--Advertisement--

कभी ऐसी थी शमी और हसीन जहां की बॉन्डिंग, हर वक्त देते थे एकदूजे का साथ

शमी की वाइफ हसीन जहां ने उन पर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर रखने और डॉमेस्टिक वॉयलेंस के संगीन आरोप लगाए हैं।

Dainik Bhaskar

Mar 07, 2018, 10:45 AM IST
Mohd Shami bonding with wife during daughter illness

अमरोहा. क्रिकेटर मोहम्मद शमी की वाइफ हसीन जहां ने उन पर एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर रखने और डॉमेस्टिक वॉयलेंस के संगीन आरोप लगाए हैं। जहां ने अपने फेसबुक और व्हॉट्सएप अकाउंट पर शमी के चैट और फोटोज के प्रिंटशॉट शेयर किए। पिछले साल शमी ने बेटी का बर्थडे सेलिब्रेट किया था। तब सामने आई तस्वीरों में उनकी फैमिली काफी हैप्पी नजर आ रही थी।

बेटी की बीमारी के वक्त दिखी थी बॉन्डिंग

- जिले के सहसपुर गांव से ताल्लुक रखने वाले शमी किसान परिवार में पैदा हुए। इन्होंने जून 2014 में कोलकाता की मॉडल हसीन जहान से शादी की थी। वे 17 जुलाई 2015 को बेटी आयरा के पिता बने।
- 1 अक्टूबर 2016 को आयरा को तेज बुखार हुआ। बुखार की वजह से वो सांस तक नहीं ले पा रही थी। बच्ची की हालत देखकर कोलकाता के डॉक्टरों ने तुरंत उसे आईसीयू में एडमिट कर लिया था।
- तब मोहम्मद शमी कोलकाता के ही ईडन गार्डन में न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट मैच खेल रहे थे।
- बेटी की तबीयत खराब होने के बावजूद वे मैच खेले थे।

- बेटी की बीमारी के वक्त उनके और वाइफ हसीन जहां के बीच बेहतरीन बॉन्डिंग और अंडरस्टैंडिंग दिखी थी। वे दिन में मैदान में होते थे और रात में हॉस्पिटल, जिससे उनकी वाइफ भी थोड़ी देर रेस्ट कर सके।
- तीन दिन एडमिट रहने के बाद आयरा 3 अक्टूबर को घर लौटी थी।

वाइफ को किया था डिफेंड

- 23 दिसंबर 2016 को शमी ने वाइफ हसीन जहां के साथ ये फोटो शेयर की थी, जिसमें उन्होंने स्लीवलेस ड्रेस पहनी हुई थी। इसके बाद ये कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गए थे।
- तब शमी ने स्ट्रॉन्गली अपनी वाइफ की वेस्टर्न ड्रेस को डिफेंड किया था।

कभी टेंट में रातें गुजारता था ये क्रिकेटर

- शमी के पिता तौसिफ अली अपने जमाने में फास्ट बॉलर थे। हालांकि ज्यादा मौके नहीं मिलने की वजह से उनका सपना पूरा नहीं हो सका और उन्होंने ट्रैक्टर के स्पेयर पार्ट्स की दुकान खोल ली।

- शमी बचपन से ही क्रिकेट के शौकीन थे। उन्हें गांव में जहां जगह मिलती, वहीं वे गेंदबाजी करने लगते। कुछ समय में वो आसपास के गांवों में तेज बॉलर के तौर पर फेमस हो गए।
- बेटे की प्रतिभा को देखते हुए तौसिफ अली बेटे शमी को मुरादाबाद में बदरुद्दीन सिद्दीकी के पास ले आए, जो कि क्रिकेट की कोचिंग देते थे।
- बदरुद्दीन से कोचिंग लेने के बाद साल 2005 में करीब 16 साल की उम्र में क्रिकेटर बनने का सपना लेकर शमी कोलकाता पहुंच गए। जहां उन्होंने डलहौजी एथलेटिक्स क्लब से क्रिकेट खेलना शुरू किया।
- शुरुआती दिनों में उनके पास रहने का कोई ठिकाना नहीं था, कई बार उन्हें डलहौजी क्लब के अंदर लगे टेंट में रातें गुजारनी पड़ीं।
- हालांकि कुछ दिन बाद थोड़ा पैसा मिलने के बाद वे बाकी क्रिकेटर्स के साथ रूम शेयर करके रहने लगे। उस समय डलहौजी के लिए एक मैच खेलने पर उन्हें 500 रुपए मिलते थे।
- कुछ महीनों बाद शमी ने कोलकाता का नामी टाउन क्लब ज्वाइन कर लिया। जहां उन्हें सालाना 75000 रुपए का कॉन्ट्रेक्ट मिला। इसके अलावा उन्हें 100 रुपए प्रतिदिन खाने के भी मिलते थे। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

क्या है पूरा मामला

- शमी की वाइफ हसीन जहां ने मंगलवार को अपने फेसबुक अकाउंट पर कई फोटोज शेयर करते हुए शमी पर कई लड़कियों के साथ अवैध संबंध रखने का आरोप लगाया। शेयर्ड फोटोज शेयर में शमी और उन लड़कियों के बीच हुई वॉट्सएप चैट के स्क्रीनशॉट थे।
- हसीन जहां ने पाकिस्‍तान के कराची की एक कथित प्रॉस्‍टीट्यूट की तस्‍वीरें भी डालीं और उसके साथ शमी की चैट के स्‍क्रीनशॉट भी शेयर किए। इसमें से एक फेसबुक चैट करीब डेढ़ साल पुरानी (अक्‍टूबर 2016) की है। एक अन्‍य फोटो में शमी एक महिला के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। उसे भी शमी की 'गर्लफ्रेंड' बताया गया।
- हालांकि, अब हसीन जहां का वो फेसबुक अकाउंट डिलीट हो गया है। जिसमें ये सब पोस्ट की गई थीं।

Mohd Shami bonding with wife during daughter illness
Mohd Shami bonding with wife during daughter illness
X
Mohd Shami bonding with wife during daughter illness
Mohd Shami bonding with wife during daughter illness
Mohd Shami bonding with wife during daughter illness
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..