मेरठ

--Advertisement--

फूट-फूटकर रोया ये BSF का जवान, बोला-न्याय नहीं म‍िला तो जान दे दूंगा

मेरठ. देश की सुरक्षा में तैनात रहने वाले जवान भी आजकल भूमाफियाओं और प्रशासन की सांठ-गांठ का शिकार बन रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 07:08 PM IST
पीड़‍ित फौजी बोला- तहसीलदार और एसडीएम की म‍िलीभगत से गांव के लोगों ने मेरा जमीन हड़प ल‍िया। पीड़‍ित फौजी बोला- तहसीलदार और एसडीएम की म‍िलीभगत से गांव के लोगों ने मेरा जमीन हड़प ल‍िया।

मेरठ. देश की सुरक्षा में तैनात रहने वाले जवान भी आजकल भूमाफियाओं और प्रशासन की सांठ-गांठ का शिकार बन रहे हैं। मामला मेरठ का है। आरोप है क‍ि यहां एक बीएसएफ के सूबेदार की जमीन पर कुछ लोगों ने सरकारी तंत्र से मिलीभगत कर कब्जा कर लिया है। अब पीड़ित अफसरों के ऑफ‍िस का चक्कर लगा रहा है। लाचार फौजी ने इंसाफ न मिलने पर आत्मदाह करने की चेतावनी दी है। आगे पढ़‍िए पूरा मामला...


-मामला मेरठ के इंचौली थानाक्षेत्र का है। यहां के रहने वाले जगवीर सिंह बॉर्डर स‍िक्युर‍िटी फोर्स (BSF) में नायब सूबेदार के पद पर तैनात हैं।

-जगवीर का आरोप है, ''गांव के ही कुछ लोगों ने तहसीलदार और एसडीएम से सांठ-गांठ कर जमीन का खसरा चेंज कर द‍िया। इसके बाद खेत में खड़ी मेरी गेहूं की सारी फसल ट्रैक्टर से उखड़वा द‍िया।''

-''अब मेरे पास कुछ नहीं बचा है। इसकी श‍िकायत मैंने तहसीलदार और संबंध‍ित एसडीएम से भी की, लेक‍िन कोई सुनवाई नहीं हुई। यहां तक क‍ि एसडीएम ने मुझे खदेड़ द‍िया। अब मेरे पास सुसाइड करने के अलावा कुछ नहीं बचा है।''

-''मैं पाक‍िस्तान बॉर्डर पर तैनात हूं। मैंने कारग‍िल का युद्ध भी लड़ा है। हमें एक न एक द‍िन शहीद ही होना है, इसल‍िए मैं यहीं शहीद हो जाऊंगा। अध‍िकारि‍यों ने र‍िश्वत लेकर ये सब काम क‍िया। मैं तो बॉर्डर पर रहता हूं, वहां तो स‍िर्फ गोली आती हैं, मैं इन लोगों को पैसे कहां से दूं।''

-मुझे नौकरी से जो पैसे म‍िलते हैं वो बच्चों और पर‍िवार पर ही खर्च हो जाते हैं। 10 लाख रुपए लोन लेकर मैंने जमीन खरीदा था। अब मेरे पास कुछ नहीं बचा है। मुझे न्याय चाह‍िए। जब मुझे सूचना म‍िली तो छुट्टी लेकर घर आया। यहां सब अध‍िकारी भ्रष्ट हैं। मुझे बर्बाद कर द‍िया।''

क्या कहते हैं पुल‍िस अध‍िकारी

-अपर नगर मज‍िस्ट्रेट अम‍िताभ भारद्वाज ने बताया, पीड़ित फौजी की शिकायत ले ली गई है और एसडीएम सरदना को भेज दी गई है। जो भी वैधानिक कार्रवाई होगी की जाएगी। आरोप तो कोई लगा सकता है। जांच-पड़ताल के बाद ही सही मामला सामने आएगा।

जवान बोला- अब मरने के स‍िवा मेरा पास कुछ नहीं है। जवान बोला- अब मरने के स‍िवा मेरा पास कुछ नहीं है।
जवान बोला- न्याय नहीं म‍िला तो शहीद हो जाऊंगा। जवान बोला- न्याय नहीं म‍िला तो शहीद हो जाऊंगा।
अपर नगर मज‍िस्ट्रेट ने पीड़‍ित फौजी को न्याय का आश्वासन द‍िया। अपर नगर मज‍िस्ट्रेट ने पीड़‍ित फौजी को न्याय का आश्वासन द‍िया।
X
पीड़‍ित फौजी बोला- तहसीलदार और एसडीएम की म‍िलीभगत से गांव के लोगों ने मेरा जमीन हड़प ल‍िया।पीड़‍ित फौजी बोला- तहसीलदार और एसडीएम की म‍िलीभगत से गांव के लोगों ने मेरा जमीन हड़प ल‍िया।
जवान बोला- अब मरने के स‍िवा मेरा पास कुछ नहीं है।जवान बोला- अब मरने के स‍िवा मेरा पास कुछ नहीं है।
जवान बोला- न्याय नहीं म‍िला तो शहीद हो जाऊंगा।जवान बोला- न्याय नहीं म‍िला तो शहीद हो जाऊंगा।
अपर नगर मज‍िस्ट्रेट ने पीड़‍ित फौजी को न्याय का आश्वासन द‍िया।अपर नगर मज‍िस्ट्रेट ने पीड़‍ित फौजी को न्याय का आश्वासन द‍िया।
Click to listen..