंने एक बच्चे को जन्म दे दिया। साजिद आए दिन मुझसे मारपीट करता था और पैसों की मांग करता था। बर्दाश्त से बाहर होने पर मैं घर वापस आ गई और पति के खिलाफ केस दर्ज करा दिया। जब साजिद को जब लगा वो फंस जाएगा तो वह मेरे पास आ गया मना कर वापस साथ रहने को राजी कर लिया। फिर कुछ दिन बाद दोनों के माता-पिता की मौजूदगी में साजिद ने अचानक 5 हजार रुपए मेरे फेस पर फेंके और कहा- यह तेरी मेहर की रकम और मैं तुझे तलाक देता हूं।''

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    मुरादाबाद की रहने वाली राष्ट्रीय खिलाड़ी शुमायला को उसके शौहर ने लड़की पैदा होने पर तलाक दे दिया था।

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    पीड़िता सायरा ने बताया, "7 दिसंबर को 'मेरा हक फाउंडेशन' की ओर से केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नकवी के साथ मिलकर हमने पीएम मोदी के सपोर्ट में एक रैली निकाली थी। रैली में तीन तलाक पर सख्त से सख्त कानून बनाने की मांग की जा रही थी। रैली समाप्त होने के बाद जब मैं घर पहुंची तो पति दानिश खान को मेरा रैली में जाना नागवार गुजरा। उन्होंने मुझे पीटना शुरू कर दिया और फिर तीन तलाक देकर बेटे के साथ घर से बाहर निकाल दिया। इस दौरान मैं रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक दरवाजे पर बैठी रही। सुबह सूचना मिलने के बाद मायके वाले आ गए। फिर उन्होंने दानिश को समझाने की कोशिश की लेकिन वह नहीं माना।"

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    बरेली की रहने वाली इंशा खा को उसके पति अकरम ने तीन बार तलाक देकर घर से निकाल दिया था। मायके वालों ने उसे पनाह दी है। इंशा आज गमगीन जिंदगी गुजार रही है।

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    बरेली की तारा बी की बड़ी दर्द भरी कहानी है। पति विक्की ने उसे तीन बार तलाक कहने के बाद साथ रखने को दोबारा हलाला कराया। इसके बाद भी उसको चैन से नहीं रहने दिया। पति ने दोबारा तलाक दे दिया।

  • ट्रिपल तलाक: कोई बोला 3 नहीं 10 साल हो सजा, किसी ने कहा- I m Happy
    +8और स्लाइड देखें

    मामला ग्रेटर नोएडा के दादरी कोतवाली क्षेत्र का है। दहेज में 5 लाख रुपए ना मिलने पर आजाद नाम के युवक ने अपनी पत्नी को एसएमएस के जरिए तलाक दे दिया। तलाक का मैसेज लड़की के पिता के फोन पर भेजा गया। दोनों की एक महीने पहले 1 अप्रैल 2017 को शादी हुई थी। पीड़िता सलमा के मुताबिक, शादी के वक्त आजाद ने अपनी सरकारी नौकरी बताई थी। कुछ समय बाद उसे पता चला कि वो किसी प्राइवेट कंपनी में काम करता है। इसके बाद से सलमा के साथ मारपीट होने लगी। लड़के वालों ने सलमा को अपने पिता से पांच लाख रुपए लाने को कहा। सलमा के इनकार करने पर पति उसे दादरी स्टेशन छोड़ गया और 19 अप्रैल को पति ने तलाक का एसएमएस भेजा था, उसके पिता ने उसे 24 अप्रैल को देखा। मैसेज को जब मौलवी को दिखाया तो उसने कहा- यदि लड़के ने लिखा है तो तलाक हो गया।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Meerut

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×