--Advertisement--

Pak से आया ये मासूम इस बीमारी से था परेशान, एक ट्वीट और हो गया इलाज

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तानी बच्चे को दिलाया मेडिकल वीजा।

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 11:40 AM IST
पाकिस्तान का 4 महीनें का रोहन दिल की गंभीर बीमारी से पीड़‍ित था। पाकिस्तान का 4 महीनें का रोहन दिल की गंभीर बीमारी से पीड़‍ित था।

नोएडा (यूपी). यहां जेपी हॉस्पिटल के पीडिएट्रिक कॉर्डियोलॉजी विभाग के डॉक्टरों की टीम ने पाकिस्तान से आए 4 महीने के बच्चे रोहन को नई जिंदगी दी है। रोहन दिल की घातक बीमारी हाइपोप्लास्टिक ले ट हार्ट सिंड्रोम से पीड़ित था। रोहन के मां-बाप को बच्चे के इलाज के लिए भारतीय मेडिकल वीजा नहीं मिल पा रहा था। पिता ने ट्वीट के जरिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अपील की। सुषमा ने रोहन के लिए तुरंत मेडिकल वीजा लगवाया और परिवार 24 घंटे के अंदर इलाज के लिए भारत पहुंच गया।

ये है पूरा मामला...

- 7 सितंबर 2017 को रोहन को जेपी अस्पताल लाया गया, जहां पीडिएट्रिक कार्डियोलोजी विभाग के डायरेक्टर डॉ. राजेश शर्मा की टीम ने 8 सितंबर 2017 को बच्चे की सर्जरी की। बेबी अब ठीक हो रहा है और छुट्टी के एक महीने बाद जनवरी के पहले सप्ताह में पाकिस्तान लौट जाएगा।
- डॉ. राजेश शर्मा ने कहा, ''रोहन एक दुर्लभ जन्मजात दिल की बीमारी से पीड़ित था। जब वह सिर्फ 5 दिन का था तभी उसमें हाइपोप्लास्टिक ले ट हार्ट सिंड्रोम का निदान किया गया। यह दिल की ऐसी बीमारी है जिसमें गर्भ के विकास के दौरान बच्चे के दिल में रक्त का सामान्य प्रवाह नहीं हो पाता।''
- ''रोहन का जीवन खतरे में था, क्योंकि उसके दिल का बायां हिस्सा विकसित नहीं हुआ था। जिसके चलते उसके फेफड़ों पर भी दबाव बन रहा था। शुरुआत से ही उसे सांस लेने में दिक्कत आ रही थी और उसका वजन भी नहीं बढ़ रहा था।''
- ''बच्चे को धीरे-धीरे वेंटीलेशन से हटाया गया, लेकिन वेंटीलेटर सपोर्ट हटाने से उसे सांस लेने में परेशानी होने लगी। इसके लिए टेकियोस्टोमी की गई, जिसे सर्जरी के 15 दिन बाद हटा लिया गया और रोहन को सामान्य वार्ड में भेज दिया गया।''
- ''ये बीमारी एक हजार बच्चों में एक को होता है। ऐसे मामलों में सलाह दी जाती है कि जल्द से जल्द बच्चे को सही इलाज मिले।''

रोहन के पि‍ता ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से ट्वीट कर मदद मांगी थी। रोहन के पि‍ता ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से ट्वीट कर मदद मांगी थी।